अमरूद के फायदे शायद हम में से सभी ने एक प्लेट में अमरूद के कटे हुए टुकड़ों पर चाट मसाला छिड़क के जरूर खाए होंगे। यदि नहीं खाए है तो आपको इस अनोखे स्वाद का लुफ्त लुफ्तलेना चाहिए। यह ना सिर्फ स्वादिष्ठ है बल्कि पौष्टिकता से भरपूर है। अगर आप अभी तक अमरूद की मादक सुगंध से भरपूर अमरूद का मुरब्बा खाने से वंचित रहे है तब तो आपको जरुर इसे आजमाना चाहिए।  यह ना सिर्फ स्वादिष्ठ है बल्कि पौष्टिकता से भरपूर है। अमरूद एक ऐसा फल है जो कई तरह की किस्मों में देखने को मिलता है।

हर तरह की किस्म के अलग फायदे और नुकसान है । अमरूद से कई तरह के पेय और खाद्य पदार्थ बनाए जाते है जिनका एक अलग स्वाद और aroma होती है । अमरूद से बने किसी भी खाद्य पदार्थ का स्वाद मीठा और तेज सुगंधित होता है। निःसंदेह यह एक ऐसा फल है जिसे हमारे पूर्वजों द्वारा सराहना प्राप्त है। अमरूद को अलग अलग जगहों पर अलग अलग नामों से पहचान मिली है।

भारतीय प्रांतों में ही अमरूद को अलग अलग नामों से जाना जाता है जैसे उत्तर प्रदेश में इसे स्पडी कह्ते है वही कहीं इसे जाम फल के नाम से भी जाना जाता है। अमरूद भीतर से कोमल होता है और इसके भीतर छोटे छोटे खाने योग्य बीज होते हैं। 

माना जाता है कि अमरूद की उत्पति मध्य अमेरिका में हुयी जहां इसे “sand plum” के नाम से जाना जाता था। sand plum अर्थार्त “रेतीला बेर” ।अमरूद ऊपर से हरे या पीले रंग के होते है जो गोल या अंडाकार होते हैं। अमरूद के बीज सख्त होते हैं लेकिन यह पूरी तरह खाने योग्य है क्योंकि यह अमरूद के भीतर होते हैं। अमरूद का गूदा सफेद, हल्का पीला या हल्का लाल या सुर्ख लाल रंग का होता है जिसे बीजों के साथ ही खाया जाता है। 

अपने खास अनूठे स्वाद और मंत्र मुग्ध कर देने वाली सुगंध के अलावा, अमरूद को कई तरह के स्वास्थ्य लाभों से जोड़ा जाता है जिसके कारण अमरूद को सुपर फलों में से एक माना जाता है।  दरअसल यह वास्तव में पोषक तत्वों का पावरहाउस है। 

अमरूद एक ऐसा फल है जिसमें विटामिन सी, लाइकोपीन और एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा भरपूर होती है। अमरूद में पाए जाने वाले सभी पोषक तत्व हमारे हमारे शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए उपयोगी है खासकर हमारी त्वचा के लिए अधिक फायदेमंद। 

अमरूद में Magnesium की मात्रा अधिक होती है जिससे हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन में जो अन्य प्रमुख पोषक तत्व होते है Manganese इन्हें पूर्ण रूप से अवशोषित करने में मदद करती है। वही अमरूद में foliate (एक प्रकार का खनिज) की मात्रा भी भरपूर होती है जो इसे एक ऐसा फल बनाता है जो आपकी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने का कार्य करता है।  अमरूद में पोटेशियम की प्रचुर मात्रा होती है जो आपके रक्त चाप को समान्य बनाए रखने के लिए उपयोगी है। 

देखा जाए तो एक केले में और अमरूद में पोटेशियम की मात्रा लगभग बराबर होती है। इसके पीछे का कारण है कि दोनों ही फलों में करीब 80% पानी होता है और इसी कारण यह आपको hydrated रखने में मदद करते है जिससे आपकी त्वचा ज़बां और खूबसूरत बनी रहती है। 

अमरूद में पाए जाने वाले पोषक तत्व – 

Benefits And Side-Effects Of Guava

अमरूद के फायदे फायदे अनेक है लेकिन पहले हम अमरूद में पाए जाने वाले पोषण मूल्यों की बात करते हैं। अमरूद के पोष्टिक गुणों की बहुतायत है। यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (USDA) के आंकड़ों के अनुसार, 100 ग्राम अमरूद में सिर्फ 68 कैलोरी और 8.92 ग्राम शुगर होती है। अमरूद कैल्शियम से भी भरपूर होते हैं क्योंकि इनमें प्रति 100 ग्राम फल में 18 ग्राम खनिज होता है।  इसमें प्रति 100 ग्राम फल में 22 ग्राम मैग्नीशियम, साथ ही फास्फोरस और पोटेशियम की महत्वपूर्ण मात्रा- 40 और 417 ग्राम प्रति 100 ग्राम, क्रमशः शामिल हैं।

यदि पोषकता के मामले में pineapple को फलों का राजा कहा जाता है तो अमरूद को फलों की रानी कहने में कोई परहेज नहीं किया जा सकता है। अमरूद को फल की रानी इसमे पाए जाने वाले पोषक तत्वों के कारण कहा जाता है। अमरूद के औषधीय गुण और क्षमता इसे बाकी फलों से भिन्न बनाते हैं। अमरूद को पहली बार 1847 में फ्लोरिडा में बाजार में बेचा गया था और 1948 और 1969 के बीच हवाई में अमरूद के 21 किसान पेश किए गए थे।

अमरूद के बारे में एक चीज ध्यान देने योग्य है अधिक गिरते हुए तापमान में अमरूद के पेड़ मर जाते हैं। इसलिए इन्हें मध्यम तापमान वाले क्षेत्रों में उगाया जाता है। 

अमरूद में 21% vitamin A पायी जाती है। विटामिन A आपकी त्वचा को स्वस्थ्य बनाए रखने के लिए उपयोगी है और यह त्वचा की सबसे ऊपरी परत को भी नुकसान पहुंचने से बचाती है। 

 इस फल में 20% फोलेट भी होता है जो गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा काम करता है और न्यूरल ट्यूब को होने वाले नुकसान से बचाता है।

 गुलाबी रंग के अमरूद में पाया जाने वाला लाइकोपीन त्वचा को पराबैंगनी किरणों (यूवी) से बचाने के लिए अच्छा होता है और प्रोस्टेट कैंसर से भी बचाता है।

 अमरूद में केले से अधिक पोटेशियम होता है और यह उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।

अमरूद के बारे में कुछ जानने योग्य तथ्य – 

अमरूद के फायदे और नुकसान

अमरूद का उपयोग ऐतिहासिक द्रष्टि से भी महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि अमरूद के औषधीय गुणों के कारण इसका उपयोग कई तरह की बीमारियों के उपचार के लिए उपयोग में लिया जाता रहा है जिसमें दस्त और रक्त छाप जैसी स्थिति को अमरूद खाने से स्थिर किया जा सकता है। यहां हमने अमरूद के बारे में कुछ जरूरी तथ्यों को बताया है। 

  • अमरूद के फूल सफेद रंग के होते हैं। 
  • अमरूद का पौधा लगाने के बाद करीब 3 से 8 साल बाद ही इसमे फल लगना चालू होते हैं। 
  • अमरूद साल में सिर्फ दो बार फल देता है। 
  • अमरूद के फल के बीच में 100 से 500 छोटे बीज़ होते हैं। हालांकि अमरूद की कुछ ऐसी किस्मों की भी पैदावार होती है जो बीज़ रहित होते हैं। 
  • अमरूद विटामिन का समृद्ध भंडार है, इसमे विटामिन C, vitamin  A और vitamin E भरपूर मात्रा में पाई जाती है। 
  • अमरूद को सुपर फ्रूट कहा जाता है क्योंकि कहा जाता है कि इसमें संतरे से चार गुना अधिक विटामिन सी और तीन गुना अधिक प्रोटीन और अनानास की तुलना में चार गुना अधिक फाइबर होता है।  ऐसा भी कहा जाता है कि इसमें केले से भी ज्यादा पोटैशियम होता है।
  • अमरूद का पेड़ तकरीबन 40 से 50 साल तक जिवित रह सकता है। 
  • अमरूद के पत्तों का उपयोग कपड़ा उद्योग में काले रंग के वर्णक के रूप में किया जाता है। 
  • अमरूद के सेवन से आप वजन घटाने जैसी प्रक्रिया को सुलभता से कर सकते हैं। 

अमरूद के प्रकार – 

अमरूद की अधिकतर किस्म लगभग एक जैसी ही होती है लेकिन उनमे से कुछ है जो ठंडे इलाक़ों में होती है और इनके पेड़ करीब 12 फुट लंबे होते हैं। बाकी अमरूद ऐसी किस्म जो गर्म इलाक़ों में होती है उनके पेड़ 20 फुट तक लंबे होते हैं। अमरूद के पेड़ की खास देखभाल सर्दियों के मौसम में की जानी चाहिए क्योंकि अक्सर सर्दियों के मौसम में ही इनके पेड़ खराब हो जाते हैं। लेकिन ऐसे सभी लोगों के लिए जो अपनी फिटनेस को लेकर चिंतित रहते है उनके लिए अमरूद सबसे बेहतर फल माना जा सकता है क्योंकि यह वजन कम करने के लिए उपयोगी है। यहां अमरूद की कुछ प्रख्यात किस्मों के बारे में बताया गया है। 

गुलाबी और लाल अमरूद (Pink and red Guavas) 

अमरूद की इस किस्म को रेगिस्तानी अमरूद भी कहा जाता है क्योंकि इनका रंग हल्का लाल या गुलाबी होता है। इनका स्वाद आमतौर पर अत्यंत मीठा होता है और इनकी खुशबु भी बेहद तेज होती है। इस तरह के अमरूद आपके आसपास के बाजारों में आसानी से उपलब्ध हो जाती है। अमरूद की इस किस्म को गुणवत्ता में सबसे अच्छा माना जाता है क्योंकि इनमे बीज़ कम होते है और इनका स्वाद अधिक मीठा होता है। 

सफेद और पीला अमरूद (White and yellow Guavas) 

इस नस्ल का स्वाद आम तौर पर अम्लीय और बिना सुगंध के हल्का होता है।  अंदर की परत पीली सफेद या पीली दिखाई देती है जबकि पकने पर त्वचा हरी दिखती है।  पकने पर यह किस्म गुलाबी रंग की भी हो सकती है।

 नोट: हालांकि अमरूद की कई अलग-अलग किस्में हैं, लेकिन इन सभी को स्वस्थ पोषक तत्वों का पावरहाउस कहा जाता है।

अमरूद खाने के फायदे – 

अमरूद की फलों की रानी कहा जाता है क्योंकि इसके कई स्वास्थ्य फायदे है। करीब 100 ग्राम अमरूद खाने से आप 68 कैलरी प्राप्त करते है और 8.92 ग्राम गुड शुगर प्राप्त होती है। अमरूद calcium से युक्त होते हैं इसीलिए यह आपकी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। 100 ग्राम अमरूद में तकरीबन 18 ग्राम calcium की मात्रा पायी जाती है। यह सब यह दिखाता है कि अमरूद एक औषधीय गुणों से भरपूर फल है और इसके सेवन से आप कई तरह की बीमारियों से ग्रस्त होने से बच सकते हैं। अमरूद से जुड़े अन्य फायदे इस प्रकार है – 

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए अमरूद के फायदे – 

अमरूद का सेवन आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने में मदद करता है। चुकीं अमरूद कई विटामिन से भरपूर है जिसमें से अमरूद में vitamin C की प्रचुर मात्रा होती जिसे विशेषज्ञों द्वारा ऐसी vitamin माना गया है जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए सबसे अहम है। अमरूद में संतरे से चार गुना अधिक विटामिन C पायी जाती है। विटामिन सी हमारे प्रतिरक्षा के स्तर को बढ़ावा देने में मदद करती है, जो कि आपके शरीर को आम संक्रमणों और रोगजनकों से लड़ने के लिए तैयार करती है।  साथ ही अधिक विटामिन सी का अधिक सेवन आपकी आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करती है।

ब्लड शुगर की नियंत्रित करने के लिए अमरूद के फायदे – 

ब्लड शुगर को कम करने के लिए भी अमरूद को एक उपयुक्त फल माना गया है। चुकीं अमरूद में पाए जाने वाले कुछ यौगिक जैसे कि फाइबर और ग्लाइसेमिक इंडेक्स अमरूद में इनकी उच्च सामग्री होती है जो मधुमेह (sugar) के विकास को रोकने में मदद करती है।  आप अन्य खाद्य पदार्थों के जीआई का पता लगाने और तदनुसार अपने आहार को संशोधित करने के लिए ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड चार्ट का उल्लेख कर सकते हैं। अमरूद में पाए जाने वाला फाइबर रक्त शर्करा के लेवल को स्पाइकिंग से नियंत्रित करता है, जबकि ग्लाइसेमिक इंडेक्स आपकी रक्त शर्करा को कम से कम करके बढ़ने से रोकता है।

कैंसर के लक्षणों को कम करने के लिए अमरूद के फायदे – 

कैंसर दुनिया की सबसे खतरनाक जानलेवा बीमारियों में से एक है। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि अमरूद में पाए जाने वाले कुछ यौगिक आपको कैंसर होने के खतरे से दूर करते है। अमरूद में जो लाइकोपीन, विटामिन सी, और अन्य प्रकार के पॉलीफेनोल्स एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं, जो आपके शरीर में किसी भी प्रकार के संक्रमण को बेअसर करने में मदद करते हैं। यही Antioxidants खास कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोककर आपको कैंसर होने के जोखिम से बचाने में मदद करते हैं। 

कब्ज की शिकायत दूर करने के लिए अमरूद के फायदे ( guava benefits in Hindi) 

अमरूद पाचक फाइबर से भरपूर होता है। अमरूद में फाइबर की मात्रा किसी भी अन्य फल की तुलना में सबसे अधिक dietary fiber होते हैं । यदि आप दिन में एक अमरूद का भी सेवन करते है तो अनुमानित रूप से आप  अमरूद के साथ 12 प्रतिशत फाइबर का सेवन आप कर लेते है। इतने फाइबर आपके पाचन तंत्र को बेहतर रखने के लिए उपयुक्त है। अमरूद कब्ज को पाचन तंत्र बेहतर बनाकर ही खत्म करने में मदद करता है । अमरूद के सेवन से आप ना सिर्फ कब्ज को दूर कर सकते है बल्कि यह स्वस्थ मल त्याग में भी मदद करता है। यह आपके पेट में कब्ज के जोखिम को कम करता है। अमरूद का सेवन पेट से संबंधित सभी विकारों को ठीक करने के लिए अत्याधिक फायदेमंद है। 

हृदय स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए अमरूद के फायदे – guava benefits in Hindi 

आज के इस प्रदुषित युग में लोगों के बीच हृदय रोग सबसे अधिक चिंता का विषय है। अमरूद आपको इस तरह की चिंता से निजात दिलाने में सक्षम है । दरअसल अमरूद सोडियम और पोटेशियम की प्रचुर मात्रा से भरपूर होता है। यह ऐसे लोगों के लिए बेहद फायदेमंद है जिन्हें हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है। उच्च रक्तचाप से पीड़ित रोगियों में अमरूद उच्च रक्तचाप को संतुलित और नियंत्रित करने में मदद करता है। विशेषज्ञों द्वारा किए गए कुछ शोधों से पता चला कि अमरूद कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है, bad cholesterol की बड़ती मात्रा हृदय रोगों के प्राथमिक कारणों में से एक है।  हालांकि, यह फल अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है और इसे खराब कोलेस्ट्रॉल से बदल देता है।

आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए अमरूद के फायदे – 

अमरूद के औषधीय गुण भिन्न है, आपको जानकर अचरज होगा कि अमरूद का सेवन आपकी आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए भी उपयोगी सिद्ध हो सकता है। अमरूद में vitamin A भरपूर मात्रा में पाई जाती है जो आपकी आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण vitamin मानी जाती है। अमरूद का सेवन ना सिर्फ आपकी आँखों की रोशनी को बढ़ाने का कार्य करेगा बल्कि आँखों से जुड़े अन्य रोग जैसे मोतियाबिन्द और macular degeneration जैसी घातक आँखों की बीमारियों से ग्रस्त होने से बचाता है। 

बड़ती उम्र के प्रभाव को कम करने के लिए अमरूद के फायदे – 

अमरूद भिन्न प्रकार की विटामिन से भरपूर है, शोधकर्ताओं ने पाया है कि अमरूद में पाए जाने वाले वाली vitamin A, vitamin C और Antioxidants जैसे कैरोटीन और लाइकोपीन से भरपूर होते हैं। अमरूद में पाए जाने वाले ye यौगिक त्वचा को झुर्रियों से बचाने में मदद करते हैं।  रोजाना एक अमरूद खाकर आप , बड़ती उम्र से होने वाली महीन रेखाओं को दूर रख सकते है!

तनाव को कम करने के लिए अमरूद के फायदे – 

दुनिया में तनाव हर इंसान की ऐसी बड़ी समस्या है जिससे छुटकारा पाने के लिए लोग जाने कितने ठठकरम करते है लेकिन फिर भी तनाव से मुक्त होना असंभव ही लगता है। ऐसे में अमरूद का सेवन आपको तनावमुक्त रहने में मदद कर सकता है क्योंकि अमरूद में Magnesium उच्च मात्रा में पाया जाता है। शोधकर्ताओं ने पाया कि Magnesium हमारी मांसपेशियों और Nerves को relax करता है और परिणामस्वरूप आप खुद को तनावमुक्त महसूस करने लगते हैं। अमरूद आपको तनाव से निपटने में मदद करता है और आपके पूरे शारीरिक सिस्टम को अच्छी ऊर्जा प्रदान करता है।

खांसी, सर्दी और जुकाम के लिए अमरूद के फायदे – 

अमरूद में फल में किसी भी आम फल से ज्यादा सबसे अधिक मात्रा में विटामिन-सी और आयरन की मात्रा होती  है, और यह दोनों यौगिक सर्दी और वायरल संक्रमण के खिलाफ निवारक साबित होते हैं।  

कच्चे और अपरिपक्व अमरूद का रस या अमरूद के पत्तों का काढ़ा खांसी और सर्दी से राहत दिलाने में बहुत मददगार सिद्ध होता है क्योंकि यह बलगम से छुटकारा पाने में मदद करता है और श्वसन पथ, गले और फेफड़ों को कीटाणुरहित करता है।

गोरी, निखरी और नर्म त्वचा के लिए अमरूद के फायदे – 

अमरूद आपके काले रंग को साफ़ चमकदार और गोरा करने के लिए बेहद प्रभावी है। हालांकि यह बात अधिक लोगों की जानकारी में नहीं है इसलिए लोगों में जागरुकता की कमी के कारण वे इसका उपयोग नहीं कर पाते। 

लेकिन सत्यता यही है कि अमरूद आपकी त्वचा को किसी भी भी केमिकल युक्त क्रीम से बेहतर और प्राकृतिक निखार दे सकता है। यह आपकी स्किन टोन को साफ करने में मदद करता है ।

दांतों के दर्द के लिए अमरूद के फायदे –

दातों के दर्द से निजात दिलाने में अमरूद के पत्तों का उपयोग किया जा सकता है। अमरूद में पाए जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेटरी एक्शन और जीवाणुरोधी यौगिकों में ऐसी क्षमता होती है जो संक्रमण से संक्रमण और कीटाणुओं को मारने में सक्षम  है। भारतीय घरों में अक्सर अमरूद के पेड़ लगाये जाते है और अगर आप घर पर अमरूद के पत्तों का सेवन करते है तो आपको  दांत दर्द को कम करने में मदद मिलेगी।  कहा जाता है कि अमरूद के पत्तों का रस सूजन वाले मसूड़ों और मुंह के छालों से भी राहत देता है। 

मस्तिष्क को तेज करने के लिए अमरूद के फायदे – 

अमरूद आपके दिमाग को तेज करने में मदद कर सकता है। भले ही ये बात आपको सुनने में अविश्वसनीय लग रही हो लेकिन यह पूरी तरह सत्य है। शोधकर्ताओं द्वारा किए गए शोधों में जिन यौगिक को बौद्धिक विकास के लिए महत्पूर्ण माना गया है बे अमरूद में पाए जाते हैं। 

अमरूद में पाए जाने वाली vitamin B3 और vitamin B6 जिन्हें niacin aur pyridoxine के नाम से भी जाना जाता है ये अमरूद में पाए जाते है। यह यौगिक हमारे दिमाग को तेज और सक्रिय करने के लिए जाने जाते हैं। 

गर्भावस्था में अमरूद खाना फायदेमंद – 

अमरूद में इतनी पौष्टिकता होती है कि यह फल महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान खाने के लिए उपयोगी माना जाता है। दरअसल अमरूद में folic acid और विटामिन B-9 होती है जो महिलाओ को गर्भावस्था के दौरान लाभान्वित करती है। चिकित्सकों मानते है कि अमरूद खाने में folic acid और vitamin b – 9 बच्चे के तंत्रिका तंत्र को बेहतर ढंग से विकसित करते है यही कारण है कि महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान अमरूद का सेवन लाभकारी माना जाता है। अमरूद ना सिर्फ शिशु के तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाने के लिए उपयोगी है बल्कि यह तंत्रिका संबंधी सभी प्रकार के विकारों से लड़ने में मदद करता है ।

मासिकधर्म (period) के लिए अमरूद खाने के फायदे – 

महिलाओं को मासिकधर्म के दौरान अलग अलग लक्षणों का अनुभव होता है अधिकतर महिलाये Periods के समय होने वाली असहनीय दर्द दर्दनाक ऐंठन का अनुभव करती है। शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक अध्ययन में यह पता लगाया गया कि अमरूद के पत्तों के अर्क का सेवन करके इस असहनीय पीढ़ा से बचा जा सकता है। अमरूद के पत्तों का अर्क आपको इस दर्द से काफी राहत प्रदान करा सकता है। किए अध्यन में अमरूद के पत्तों के अर्क (6 मिलीग्राम) का सेवन करने वाली 197 महिलाओं को शामिल किया गया और पाया गया कि यह दर्द को कम करने में बहुत मदद करता है और यह कई दर्द निवारक दवाओं से भी बेहतर काम करता है। 

अमरूद के पत्तों के फायदे – Benefits of guava leaves In Hindi 

अमरूद का फल ही नहीं बल्कि इसकी पत्तियाँ भी औषधीय गुणों से भरपूर है। अमरूद के पत्तों का उपयोग कई तरह की बीमारियों से निबटने के लिए किया जाता रहा है। भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में अमरूद के पत्तों का जिक्र कई बार हुआ है जिसमें तरह तरह की बीमारियों को नियंत्रित करने के लिए अमरूद के पत्तों का उपयोग बताया गया है। 

 सर्दी, ज़ुकाम, खांसी और बुखार आदि जैसी साधारण बीमारियों के लिए हम सभी लोग पश्चिमी चिकित्सा पर अधिक निर्भर करते हैं जो कहीं ना कहीं हमारे शरीर को एक अलग तरह का नुकसान पहुचाने का कार्य भी करते हैं। लेकिन, हमे ये नहीं भूलना चाहिए कि अमरूद के पत्ते बहुत स्वास्थ्यवर्धक होते हैं।  अमरूद का फल अगर सेहतमंद है तो इसके पत्ते सुपर हेल्दी माने जाते हैं । यहां अमरूद के पत्तों के कुछ फायदे बताए गए हैं जिन्हें आपको जानना जरूरी है।

  • त्वचा की सूजन और निखार के लिए अमरूद के पत्तों का उपयोग चमत्कारिक फायदे दिखाता है। 
  • दस्त में अमरूद के पत्तों का सेवन आराम दिलाता है। 
  • आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए भी अमरूद के पत्तों का उपयोग किया जा सकता है। 
  • ब्लड शुगर को कम करने में सहायक होता है। 
  • मुँहासे इत्यादि को सही करने के लिए भी अमरूद के पत्तों का उपयोग फायदेमंद है। 
  • वजन कम करने के लिए अमरूद के पत्तों का रस का सेवन करे। 
  • कैंसर से लड़ने में उपयोगी है। 

नोट: अमरूद के पत्तों को या तो गर्म पानी में उबालकर सेवन किया जा सकता है या उनका उपयोग करके चाय बनाई जा सकती है।  इनमें से कोई भी आपको कई तरह से फायदा पहुंचाएगा।

घने और स्वच्छ बालो के लिए अमरूद के पत्तों के फायदे – 

बालो का झड़ना या पतला होना एक अस्वस्थ Scalp की निशानी है। यदि आपके बाल झड़ना शुरू हो गए हैं तो जाहिर है कि आपके शरीर में किसी ना किसी प्रकार की पौष्टिकता की कमी है जिससे आपकी खोपड़ी अस्वस्थ है। अमरूद के पत्तों का उपयोग स्वस्थ्य बालो के विकास के लिए महत्पूर्ण है। 

अमरूद के पत्तों में Anti Inflammatory, Antibacterial और Antioxidants  गुण होते हैं जिस के कारण बालों के झड़ने को रोकने और आपकी खोपड़ी को स्वस्थ्य और बालो को मजबूत करने में मदद कर सकते हैं।  इसका उपयोग स्कैल्प संबंधी समस्याओं और डैंड्रफ में भी किया जा सकता है।

अमरूद के पत्तों में पाए जाने वाली विटामिन बी और सी आपके बालों के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। अमरूद इस तरह की कई विटामिंस का समृद्ध भंडार है जिनसे आपके बाल घने, मजबूत और स्वच्छ हो सकते हैं। 

यदि आपके घर के आगन में अमरूद का पेड़ है तो आप इसके पत्तों को फेंकने की जगह इनका सही उपयोग ले इन्हें इकट्टा करके पानी से धुलने के पश्चात पेस्ट तैयार करे और इसका उपयोग पूरे शरीर पर कर सकते हैं। यह आपके बालो को झड़ने से रोकेगा और आपके Scalp को स्वस्थ्य रखने में मदद करेगा। 

अमरूद के पत्ते की चाय के फायदे – 

यदि आप ग्रीन टी को सबसे स्वास्थ्यवर्धक चाय समझते है तो आपका यह सोचना थोड़ा सा ग़लत है क्युकी अमरूद के पत्तों से बनी चाय ग्रीन टी से भी ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक मानी जाती है। अमरूद के पत्तों की चाय का सेवन पेट से जुड़े विकारों को ठीक करने के लिए किया जाता है। यदि आप पेट में दर्द या पानी जेसा पतला मल इत्यादि समस्याओं को सही करने के लिए अमरूद के पत्तों की चाय काफी ज्यादा फायदेमंद साबित होती है। 

अमरूद के पत्तों की चाय बनाने के लिए – 

  • अमरूद के साफ ताजे पत्ते ले उन्हें ठीक तरह से धुले। 
  • एक बर्तन में पानी ले इसे थोड़ा गर्म होने दे। 
  • पानी में पत्तों को तकरीबन 20 मिनट तक उबालें। 
  • चाय को छान ले और ठंडा होने दे ।
  • बादमें इसे हल्का गुन गुना होने पर पीए। 
  • अमरूद के पत्तों की चाय सुबह खाली पेट लाभकारी होती है। 

THE VEDAS – Guava Green Tea | Stress Relief and Anti Diabetic tea | For Peaceful Sleep and Diabetes| 100% Natural Green Tea | Herbal Tea | Night Time Tea | Calming Tisane | Contains 25 Pyramid Shaped Tea Bags (Pack of 1) – BUY NOW

अमरूद के बारे में पूछे जाने सवाल – 

अमरूद के पत्तों  और फल औषधीय गुणों से युक्त है इनका सेवन आपको किसी भी तरह कि बीमारी से लड़ने में मदद करता है । हालांकि इनका सेवन अत्याधिक भी नहीं किया जाए तो और भी बेहतर है। अमरूद से जुड़े कुछ सवाल को अक्सर लोगों के जहन में आते हैं नीचे उत्तर सहित दिए गए हैं। 

सवाल – क्या डायबिटीज़ से पीड़ित लोगों के अमरूद खाने योग्य फल है? 

उत्तर –  आमतौर पर शुगर के मरीजों को डॉक्टर सेब खाने की सलाह देते हैं लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि मधुमेह रोगियों के लिए अमरूद नाश्ते के रूप में खाया जा सकता है। अमरूद खाने से उन्हें कब्ज में राहत मिलेगी और अधिक फाइबर होने के कारण पेट से संबंधित सभी विकारों से लड़ने में मदद मिलेगी। अमरूद का सेवन type 2 मधुमेह के खतरे को कम करने में सहायक होता है। 

इसमें विटामिन सी का उच्च स्तर होता है जो कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए सहायक हो सकता है।  फलों की रानी अमरूद का सेवन दिन में एक बार किया जा सकता है और इसे मधुमेह के रूप में अपने फिटनेस आहार में शामिल किया जा सकता है।

ALSO READ –

मखाने खाने के 12 फायदे – Makhana (Fox Nuts) Benefits In Hindi

एसिडिटी को कम करने के लिए 8 प्राकृतिक घरेलू उपाय – Acidity ko Kam Karne Ke Gharelu Upay

शहतूत के फायदे , उपयोग और नुकसान – Mulberries Benefits, Uses And Side-Effects In Hindi

चावल खाने के फायदे और नुकसान – Chawal Khane Ke Fayde Aur Nuksan

आलू के फायदे और नुकसान – Aalu Ke Fayde Aur Nuksaan – Health Benefits Of Potatoes In Hindi

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.