दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक | DUNIYA KI SABSE SHAKTISHALI PRACHIN MAHILA SHASAKक्या आप सोच सकते है कि बिना सरकार के दुनिया चलायी जा सकती है? और यदि यह सरकारे ना हो तो जरूरी फैसले कैसे किए जाएंगे? शायद यह दोनों सवाल आपको एक शासक की और शासन की आवश्यकता को समझा सकते हैं। (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक) 

यह भी पढ़े :भारत की 15 सबसे सुंदर महिला पत्रकार | TOP 15 HOT INDIAN JOURNALIST

किसी देश की संपन्नता उसके शासकों से या जो राजा उस जगह पहले राज कर चुके है उनपर निर्भर करती है। 19 वीं शताब्दी के आते आते दुनिया में हर जगह पुरुष शासकों का राज था परंतु वही पर क्लियोपेट्रा and Sobekneferu जैसी महिला शासक भी थी जिन्होंने दुनिया में अपने शासन से छाप छोड़ी है। (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

ALSO READ : दुनिया की 10 सबसे पुरानी कंपनियां | DUNIYA KI SABSE PURANI COMPANY

हालाँकि प्राचीन दुनिया में ज्यादातर शासक पुरुष ही हुआ करते थे, परंतु कुछ महिलाओं के पास भी अनंत शक्ति और प्रभाव था।  इन महिलाओं ने अपने खुद के नाम पर शासन किया, और कुछ ने अपने समाज को शाही पत्नियों के रूप में भी प्रभावित किया।  

प्राचीन दुनिया की सबसे शक्तिशाली महिला शासक  चीन, मिस्र और ग्रीस सहित दुनिया भर के देशों से आई थीं। दुनिया की 10 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक :

यह भी पढ़े :भारत के 15 गुमनाम स्वतंत्रता सेनानी | UNKNOWN FREEDOM FIGHTERS OF INDIA

1. क्लियोपेट्रा – मिस्र की रानी 

दुनिया की सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक

आकर्षक मादक और कामुक शरीर वाली रानी क्लियोपेट्रा अपनी सुंदरता और बुद्धि के लिए जानी जाने वाली क्लियोपेट्रा टॉलेमिक राजवंश मिस्र की अंतिम शासक थीं।  उसे कई भाषाओं का ग्यान था , और वह टॉलेमी XII औलेटेस और क्लियोपेट्रा VI ट्रिफेना की बेटी थी।  (दुनिया की 10 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :दुनिया की 10 सबसे पुरानी कलाएँ | TOP 10 OLDEST ARTS IN THE WORLD

क्लियोपेट्रा ने अपने पिता की मृत्यु के बाद अपने दो भाइयों के साथ संयुक्त रूप से गद्दी संभाली।  जूलियस सीज़र और मार्क एंटनी के साथ उनका रिश्ता था, जिनसे उन्होंने अंततः शादी की।  क्लियोपेट्रा के भाई और सह-शासक टॉलेमी XIV की मृत्यु के बाद, उसने अपने बेटे के लिए रीजेंट के रूप में शासन किया। (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :10 गरीबी के लक्षण और आदतें जो बताते है, कि व्यक्ति की परवरिश गरीबी से हुयी है।

2. सोबेकनेफेरु

दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक

मिस्र की मध्य साम्राज्य की शासक सोबेकनेफेरू उस समय की एक सफल शासक थी ।  वह मिस्र की पहली महिला फिरौन और अमेनेमहट lll  की वंशज थीं।  सोबेकनेफेरु की कई, मूर्तियाँ और पुतले बनाए गए थे, और यह अनुमान लगाया जाता है कि वह या तो सेखेमरे खुतावी सोबेखोटेप या खुतावायर वेगाफ द्वारा सफल हुई थी।  महिला फिरौन से असहमत लोगों को खुश करने के लिए उसने अपने नाम पर मर्दाना उपाधियाँ जोड़ दीं।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :भारत की सबसे अजीबो-गरीब चीजें जो सिर्फ भारत में ही हो सकती है। Top 20

3. Neferneferuaten Nefertiti

सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक

IMAGE CREDIT :ACIENTHISTORY.LIST

 1370 ईसा पूर्व नेफ़र्टिटी का जन्म थेब्स में हुआ था।  रानी का शरीर सुंदर और कामुकता से सराबोर और वह आकर्षक और प्रभावशाली थी, और शक्तिशाली फिरौन अखेनातेन की पत्नी थी। 

रानी सूर्य की पूजा करती थी इसलिए वह खासकर इसी लिए के लिए जानी जाती थी।  यह नेफ़र्टिटी थी जिसने अपने पति की विचारधाराओं को प्रभावित किया और उनकी धार्मिक मान्यताओं को बदल दिया।  नेफ़र्टिटी की एक मूर्ति बर्लिन के मिस्र के संग्रहालय में देखी जा सकती है।

यह भी पढ़े :समुद्र के 10 रहस्य | समुद्र के अनसुलझे और हैरतअंगेज रहस्य | 2021

4. थियोडोरा

थियोडोरा रोमन साम्राज्य की एक महान रानी थी।  नीका दंगों के दौरान रानी के भाषण ने ब्लूज़ और ग्रीन्स के बीच राजनीतिक असहमति को हल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और इसके बाद उनके अंदर के  नेता ने  उनके महान कौशल का प्रदर्शन किया।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

 ब्लू और ग्रीन उस समय  सक्षम थे और दोनों आपस में आक्रमक तरह से टकरा कर , उस समय सार्वजनिक संपत्ति को नष्ट कर रहे थे। रानी के एक भाषण ने सब सही कर दिया। रानी ने दोनों पक्षों को सुलह करने के लिए मना लिया और उसके शक्तिशाली भाषण के बाद हिंसा बंद हो गई।  नीका दंगों के बाद, थियोडोरा ने कॉन्स्टेंटिनोपल  शहर को फिर से बनाने का आदेश दिया।

थियोडोरा ने महिलाओं के अधिकारों की खूब रक्षा की और महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई नए कानून बनाने में सफल हुयी। उनकी कोशिश से समाज में महिलाओं की पहचान बढ़ाने के लिए कई बदलाव लाए गए । हालांकि उनके पति जस्टिनियन के विचार धार्मिकता के आधर पर अलग  थे। जस्टिनियन ने चाल्सेडोनियन ईसाई धर्म को बढ़ावा दिया जबकि थियोडोरा ने मिफिसाइट मठ का समर्थन किया। (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

548 में कॉन्स्टेंटिनोपल में एक अल्सर या ट्यूमर से थियोडोरा की मृत्यु हो गई। जस्टिनियन उसके मरने के बाद भी रानी के प्रति बहुत वफादार था, और उसने अपने राज्य के मोनोफिसाइट्स और चाल्सेडोनियन विषयों को एकीकृत करने के लिए कड़ी मेहनत की।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :वैज्ञानिकों के अनुसार पृथ्वी का नाम पृथ्वी किसने रखा ? | 2021

5. हत्शेपसट

हत्शेपसट  मिस्र की फिरौन (रानी) और थुटमोस प्रथम की बेटी थी। रानी ने अपने दत्तक पुत्र थुटमोस III के साथ सह-शासन किया। उसने मिस्र की एक महिला शासक  होने के नाते सबसे लंबी अवधि तक शासन किया।उन्होंने करीब दो दशकों तक गद्दी संभाली, जो कि  सबसे लंबा शासन है।  (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

मिस्र साम्राज्य ने दूसरी मध्यवर्ती अवधि के दौरान एक बड़ी उथल-पुथल देखी थी जिससे मिस्र का काफी नुकसान हुआ। बाद में रानी हत्शेपसट ने प्रमुख व्यापार मार्गों का पुनर्निर्माण किया जो इस अवधि के दौरान तबाह हो गए थे।  

यह भी पढ़े :दुनिया के 10 सबसे गर्म स्थान | इन जगहों पर रहता है, पृथ्वी का सबसे ज्यादा तापमान | 2021

अब मिस्र एक बार फिर से तरक्की की राह पर आ गया और मिस्र ने फिर से व्यापार करना शुरू किया यहां से हाथीदांत, सोना, और रेजिन, अन्य सामग्रियों के साथ, अपने व्यापारिक भागीदार, पंट की भूमि के साथ आदान-प्रदान किया।  (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

रानी के शासनकाल के दौरान कई कलाकृतियाँ, स्मारक, पवित्र मंदिर और मोनोलिथ बनाए गए थे। उसने पूरे प्राचीन मिस्र में विभिन्न परियोजनाओं के निर्माण की पहल की और देश के बुनियादी ढांचे में सुधार किया।  

हत्शेपसट सुंदर होने के साथ साथ महत्वाकांक्षी और एक, प्रतिभाशाली और बुद्धिमान शासक थी। हालांकि उनकी म्रत्यु 1458 ईसा पूर्व में 50 वर्ष की आयु हो गई।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :वैज्ञानिकों द्वारा किए गए दुनिया के सबसे महंगे प्रयोग | DUNIYA KE 10 SABSE MEHNGE EXPERIMENTS

6. मेरनीथ

मर्नेथ मिस्र की एक महान विद्वान और नेक शासक थी।  उनका मकबरा मिस्र के पुराने शहर अबीडोस में आज भी स्थित है जहां पर्यटक आते जाते रहते हैं ।  रानी को उनके पूर्ववर्ती जेट (जिसे उडजी, वाडग  या डी जेट के नाम से भी जाना जाता है) के बगल में दफनाया गया था । (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े : TOP 20 | दुनिया के सबसे जहरीले जानवर | DUNIYA KE SABSE JEHRILE JANWAR

रानी के पिता फिरौन जेर, के मकबरे में पाई गई वस्तुओं पर कई तरह की जानकारी उकेरी गयी थी वही से सारी जानकारी स्पस्ट होती है कि पहले राजवंश के राजाओं की सूची में मर्नेथ ही एकमात्र महिला शासक थी।  रानी  ने अपने शासनकाल के दौरान प्रमुख राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक परिवर्तन किए।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

उस समय मानव बलि काफी ज्यादा प्रचलित थी और सेवकों ने अपने शासकों की सेवा करने के लिए अक्सर अपने जीवन का बलिदान दिया था ।  रानी की मृत्यु के बाद उसकी सेवा करने के लिए लगभग 120 नौकरों ने यह मानव बलि दी। (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :दुनिया का सबसे उपयोगी पेड़ | MOST USEFUL TREE IN THE WORLD

7. महारानी वू ज़ेटियन

महारानी वू ज़ेटियन चीन की एक शक्तिशाली और प्रभावशाली व्यक्तित्व वाली रानी थीं, और उन्हें चीन की पहली वास्तविक रानी माना जाता है।  रानी को कई मानद उपाधियों जैसे लेडी, एम्प्रेस कंसोर्ट, एम्प्रेस डोवेगर और एम्प्रेस रेग्नेंट से सम्मानित किया गया था।

 महारानी वू ज़ेटियन का जन्म वेंशुई में वर्ष 624 में हुआ था। रानी ने अपने शासनकाल  में कई धार्मिक और शैक्षिक सुधारों के लिए बड़े पैमाने पर बदलाव किए ।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

उन्होंने सरकारी उपाधियों के आवंटन के लिए सबसे पहले परीक्षा प्रणाली की शुरुआत की, बौद्ध धर्म पर उपदेश दिया और लोगों के बीच बौद्ध विचारधारा के प्रसार की वकालत की।

यह भी पढ़े :भारत के 10 सबसे शक्तिशाली राजा | BHARAT KE 10 SABSE SHAKTISHALI RAJA | TOP 10 Most powerful king’s of INDIA

8. कीव की ओल्गा

रूस के पस्कोव में जन्मी कीव की ओल्गा शायद दुनिया की सबसे उग्र और साहसी महिला रूसी शासक थी।  रानी राष्ट्र में शक्ति की प्रतिमूर्ति थीं मानी जाती थी और पूरे देश में उनका सम्मान किया जाता था।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

रानी ने लगभग 902 या 903 में कीव के इगोर से शादी की, और बाद में यूक्रेन के इस्कोरोस्टेन में उसके पति की हत्या कर दी गई जिसके बाद रानी ने गद्दी संभाली क्योंकि रानी उनके बेटे की संरक्षक थी जो उस समय नाबालिग था ।  

यह भी पढ़े :

वह ईसाई धर्म अपनाने और उसका समर्थन करने वाली रूस की पहली महिला शासक में से एक थीं।  उन्होंने कई चर्चों और धार्मिक स्मारकों का उद्घाटन और निर्माण किया और एक इंजीलवादी भी थीं जिन्होंने लोगों को उपदेश दिया और उन्हें ईसाई धर्म को अपने विश्वास के रूप में लेने के लिए मनाने की कोशिश की।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

रानी ने ड्रेवलियन समुदाय से जमकर प्रतिशोध लिया जिसने उसके पति की हत्या कर दी  थी और अपने सिंहासन की जमकर रक्षा की।

यह भी पढ़े :नोटों पर गाँधी जी की फोटो क्यूँ छापी जाती है? | Note par Gandhi ji ki photo kyu chapi jati hai? (Top 10 regions)

9. एक्विटाइन की एलेनोर

सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक

IMAGE CREDIT :ACIENTHISTORY.LIST

रानी एलेनोर एक्विटाइन के ड्यूक विलियम एक्स की सबसे बड़ी पुत्री थी।  उन्होंने 1137 में फ्रांसीसी सम्राट लुई VII और 1152 में इंग्लैंड के हेनरी द्वितीय से शादी की थी ।

वह एक महान व्यक्तित्व वाली शांत और स्थिर स्वभाव की व्यक्ति थीं और लगभग सात दशकों तक सिंहासन पर रहीं।  हालांकि वह सैन्य अभियानों में प्रवेश करने से कतई नहीं कतराती थी,  उस समय इस तरह का काम करना महिला शासकों के लिए काफी ज्यादा असामान्य था। (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

रानी ने कलाकारों, कवियों और संगीतकारों को एक मंच दिया, जो उनके शासनकाल में बहुत फले-फूले।  रानी बेहद सुन्दर और ईमानदार और एक महान नेता थीं। रानी का व्यक्तित्व इतना खास था कि वह अपने दौर की महिलाओं के लिए एक प्रेरणा थी ।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :भारतीय इतिहास की 10 सबसे शक्तिशाली रानियाँ। bhartiya itihas ki 10 SABSE SHAKTISHALI RANIYA

10. टोमिरिस – मस्सागेटाई की रानी 

जहा बात बहादुरी और दिलेरी की आए वहां दुनिया रानी टोमिरिस (fl. c. 530 B.C.) को नहीं भूला सकती। अपने पति की मृत्यु के बाद वह मस्सागेटे की रानी बन गई।  मस्सागेटे  राज्य मध्य एशिया में कैस्पियन सागर के पूर्व में स्थित है।

 जैसा कि हेरोडोटस और अन्य शास्त्रीय लेखकों द्वारा वर्णित है।  यह वह क्षेत्र था जहां पुरातत्वविदों को एक प्राचीन अमेज़ॅन समाज के अवशेष मिले हैं।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :दुनिया का सबसे पुराना शहर | TOP 15 OLDEST CITY IN THE WORLD (updated 2021)

रानी के पति मर जाने के बाद फारस का राजा Cyrus रानी का राज हड़पना चाहता था और रानी से शादी करने की पेशकश कर रहा था। महान रानी ने उसका यह प्रस्ताव ठुकरा कर युद्ध का रास्ता चुना और युद्ध हुआ। (दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

एक अज्ञात नशीले पदार्थ का उपयोग करते हुए, साइरस ने अपने बेटे के नेतृत्व में टोमिरिस की सेना के उस हिस्से को बरगलाया, जिसे Cyrus ने कैदी बना लिया था ।  

इस घटना के बाद रानी टोमिरिस की सेना ने फारसियों के विरुद्ध मोर्चा खोल लिया, उन्होंने Cyrus को बुरी तरह पराजित किया, और राजा Cyrus को मार डाला।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

“कहा जाता है कि रानी  टोमिरिस ने साइरस का सिर पीने के बर्तन के रूप में इस्तेमाल किया” 

यह भी पढ़े :मानव इतिहास में दुनिया के सबसे खतरनाक युद्ध | DUNIYA KE 12 SABSE KHATARNAK YUDH

11. Arsinoe II – प्राचीन थ्रेस और मिस्र की रानी

मिस्र में टॉलेमिक राजवंश के संस्थापक बेरेनिस और टॉलेमी I की पुत्री अर्सिनो ll थ्रेस और मिस्र की रानी बनी उनका  जन्म  316  ई.पू में हुआ। .Arsinoe के पति थ्रेस के राजा Lysimachus थे, जिनसे उन्होंने लगभग 300 में शादी की, और उनके भाई, राजा टॉलेमी II फिलाडेल्फ़स, जिनसे उन्होंने लगभग 277 में शादी की।

 थ्रेसियन रानी के रूप में, Arsinoe ने अपने बेटे को वारिस बनाने की साजिश रची।(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

इससे युद्ध हुआ और इस युद्ध में उसके पति की मृत्यु हो गई।  टॉलेमी की रानी के रूप में, अर्सिनो भी शक्तिशाली थी और संभवत: वह अपने जीवनकाल में ही देवताओं की तरह पूजी जाती  थी।  रानी की मृत्यु जुलाई 270 ई.पू. में हुयी ।

(दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक)

यह भी पढ़े :दुनिया के 10 सबसे खतरनाक और क्रूर तानाशाह | TOP 10

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.