दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर) | TOP 15 BEST Teachers In The world दुनिया का एक बहुत ही पुरानी और मशहूर कहावत है कि “शिक्षा देना एक ऐसा महान कार्य है जिसके ऊपर  दुनिया के बाकी सभी कार्य टीके हुए हैं” 

और यह बात प्रमाणित रूप से बिल्कुल सटीक ही है। गुरु के बिना ज्ञान असंभव है। दुनिया का हर व्यक्ति जो कामयाब है उसके पीछे उसके गुरु का ही मूल महत्व होता है। समझदार लोग इस बात को भली भांति समझते भी है और अपने गुरु का आशीर्वाद के भोगी भी बनते है। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

ALSO READ –दुनिया की 10 सबसे खतरनाक जानलेवा बीमारियाँ | SABSE KHATARNAK BIMARIYAN | 2021

सोचिए अगर दुनिया में अध्यापक, शिक्षक या टीचर नहीं होते तो क्या होता? आप कल्पना कर ले शायद इस बात का अंदाजा लगा पाए परंतु सत्य तो यह है कि बिना टीचर के शिक्षक के ना तो कोई डॉक्टर बन पाता ना ही इंजीनियर कुल मिलाकर यह समझने योग्य बात है कि बिना टीचर के दुनिया का कोई भी कार्य सम्भव ही नहीं है।

दुनिया के सारे  पद रिक्त ही होते क्युकी ना कोई डॉक्टर होता ना कोई राजनीतिज्ञ, ड्राइवर, राइटर, गायक, कलाकार आदि कुछ भी नहीं होता। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

 जब भी हम बात करते है कि कोई शिक्षक अपने शिष्यों को कैसे सिखाता है तो इसके लिए कोई उचित जबाब देना निश्चित ही नहीं होगा क्युकि एक गुरु अपने शिष्यों को सिखाने के लिए हर संभव और असंभव काम करता है।

 तो आज आपको बताएँगे दुनिया के सबसे अच्छे और महान शिक्षकों के बारे में जिन्होंने दुनिया में सबसे महान टीचर होने का खिताब और उपलब्धी हासिल की है।

इतिहास से लेके आज की तारिख 2021 तक के दुनिया के सबसे बड़े और महान शिक्षकों की सूची  में सिर्फ़ ऐसे ही टीचर्स को शामिल किया है जो ग्लोबल टीचर्स  की सूची में शामिल किए गए है। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

ALSO READ – ये है, 2021 में दुनिया की सबसे आधुनिक तकनीकें | TOP 10 NEW TECHNOLOGIES IN 2021

दुनिया की कितनी भी बड़ी संस्थान या यूनिवर्सिटी या स्कूल हो, बिना अच्छे शिक्षक के सब व्यर्थ ही होगा यदि जीवन में एक अच्छा शिक्षक मिल जाए तो जिन्दगी बड़ी आसान हो जाती है। 

एक शिक्षक को क्या अच्छा बनाता  है?

एक टीचर सिर्फ एक शिक्षक ही नहीं होता जो पाठ या स्कूल में पढ़ाता हो बल्कि एक टीचर आपको जिंदगी के असली नियम और नैतिकताओं का पाठ और सही गलत की पहचान करना भी सिखाता है।

वह आपके जीवन में अपनी सलाह देकर सब कुछ सही रास्ते पर ला देता है कई बार आप अपने लक्ष्य को भूलते है पर एक शिक्षक की मौजूदगी आपको हमेशा आपके लक्ष्य के प्रति अग्रसर और एकाग्र करती है। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

जरूरत पड़ने पर वह आपका मित्र और आपका सलाहकार बनाता है शिक्षक का प्रयास सदा से ही अपने शिष्यों के लिए अमूल्य रहे है। वह एक पत्थर को हीरे की सकल देने का हुनर जानते है और बेशक वो किसी कोयले को भी हीरे बनाने की काबिलियत रखते है। 

इसीलिए आज हमारा यह लेख दुनिया के उन्हीं महान शिक्षकों को समर्पित है जिन्होंने दुनिया के अंदर टीचरों को एक नयी दिशा और गर्व दिया। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

यह टीचर्स कुछ ऐसे टीचर है जो दुनिया के हजारों शिक्षकों से अलग है इन्होने शिक्षा को पैसे कमाने का साधन नहीं समझा बल्कि अपने विद्यार्थियों को और दुनिया को एक अलग नजरिए से देखने का मौका दिया है। 

दुनिया के सबसे अच्छे शिक्षक इस प्रकार है :

दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर)

Sl Noशिक्षकों के नाम 
1चाणक्य 
2कन्फ्यूशियस 
3ऐनी सुलिवान 
4जीन पिअगेट
5मारिया मोंटेसरी
6अल्बर्ट आइंस्टीन
7रविंद्रनाथ टैगोर
8डॉ। सर्वपल्ली राधाकृष्णन
9सावित्रीबाई फुले
10स्वामी विवेकानंद
11विवियन पाले
12अब्दुल कलाम
13एरिन ग्रुवेल
14एंड्रिया ज़ाफ़िरकौ
15पीटर तबीची

1.चाणक्य (chanakya) 

चाणक्य, जिन्हें विष्णु गुप्त या कौटिल्य के नाम से भी जाना जाता है, प्राचीन तक्षशिला विश्वविद्यालय में राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र के प्रोफेसर थे।

 उनकी पुस्तक “अर्थशास्त्र” अर्थशास्त्र और राजनीति की शुरुआती पुस्तकों में से एक है।  उनकी किताबों में वर्णित “शास्त्र” इस ​​आधुनिक अर्थव्यवस्था में भी प्रासंगिक है।  इतिहास कहता है कि चाणक्य चंद्रगुप्त मौर्य के मार्गदर्शक और संरक्षक थे। 

 भारतीय उपमहाद्वीप में मौर्य शासन की स्थापना में इस शिक्षक ने बहुत बड़ी भूमिका निभाई।भारत और पूरे विश्व में इनके जीवन पर कई किताबे, नाटक और फ़िल्मों को फ़िल्माया गया है। इसके अतरिक्त सबसे प्रमुख किताबों में चाणक्य नीति   सबसे प्रमुख है।

बताया जाता है कि चाणक्य एक ऐसा शिक्षक था जिसने अपनी बुद्धि से मगध का राजा चंद्र गुप्त मौर्य को बनाया। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

2. कन्फ्यूशियस

कन्फ्यूशियस को सभी शिक्षकों के शिक्षक के रूप में माना जाता है। उन्हें सर्वश्रेष्ठ शिक्षक के रूप में भी लेबल किया गया था।  उनका जन्म चीन में एक कुलीन परिवार में हुआ था।

 इतिहास के उस दौर में , केवल राजघरानों और कुलीन वर्ग के परिवारों को ही सीखने की अनुमति थी और वह भी सरकारी शिक्षकों में से एक थे ।(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

कन्फ्यूशियस पहले निजी शिक्षक थे जिन्होंने उन सभी को सिखाया जो सीखना चाहते थे।  उनकी शिक्षाओं और दर्शन को कन्फ्यूशीवाद कहा जाता है।  कन्फ्यूशीवाद की शिक्षाओं में नैतिक आचरण, सामाजिक व्यवहार और संरचित जीवन शामिल हैं।  कन्फ्यूशियस के जन्मदिन को चीन में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

3. ऐनी सुलिवान

ऐनी सुलिवन को मशहूर हस्ती हेलन केलर के शिक्षक होने के लिए सबसे ज्यादा जाना जाता है।  जब वह पांच साल की थी, तो ऐनी को एक नेत्र रोग हो गया, जिससे वह आंशिक रूप से अंधी हो गयी थी ।

 उसके बाद उन्होंने पर्किन्स स्कूल ऑफ ब्लाइंड  में अध्ययन के लिए भाग लिया।  स्नातक होने के बाद, वह एक शिक्षक बन गई। उसकी पहली और एकमात्र छात्रा हेलेन केलर थी।  सुलिवन उनके लिए उनके निर्देशक , शिक्षक और साथी के रूप मे थी ।

ऐनी सुलिवन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों में से एक हैं जिन्होंने अपना जीवन अपने छात्र को समर्पित कर दिया था ।(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

4. जीन पिअगेट

जीन पियागेट ने बाल स्तर की शिक्षा में क्रांति ला दी थी ।  वह Neuchâtel विश्वविद्यालय में मध्यकालीन साहित्य, समाजशास्त्र और मनोविज्ञान के प्रोफेसर थे।

 1929 में, वह अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा ब्यूरो  के निदेशक बने।

 पियागेट के सिखाने के सिद्धांत के अनुसार, शिक्षकों की भूमिका जानकारी और ज्ञान संचारित करने से ज्यादा शिष्यों की मानसिक देख रेख और अधिक उनका निरीक्षण करने से बेहतर होती है। 

एक अच्छे शिक्षक को बच्चे का निरीक्षण करने और उसे ज्ञान के प्रति मार्गदर्शन करने की आवश्यकता होती है।(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

5. मारिया मोंटेसरी

मारिया मॉन्टेसरी एक और ऐसी शिक्षिका थी जिन्होंने बाल शिक्षा में एक नया सुधार लाया उन्होंने बचपन की शिक्षा में एक समुद्री परिवर्तन लाया।

पेशे से चिकित्सक, मारिया ने उन बच्चों के साथ काम किया, जो मानसिक रूप से विकलांग थे ।  उन्होंने बच्चों को देखा और सीखने के नए तरीकों की पहचान की।

उनके द्वारा किए गए शोध आधार पर, वह मोंटेसरी शिक्षण पद्धति के साथ बाल शिक्षा में एक नयी क्रांति लेके आईं और शिक्षा की इस पद्धति का उपयोग अभी भी कई स्कूलों में किया जाता है।  

6. अल्बर्ट आइंस्टीन

भला इस नाम से कौन परिचित नहीं होगा। अल्बर्ट आइंस्टीन एक महान वैज्ञानिक थे जिन्होंने दुनिया को कई ऐसे अविष्कार और ग्यान दिया जिसके बलबूते पर पूरी दुनिया आज आधुनिकता के नए आयामों को छू रही है। 

अल्बर्ट आइंस्टीन को हम सभी दुनिया के महानतम वैज्ञानिकों में से एक के रूप में जानते हैं।  हालांकि, जब उन्होंने पहली बार विश्वविद्यालय में पढ़ाना शुरू किया, तो कई छात्रों ने उनकी कक्षा में भाग नहीं लिया था। 

हालांकि उस समय ऐसा इसलिए भी था कि जिस विषय में वह पढ़ाते थे वह बहुत कठिन और बहुत ही कम लोगों के समझ आता था। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

हालाँकि, जैसे-जैसे आइंस्टीन के सिद्धांत लोकप्रिय होते गए, उनकी कक्षाएं ओवरफ्लो होने लगीं।  अल्बर्ट आइंस्टीन सबसे अच्छे शिक्षकों में से एक हैं जो अपने क्षेत्र के बारे में भावुक थे।  उन्होंने गणित और भौतिकी में रुचि रखने वाले युवा दिमागों को प्रोत्साहित और प्रेरित किया। 

7. रविंद्रनाथ टैगोर

रबीन्द्रनाथ टैगोर एक कवि थे जिन्होंने साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार जीता, इसके अतिरिक्त रवींद्रनाथ टैगोर एक महान शिक्षाविद (शिक्षक) भी थे ।(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

टैगोर पारंपरिक शिक्षण पद्धति के खिलाफ थे, जहां छात्रों को घंटों कक्षा में बैठना पड़ता है और शिक्षक जो कहते हैं, बच्चों को वही रटना होता है। टैगोर इस तरह की शिक्षण प्रणाली के खिलाफ थे और वह इस तरह की शिक्षा को रटू  “तोता” कहते थे ।

उन्होंने पश्चिम बंगाल के शांतिनिकेतन में विश्व भारती विश्वविद्यालय की स्थापना की।  वे शिक्षण की पारंपरिक “गुरुकुलम ” शैली का पालन करते हैं।  जहां अब भी, पेड़ों की छाया के नीचे, कक्षाएं आयोजित की जाती हैं।

 8. डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

 भारत के दूसरे राष्ट्रपति डॉ। सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक राजनेता बनने से पहले एक प्रोफेसर थे।  वे मद्रास प्रेसीडेंसी कॉलेज, मैसूर विश्वविद्यालय और कलकत्ता विश्वविद्यालय में फिलॉसफी के प्रोफेसर थे।

 डॉ। राधाकृष्णन पहले भारतीय हैं जिन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर की कुर्सी हासिल की है।  5 सितंबर को उनके जन्मदिन को भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है।

9. सावित्रीबाई फुले

सावित्रीबाई फुले को देश की पहली महिला शिक्षक माना जाता है।  उनका जन्म महाराष्ट्र के एक छोटे से गाँव में हुआ था।  सावित्री ने ज्योतिरा से शादी करने के बाद,  उनके पति ने उन्हें शिक्षित किया।

 इसके बाद उन्होंने अहमदनगर में अमेरिकी मिशनरियों द्वारा संचालित एक संस्थान में अपना शिक्षक प्रशिक्षण लिया।  स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद, सावित्री और उनके पति पुणे में पढ़ाने लगे।  जल्द ही, उन्होंने पुणे में लड़कियों के लिए तीन स्कूल शुरू किए।  वे अग्रणी हैं जिन्होंने भारत में महिलाओं की शिक्षा के लिए एक आधार स्थापित किया।(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

10. स्वामी विवेकानंद 

नरेंद्रनाथ दत्त, जिन्हें स्वामी विवेकानंद के नाम से जाना जाता है, भारत के महानतम शिक्षकों में से एक हैं।

वह एक आध्यात्मिक शिक्षक थे जिन्होंने दुनिया को वेदांत दर्शन, हिंदू धर्म और इसकी व्याख्याओं के बारे में बताया।  उनकी फिलॉसफी और शिक्षाओं ने देश की शिक्षा प्रणाली को बहुत प्रभावित किया।(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

ALSO READ – दिमाग तेज करने के उपाय ? दिमाग तेज करने के 10 आसान तरीके (top 10 best ways to speed up your brain)

11. विवियन पले 

विवियन पले एक शिक्षक होने के साथ साथ एक बड़ी शोधकर्ता थी। वह बच्चों को शिक्षण देने के लिए पढ़ाई को कहानी की तरह बताती थी। उन्होंने किंडरगार्टन और प्रीस्कूल को 37 वर्षों तक पढ़ाया।

उस समय के दौरान, उन्होंने अपने शिक्षण के तरीकों पर काम किया।  वह मैकआर्थर पुरस्कार  जीतने वाली एकमात्र बालवाड़ी शिक्षक हैं।  अध्यापन के अलावा, उन्होंने शिक्षकों के लिए कार्यशालाएँ और प्रशिक्षण कार्यक्रम भी चलाए।  सुश्री पाले ने शिक्षण में अपने अनुभव पर किताबें भी लिखी है। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

12. अब्दुल कलाम

तकनीकी रूप से कलाम साहब सिर्फ विजिटिंग प्रोफेसर ही थे जो समय समय पर छात्रों को नयी सीख और शिक्षा देते थे। भारत के सबसे महान शिक्षकों में से एक हैं।

वह पहले एयरोस्पेस इंजीनियर थे और फिर इसरो (ISRO) और DRDO में विज्ञान के प्रशासक थे।

 अब्दुल कलाम को तब भारत के राष्ट्रपति के रूप में चुना गया था।  उनकी अध्यक्षता के बाद, भारत का मिसाइल मैन कई कॉलेजों में विजिटिंग प्रोफेसर बन गया।

 कलाम छात्रों की ताकत के महान विश्वासी थे।  उन्होंने छात्रों को प्रेरित किया और उन्हें अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रोत्साहित किया।  कलाम का मानना ​​था कि किसी “राष्ट्र का भविष्य छात्रों के हाथों में  में ही होता है” ।

(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

ALSO READ –दुनिया की 10 सबसे तेज रफ्तार से चलने वाली ट्रेन 2021

13. एरिन ग्रुवेल

अध्यापन में एरिन ग्रुवेल  का पहला अनुभव तब शुरू हुआ जब उन्होंने अपने स्कूल में एक छात्र शिक्षक के रूप में काम किया।

 वह कम अंक पाने वाले छात्रों को पढ़ाती थी।  जब उन्होंने देखा कि 1992 के लॉस एंजिल्स के दंगों के दौरान क्या हुआ, तो उन्होंने एक शिक्षक बनने का फैसला किया।  एरिन ने केवल चार साल तक ही एक शिक्षक के रूप में काम किया।  लेकिन इस दौरान, उन्होंने छात्रों को अपने अनुभवों के बारे में पत्रिकाओं को बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित किया।(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

14. Andria Zafirakou

Andria Zafirakou लंदन की कला और वस्त्र शिक्षिका है। इन्होंने वर्ष 2018 में ग्लोबल टीचर प्राइज   (global teachers prize) जीता है ।

वह 12 साल से लंदन के अल्परटन कम्युनिटी स्कूल में काम कर रही हैं।  स्कूल में छात्र भीड़ भरे घरों से आते हैं जहाँ कई परिवार एक साथ रहते हैं।  वह छात्रों को खुद को व्यक्त करने में मदद करने के लिए संचार के रूप में कला का उपयोग करती है। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

ALSO READ –TOP 15 दुनिया के सबसे बड़े पुल | DUNIYA KE 15 SABSE BADE PUL 2021

15. पीटर तबीची

पीटर तबीची एक केन्याई शिक्षक हैं उन्होंने 2019 में वैश्विक शिक्षक पुरस्कार जीता।  वह केन्या के रिफ्ट वैली प्रांत में स्थित एक गाँव केरीको मिक्स्ड डे सेकेंडरी स्कूल में भौतिकी(physics) और गणित पढ़ाते हैं।

 क्षेत्र में रहने वाली सात अलग-अलग जनजातियों के छात्र स्कूल में पढ़ते हैं।  नियमित उपस्थिति को प्रोत्साहित करने के लिए, पीटर ने टैलेंट पोषण क्लब शुरू किया।  उन्होंने स्थानीय समर्थन में लाने के लिए सामुदायिक सहायता गतिविधियों की भी स्थापना की।(दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

 पीटर तबीची अपने क्षेत्र में छात्रों की रहने की स्थिति और शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे हैं।

ALSO READ –डरना नहीं क्युकी ये है, दुनिया के सबसे खतरनाक पुल | DUNIYA KE 20 SABSE KHATARNAK PUL | (TOP 20)

भारत  के तीन प्रमुख शिक्षक जिनका चयन विश्व अध्यापक पुरस्कार के लिए हुआ था। 

यूनेस्को की साझेदारी में आयोजित वार्षिक  ग्लोबल टीचर प्राइज 2020 के लिए भारत के तीन शिक्षकों ने गुरुवार को लंदन में टॉप 50 शॉर्टलिस्ट में अपना स्थान बनाया। चुने जाने वाले शिक्षक को 1 मिलियन USD का उपहार मिलता है। भारत के लिए ये गर्भ की बात है कि इस प्रयोजन में भारत के तीन शिक्षकों को चुना गया था हालांकि पुरस्कार जीतने वाले पीटर Tabichi थे। (दुनिया के 15 सबसे सर्वश्रेष्ठ शिक्षक (टीचर))

दुनिया में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक :(एक जरूरी सोच और विचार) 

 दुनिया में अभी भी कई सर्वश्रेष्ठ और महान शिक्षक हैं जो इस सूची में नहीं हैं, लेकिन उन्होंने छात्रों के जीवन में भारी बदलाव किए हैं।

 शिक्षक एक बच्चे के जीवन की नींव का निर्माण करता हैं, जो बदले में समाज और राष्ट्र का निर्माण करता है।

दोस्तो यह थे दुनिया के 15 सबसे महान और सर्वश्रेष्ठ शिक्षक उम्मीद है आप इस जानकारी से अवगत हो गए होंगे। लेख पसंद आया तो शेयर करना ना भूले। 

ALSO READ –दुनिया के सबसे बड़े पानी के जहाज | LONGEST SHIPS IN THE WORLD | TOP 10 SHIPS 2021

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.