मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे ध्यान हमारे जीवन के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। ध्यान लगाने के लिए सबसे उचित समय तब होता है जब आप किस शांत वातावरण में होते हैं। आमतौर पर ध्यान के लाभ भरपूर मात्रा में होते हैं।  लेकिन corona महामारी के चलते लोगों ने, अपने ध्यान को एकाग्र करने में बड़ी कठिनाइयों का सामना किया है जिससे कि उन्हें ध्यान लगाने के सम्भावित लाभ भी नहीं मिल सके। 

मेडिटेशन एक ऐसी क्रिया है जिसके अंतर्गत हम अपने मस्तिष्क को एकाग्र करने का अभ्यास करते हैं। मेडिटेशन सबसे प्राचीन आयुर्वेदिक चिकित्सा के रूप में भी जानी जाती है। भारतीय संस्कृति में ध्यान साधना का उल्लेख सभी पौराणिक कथाओं में विस्तार से मिलता है। इसलिए ऐसा कहा जा सकता है कि मेडिटेशन का विकास भारत से ही हुआ। हालांकि दुनिया में इस मत को ज्यादा नहीं मानते परंतु सत्य यही है। (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

ध्यान का मुख्य उद्देश्य भले ही मस्तिष्क को एकाग्र करना हो लेकिन इसके कई अनेक स्वास्थ्य फायदे है। इसके पीछे का सीधा सा तर्क यह है कि यदि आपका मन संतुष्ट और शांत है तो आपकी काया भी रोगमुक्त रहेगी। यही कारण है कि आज योग और मेडिटेशन पूरी दुनिया में तेजी से विकसित हो रहे हैं। 

ध्यान करने होने वाले फायदों का दाबा विज्ञान भी कर्ता करता है इसीलिए मेडिटेशन को लेकर कई तरह के शोध और अध्यन किए गए और सभी में ध्यान से होने वाले फायदों को खरा पाया। 

दोस्तों आज हम आपको विस्तार से बतायेंगे कि आखिर ध्यान हमे किस तरह लाभ पहुँचाता है आपने इन्टरनेट पर डाले गए टनों लेखों को पढ़ा होगा लेकिन उनमें से किसीने भी वैज्ञानिक रूप से ध्यान से होने वाले फायदों का दावा नहीं किया लेकिन हम आपको आज वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित ध्यान के फायदों के बारे में बतायेंगे साथ ही यह बतायेंगे कि आखिर यह फायदे किस तरह और क्यों होते हैं।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

आम तौर पर ध्यान को सिर्फ मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहतर माना जाता है लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। असल में ध्यान हमारे पूरे शरीर को प्रभावित करता है। मेडिटेशन के द्वारा लोग कई तरह के फायदे उठाते है, जैसे कि मेडिटेशन से लोगों को सकारात्मक होने में मदद मिलती है। इसके अलावा मेडिटेशन से सकारात्मक मनोदशा और दृष्टिकोण, आत्म-अनुशासन, स्वस्थ नींद पैटर्न, और यहां तक ​​​​कि दर्द सहनशीलता में वृद्धि होती है । 

Table of Contents

ध्यान (मेडिटेशन) क्या है? 

ध्यान के फायदे

तकनीकी भाषा में कहा जाए तो ध्यान एक क्रिया है जिसके अंतर्गत हम हमारे मन को शांत और स्थिर करने के लिए उपयोग करते हैं। ध्यान करने का उद्देश्य मानसिक जागरुकता बढ़ाना और मन को एकाग्र करना है। हालांकि इसके अनेक स्वास्थ्य फायदे है। ध्यान एक प्राचीन मानसिक उपचार की तकनीक है जिसे आज नए स्तर से विकसित किया जा रहा है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

मेडिटेशन करने से फायदे – 

तनाव को कम करने के लिए मेडिटेशन के फायदे – Benefits of Meditation for Reduce Stress In Hindi 

ध्यान हमारे जीवन के उद्देश्य को जानने के लिए सहायता करता है। यह हमे एकाग्र करने के साथ ही हमारे तनाव को कम करने में सहायक होता है। किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि मेडिटेशन करने से आप तनाव मुक्त रह सकते हैं। 

किए गए शोध के अनुसार पता चलता है कि ध्यान हमारे शरीर को तनावमुक्त रखने में मदद करता है । (1)

अक्सर मानसिक और शारीरिक तनाव के कारण होने कोर्टिसोल (तनाव के लिए जिम्मेदार हार्मोन) का स्तर बड़ जाता है। जब आप तनाव से ग्रसित होते है तो आपके शरीर में कई तरह के हानिकारक प्रभाव उत्पन्न करता है। आम तौर पर जब आप तनाव ग्रस्त होते है तो हमारे शरीर में साइटोकिन्स नामक हार्मोन का स्राव होता है जो कि हमारे लिए हानिकारक होता है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

तनाव के ये प्रभाव आपकी नींद को बाधित कर सकते हैं, अवसाद और चिंता को बढ़ावा दे सकते हैं, ब्लड प्रेशर बढ़ा सकते हैं, और थकान और आपकी याददाश्त कम करने में योगदान कर सकते हैं। 

माइंडफुलनेस मेडिटेशन पर करीब 8 सप्ताह तक चले एक शोध के दौरान पता चला कि मेडिटेशन से आप तनाव से होने वाली सूजन को कम कर सकते हैं। (2)

इसके अतरिक्त किए गए कुछ अन्य शोधो में पता चलता है कि ध्यान करने से तनाव से होने वाले अन्य लक्षणों को कम करने के लिए भी जिम्मेदार होता है। ध्यान करने से आप IBS (चिड़चिड़ा आंत विकार), Fibromyalgia और post-traumatic stress disorder को कम करने में उपयोगी सिद्ध होता है। (3)

चिंता मुक्त होने के लिए मेडिटेशन के फायदे – Benefits Of Meditation For Anxiety In Hindi – 

ध्यान हमारे जीवन में होने वाली कई अनपेक्षित चिंताओं को दूर करने में मदद कर सकता है । कई तरह के शोध इस बात कि पुष्टि करते है कि मेडिटेशन आपको चिन्तामुक्त करने के लिए सबसे प्रभावी और सुरक्षित उपाय है। जिस तरह से मेडिटेशन तनाव को कम करता है उसी का प्रभाव है कि मेडिटेशन तनाव के कारण बड़ने वाली चिंता को भी कम करने में सहायक होता है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

1300 लोगों पर हुए एक अध्ययन के अनुसार ध्यान चिंता को कम करने में मजबूती से कारगर है। ध्यान से उन लोगों को विशेष फायदा हुआ जिनके अंदर तनाव का स्तर ज्यादा था। (4)

अन्य कई सारे अध्यन इसी बात की पुष्टि करते है कि मेडिटेशन आपको चिन्तामुक्त करने के लिए सबसे प्रभावी मानसिक व्यायाम है। चिंता कम करने के साथ ध्यान आपके अंदर सकारात्मकता बढ़ाने का भी कार्य करता है। (5)

पुराने दर्द से ग्रसित 50 लोगों पर हुए एक और अध्ययन में पाया गया कि मेडिटेशन करने ना सिर्फ उन्हें तनाव, अवसाद और चिंता मुक्त होने में मदद मिली बल्कि उन्हें दर्द में भी आराम मिले। (6)

इसी तरह के एक और शोध में पता चलता है कि ध्यान करने से विभिन्न प्रकार के दिमागीपन और ध्यान अभ्यास चिंता के स्तर को कम कर सकते हैं । (7)

उदाहरण के लिए- एक शोध इस बात कि पुष्टि करता है कि योग और अन्य तरह के ध्यान करने से लोगों को मानसिक और शारीरिक दोनों ही स्तरों पर फायदा मिलता है। (8)

मेडिटेशन आपकी नौकरी से संबंधित होने वाली चिंताओं को दूर करने के लिए ज़िम्मेदार माना गया है। यह आपकी चिंता और तनाव को पूरी तरह नियन्त्रित करके आपको बेहतर महसूस कराने का कार्य करता है।  

एक अध्ययन में पाया गया कि जिन कर्मचारियों ने 8 सप्ताह के लिए माइंडफुलनेस मेडिटेशन ऐप का इस्तेमाल किया, उन्होंने उन लोगों की तुलना में ज्यादा बेहतर महसूस किया जो चिंता को कम करने के लिए अन्य तरह के इलाज ले रहे थे।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

मेडिटेशन करने वाले लोगों ने बेहतर भावनाओं का अनुभव किया और संकट और नौकरी के तनाव को करने कम करने का काम किया। (9)

मूड को बूस्ट करने के लिए मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे – Benefits of Meditation for Mood Boost – 

इस तथ्य के लिए बहुत ही आसान सा logic है क्योंकि जब आप तनाव और चिंता मुक्त होते है तो अपने आप ही आपका दिमाग बूस्ट हो जाता है। आप बेहतर तरह से एकाग्रता ग्रहण करते है जिससे आप बेहतर तरीके से अपने कामों को पूरा कर पाते है। मन में अस्थिरता ही आपके मूड को ऑफ करने का काम करती है। इसीलिए ध्यान को अपनाओ और अपने मन को स्थिर करने की कोशिश करें।

भावनात्मक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए मेडिटेशन के फायदे – Benefits Of Meditation For Emotional Health – 

यदि कुछ समय से आप खुद को अलग थलग सा महसूस कर रहे है तो मुमकिन है कि आपका भावनात्मक स्वास्थय ठीक नहीं है। कई बार लोगों को ये समझने में काफी देरी हो जाती है। हालांकि यह कोई खतरनाक बीमारी नहीं है लेकिन यह आपके जीवन के निजी सुकून और खुशियो को ना महसूस करने के बारे में है। 

शोधकर्ताओं द्वारा किए गए कुछ अध्यन इस बात का समर्थन करते है कि मेडिटेशन करने से आप एक बेहतर भावनात्मक स्वास्थ्य प्राप्त कर सकते हैं।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

शोधों से जानकारी मिलती है कि ध्यान लगाने से आप अपनी आत्म-छवि में सुधार कर सकते  है। जिससे आप जीवन के प्रति अधिक सकारात्मक दृष्टिकोण प्राप्त कर लेते है।

34,00 लोगों पर किए गए एक अध्ययन में यह साबित हुआ कि mindfulness meditation करने से उन्हें अवसाद जैसे लक्षणों को कम करने में काफी मदद मिली। (10)

इसी प्रकार के कई और शोध किए गए जिनमे साबित हुआ कि मेडिटेशन करने से आपके दिमाग में नकारत्मक विचार कम हो जाते हैं। ध्यान करने से अवसाद को कम किया जा सकता है। (11) (12)

तनाव के कारण पैदा होने वाला साइटोकिन्स नामक भड़काऊ रसायन आपके मूड को प्रभावित कर सकता हैं। इस कारण से आपके अवसाद जैसे लक्षण महसूस होने लगते हैं। कई अध्ययनों की समीक्षा से पता चलता है कि मेडिटेशन इन भड़काऊ रसायनों के स्तर को कम करके अवसाद को भी कम कर सकता है (13

अवसाद को कम करने के लिए मेडिटेशन के फायदे – Benefits of Meditation For Depression In Hindi – 

डिप्रेशन क्या है? इस बात से हम सभी वाकिफ़ है। यदि आप अवसाद के लक्षणों और उपाय और उपचार के बारे में जानना चाहते है तो हमारा यह लेख पढ़ना चाहिए।

 – अवसाद के लक्षण और घरेलू और वैज्ञानिक इलाज 

शरीर में बढ़ते तनाव को कम करने के लिए ध्यान करना बेहद महत्त्वपूर्ण है। जिस तरह से ध्यान आपके अंदर सकारात्मकता बढ़ाने का काम करता है और आपको तनावमुक्त करता है उसी प्रकार यह हमे अवसाद के लक्षणों से भी बचाने का काम करता है। प्रतिदिन 30 मिनट का मेडिटेशन करे निश्चित ही आपको, आराम मिलेगा ।

ध्यान करे और अपनी आत्म जागरुकता को बढ़ाए – Benefits Of Meditation For Self Awareness In Hindi 

आपने ऐसा कभी विचार भी नहीं किया होगा कि जब आप बेहद छोटी छोटी बातों पर झगड़ा कर लेते है, या बहुत छोटे छोटे दुखों से खुद को बहुत ज्यादा आहत महसूस करते है। तो यह दर्शाता है कि आप में आत्म जागरूकता की कमी आ चुकी है। 

मेडिटेशन की मदद से आप अपनी आत्म जागरुकता को विकसित कर सकते हैं। उदाहरण के लिए – यदि आप अपनी आत्म जागरुकता को विकसित करना चाहते है तो आपको आत्म जाँच और आत्म चिंतन करने की आवश्यकता होती है। जब आप ध्यान करते हैं तो आपका यह काम बखूबी होता है। आपकी आत्म जागरुकता आपकी समझ को अधिक विकसित करने के बारे में है। जब आप ध्यान लगाते है, तो खुद में संतुष्टि महसूस करते है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

ध्यान आपको सिखाता है कि आप किस तरह नकारात्मक विचारों के प्रभाव को कम कर सकते हैं और उन विचारों को पहचान लेते है जो आपके लिए सकारात्मक ऊर्जा का स्त्रोत बनते हैं। विचार यह है कि जैसे-जैसे आप अपनी सोच की आदतों के बारे में अधिक जागरूकता प्राप्त करते हैं, आप उन्हें अधिक रचनात्मक पैटर्न की ओर ले जा सकते हैं। (14)

(14)

एकाग्रता और ध्यान की अवधि को बढ़ाता है – 

मेडिटेशन सिर्फ तनाव और चिंता मुक्त करने में ही मदद नहीं करता बल्कि यह आपको अपने ध्यान को लंबे समय तक एकाग्र करने की क्षमता देता था। ध्यान को एकाग्र करने के पीछे एक बेहद आसान सा logic है। यदि आप ध्यान लगाना शरू कर देते है तो आप किसी भी कार्य को करने के लिए पहले से बेहतर एकाग्रता पाते है, जिससे आपकी उत्पादक क्षमता का विकास होता है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

एक शोध के दौरान पता चला कि उन लोगों ने अपने कार्य को अच्छे ढंग से किया जो लोग मेडिटेशन करते थे। जबकि ऐसे लोगों का प्रदर्शन कमजोर था जिन्होंने अपनी दिनचर्या में ध्यान को शामिल नहीं किया था। ध्यान करने वाले लोगों ने अपने कार्य को पूरा करते समय बेहतर ध्यान और सटीकता का अनुभव किया। (15)

इसी प्रकार के एक और अध्ययन से पता चलता है कि प्रतिदिन ध्यान करने वाले लोगों का अपने काम में अधिक सफ़लता मिली जबकि जो लोग ध्यान नहीं करते थे उन्हें अपने काम में कम सफलता मिली। (16)

इसके अतरिक्त ध्यान पर किए गए एक और अध्ययन में पता चला कि ध्यान मस्तिष्क में उन पैटर्नों को भी उलट सकता है जो आपके मन-भटकने, चिंता करने और एकाग्रता स्थापित ना होने में योगदान करते हैं। (17)

मेडिटेशन पर हुआ एक और शोध इस बात कि पुष्टि करता है कि यदि आप हर दिन थोड़ी देर के लिए ध्यान करते है तो भी आपको अच्छा फायदा हो सकता है। एक अध्ययन में पाया गया कि रोजाना सिर्फ 13 मिनट ध्यान करने से 8 सप्ताह के बाद ध्यान और याददाश्त में वृद्धि होती है (18)

बड़ती उम्र के साथ याददाश्त कम होने से रोकता है – 

सुनने में आपको यह बात अजीब लग सकती है लेकिन हमारे पास इस बात को साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत है। जी हाँ यदि आप ध्यान करते है, तो बुढ़ापे में होने वाली यादाश्त की कमजोरी बच सकते हैं। 

ध्यान लगाने की एक प्रसिद्ध विधि जिसे कीर्तन क्रिया भी कहा जाता है। इस क्रिया में आप हाथ में माला लेकर किसी मंत्र का जप करते है और बार बार उँगलियों का दोहराव करते रहते है। उम्र से संबंधित स्मृति हानि वाले लोगों पर किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि कीर्तन क्रिया करने से न्यूरोसाइकोलॉजिकल परीक्षणों के प्रदर्शन में सुधार देखने को मिलता है। (19)

मेडिटेशन करने से ना सिर्फ आपको याददाश्त मजबूत होती है बल्कि यह मनोभ्रंश से ग्रसित रोगियों की आंशिक रूप से स्मृति में सुधार कर सकता। (20)

ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए मेडिटेशन के फायदे – Benefits Of Meditation For Decrease Blood Pressure  – 

मेडिटेशन करके पर हृदय पर पड़ने वाले तनाव को कम कर सकते हैं जिसके परिणामस्वरूप आपका ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। 

गुजरते समय के साथ आपका ब्लड प्रेशर हाई होने लगता है। जैसा कि हम सभी जानते है कि हाई ब्लड प्रेशर में हमारे हृदय को रक्त पम्प करने में ज्यादा दिक्कत होती है। 

1000 लोगों पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगों ने मेडिटेशन किया, उन्हें अपने बढ़ते ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद मिली।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

मेडिटेशन से ब्लड प्रेशर कम होने के पीछे का कारण है कि ध्यान लगाने से आपके तंत्रिका संकेतों को आराम मिलता है जिससे यह रक्तचाप को नियंत्रित करता है जो हृदय कार्य, रक्त वाहिका तनाव, और ” यह तनाव पैदा करने वाले कारणों के खिलाफ कार्य करता है। इसके अतरिक्त मेडिटेशन शरीर में होने वाली अन्य प्रतिक्रिया को समन्वयित करता हैं जो तनावपूर्ण स्थितियों में सतर्कता बढ़ाता है। (22)

ध्यान दर्द को कम करके नियंत्रित करने में मदद करता है – 

दर्द अनुभव होने का मुख्य कारण हमारे मस्तिष्क से जुड़ा होता है और मेडिटेशन से हम अपने मस्तिष्क को प्रभावित कर सकते हैं। शरीर के किसी भी अंग में होने वाला दर्द तब और ज्यादा बड़ जाता है, जब आप तनावपूर्ण स्थिति में होते है। यानी कि यदि आप तनाव महसूस करते है तो आपका दर्द भी ज्यादा हो जाता है। वही यदि तनाव कम होगा तो दर्द भी कम होगा। 

कई तरह के अध्ययनों से यह बात स्पष्ट होती है कि यदि आप ध्यान करते है तो आप तनावपूर्ण स्थिति से बच कर किसी भी प्रकार के दर्द को कम करने में सक्षम होते हैं। मेडिटेशन को अपनी दिनचर्या में शामिल करना दर्द को नियंत्रित करने के लिए फायदेमंद हो सकता है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

कुल 38 तरह के शोधों से पता चलता है कि “माइंडफुलनेस मेडिटेशन” करने से आप दर्द को कम कर सकते है,और जीवन की गुणवत्ता में सुधार कर सकते है। इसके अलावा ध्यान करने से पुराने दर्द वाले लोगों में अवसाद के लक्षणों में कमी देखी गयी है। (23)

अच्छी नींद के लिए मेडिटेशन के फायदे – BENEFITS OF Meditation For Sleep In Hindi – 

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि दुनिया की आधे से ज्यादा आबादी अनिद्रा से ग्रसित है। आज की इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में सुकून भरी नींद कईयों के लिए महज एक सपना बन कर रह गयी है। 

नींद और ध्यान से जुड़े एक अध्ययन में माइंडफुलनेस-आधारित ध्यान कार्यक्रमों की तुलना की और पाया कि जो लोग प्रतिदिन मेडिटेशन करते थे उन्हें लंबे समय तक बेहतर नींद आयी और ध्यान करने से अनिद्रा की गंभीरता में सुधार हुआ। दूसरी ओर कुछ ऐसे लोग जो ध्यान नहीं करते थे उन्हें उनकी नींद में कोई सुधार महसूस नहीं हुआ।  (24)

यदि आप मेडिटेशन में महारत हासिल कर लेते हैं तो आप ऐसे विचारों पर नियंत्रण कर लेते है जो अक्सर अनिद्रा का कारण बनते है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

इसके अलावा , ध्यान करने से आपके शरीर को आरामदायक , तनाव मुक्त करने और आपको एक शांतिपूर्ण स्थिति में रखने में मदद करता है जिसमें आपको सो जाने की अधिक संभावना है।

नशा छोड़ने के लिए ध्यान के फायदे – Benefits of Meditation for de addiction In Hindi – 

हाल ही में हुए एक अध्ययन से पता चलता है कि दुनिया में करीब 76% लोग नशे की बीमारी और लत से ग्रसित है। इस तरह के लोग जो नशे के सहारे अपना जीवन जी रहे हैं उनपर भी एक शोध किया गया जिसमें पता चलता है कि नशे करने वाले लोग जल्दी मर जाते है। 

2020 में पूरे भारत में नशे से पीड़ित 2 लाख लोगों ने जान गंवाई जबकि यह समय corona महामारी का था। ध्यान आपको नशे से लड़ने के लिए तैयार करता है। यह आपके तनाव को कम करके आपको चिंता मुक्त करता है । चिंता एक ऐसा कारण है जिसके चलते ही 97% लोग नशा करते है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

मेडिटेशन करके आप खुद के भीतर आत्म अनुशासन पैदा करते है जो आपको व्यसनों से दूर रहने में मदद करता है। मेडिटेशन आपके नशेड़ी व्यावहार को तोड़ कर आपको आपको नशे के ट्रिगर के प्रति जागरूक करता है। बाद में आप नशे पर अपनी निर्भरता को खत्म कर देते हैं। (25)

इसी प्रकार के एक और अध्ययन में पाया गया कि मेडिटेशन आपको भावनात्मक रूप से मजबूती प्रदान करता है जो नशा करने के पीछे का दूसरा बड़ा कारण है। यदि आप मेडिटेशन करते है तो आप अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रख पाते है। आप अचानक से बहुत दुखी या बहुत ख़ुशी नहीं होते आप धैर्यशील बन जाते है।  (26)

एक और अध्ययन इस बात की पुष्टि करता है कि ध्यान आपके लती व्यावहार को कम करता है। यह आपके भीतर उठने वाली किसी भी लालसा को नियंत्रित करके उसे कम कर सकता है। चाहे आप बहुत ज्यादा भूखे है तब भी आप खुद को नॉर्मल महसूस करेंगे या आप नशे की इच्छा से जुझ रहे है तब भी यह आपको स्थिर रखने में मदद करता है । (27)

ध्यान दयालुता लाता है – 

ध्यान आपकी भावनाओ को नियंत्रित करता है और इसी कारण से आप क्रोध जैसे विकारों से दूर रहते है। क्रोध आपको दयालुता दिखाने से रोकता है। जब आप तनाव ग्रस्त होते है उस समय आपकी सभी भावनाओ एक साथ अलग अलग स्तर पर कार्य करती है जिसमें सबसे अहम भूमिका क्रोध की होती है। 

आपका चिड़चिड़ा होना इसी बात का सबूत है कि आपके भीतर से दयालुता समाप्त हो रहीं है। इस तरह के विकारों से ग्रस्त होना आज बड़ा स्वाभाविक है क्योंकि जिस तरह की जीवनशैली हम अपना चुके है ऐसे मैं तनाव और चिंता ग्रस्त होना आम बात है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

ऐसे में आपको ध्यान सहारा लेना चाहिए जिससे आपको संतुष्टि मिलती है और संतुष्टि एक ऐसा उपचार है जो आपके हर रोग को कम करने की क्षमता रखता है। ध्यान आपको दूसरे के प्रति दयालू और करुणा युक्त बनाता है। (28)

क्रोध को शांत करने के लिए ध्यान के फायदे – 

मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे

मेडिटेशन आपको भावनाओ को नियंत्रित करने की शक्ति प्रदान करता है चुकीं क्रोध भी एक भावना है तो ध्यान करके आप इसे भी नियंत्रित कर सकते हैं। जैसी दिनचर्या और माहौल में हम रहते है उसी के प्रभाव से हमारे अंदर क्रोध की भावना उत्पन्न होती है। लेकिन ध्यान करने से आप अपने क्रोध को कम कर सकते हैं। 

ध्यान आपको राहत और संतुष्टि प्रदान कराता है जिससे स्वभाविक रूप से आप क्रोध को शांत कर लेते है। 

रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करता है – 

ध्यान आपको कई स्वास्थ्य लाभ उपलब्ध कराता है जिसमें से इसका यह लाभ अविश्वसनीय है। आप ध्यान करके अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर सकते हैं। दरअसल जब आप ध्यान करते है तो आप तनाव मुक्त होते है। 

तनाव मुक्त शरीर बीमारियों को दूर करने के लिए अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत रखता है। यदि आप तनाव मुक्त है तो आपको उनलोगों की तुलना में बीमारियों से ज्यादा मजबूती से लड़ सकते है जो लोग तनाव ग्रस्त है। निश्चित ही आपको बीमारियों का कम खतरा रहता है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

वही इस इस मामले से जुडे शोध से पता चलता है कि माइंडफुलनेस मेडिटेशन ब्लड प्रेशर को कम करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है, जिससे आप बेहतर महसूस करते हैं और शायद अधिक समय तक जीवित रहते हैं।

वर्तमान में जीना सीख जायेगे – 

लोग आजकल या तो अपना अतीत याद करके दुःखी होते है या अपने भविष्य की चिंता करके चिंतित ऐसे में मेडिटेशन आपको वर्तमान में जीना सिखाता है। ध्यान आपके मन को स्थिर रखता है साथ ही यह आपकी एकाग्रता को बढ़ाने के लिए सबसे उपयोगी प्रक्रिया है। वर्तमान को बेहतर बनाने से ही भविष्य अच्छा बनेगा और ध्यान इसी भावना पूरा समर्थन करता है।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

जीवन के संतुलन को बनाए रखने में सहायक – 

जीवन संघर्ष का नाम है और इसी संघर्ष से गुजरते हुए हम खुद को इतना खो देते है कि हम सुख की कल्पना भी नहीं कर पाते। जीवन का संतुलन बनाए रखने के लिए आपको सुख और दुख दोनों ही अनुभवों को बराबर मात्रा में महसूस करना चाहिए। ना अधिक दुख महसूस करे ना अधिक सुख। ध्यान आपको स्थिर करके जीवन के इस संतुलन को बरकरार रखने में मदद करता है ।

सभी के करने योग्य, निशुल्क और कहीं भी कर सकते है – 

जैसा कि हमने अबतक जाना कि मेडिटेशन के अनेक फायदे हो सकते हैं। लेकिन ध्यान लगाने के बारे में सबसे अच्छी बात ये है कि आपको इसे करने के लिए कुछ अन्य व्यवस्था नहीं करनी होती। आप जंहा भी रहते है वही पर आसानी से ध्यान कर सकते हैं। हालांकि ऑनलाइन और मार्केट में कुछ ऐसी चीजें है जो आपके ध्यान लगाने के स्तर को बेहतर करने के लिए कुछ सामान बेचते हैं।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

यदि आप हर तरफ से दुख का सामना कर रहे है तो ध्यान ही आपको शांति और सहूलियत देने का एक मात्र रास्ता है। ध्यान करने के लिए आपको कोई अतरिक्त शुल्क नहीं देना इन्टरनेट और यूट्यूब पर मौजूद हजारों वीडियो आपको ध्यान लगाने के और मदद कर सकते हैं। 

मुख्य रूप से ध्यान दो प्रकार का होता है :

  • एकाग्रचित्त-ध्यान –
मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे

यह ध्यान आपको पूरी तरह एकाग्रता की तरफ ले जाता है जो बिल्कुल शून्य है। अर्थार्त इस तरह का ध्यान करते समय आपके मनमें कोई विचार नहीं रहता सिर्फ एकाग्रता रहती है शांति की तरफ। आप अपने चित को इतना शांत कर लेते है कि उसमे फिर कोई विचार आते जाते नहीं है। इस स्थिति में समय का भाव भी नहीं होता सिर्फ आप और शांति बिना किसी विचारों के।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

  • ओपन मॉनीटरिंग मेडिटेशन – 

ध्यान के इस तरीके में आप शांत मन से अपने विचारो का अवलोकन करते है। आप सिर्फ अच्छे और सकारात्मक विचारो के साथ रहते है। शुरुआती लोगों के लिए ध्यान की यह शैली सबसे उपयोगी है। यह शैली आपके पर्यावरण के सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए , विचार की ट्रेन और स्वयं की भावना के बारे में व्यापक जागरूकता को प्रोत्साहित करती है।  इसमें दबे हुए विचारों, भावनाओं या आवेगों के बारे में जागरूक होना शामिल हो सकता है। 

अंतिम विचार :

भावनात्मक और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए मेडिटेशन के फायदे अद्वितीय है। कोई भी व्यक्ति जो मानसिक या शारीरिक रूप से खुद को कमजोर समझता है उसे मेडिटेशन करने के बारे में विचार करना चाहिए। 

ध्यान आपको आपके जीवन के उद्देश्य को जानने के लिए मदद करता है। आपकी सफ़लता आपके विचारो पर निर्भर करती है और यदि आपके विचार ही नकारत्मक ऊर्जा से ग्रसित है तो आपका सफल होना सम्भव नहीं है। लेकिन मेडिटेशन आपको चिन्तामुक्त होकर सकारात्मक ऊर्जा का विकास करने के लिए प्रोत्साहित करता है जिससे आप अपनी सफ़लता के नए आयामों को छू पाते हैं।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

हालांकि ध्यान करने की शैलियों की एक बड़ी विविधता है, ध्यान के हर एक तरीके की अलग विशेषता है और प्रत्येक में अलग-अलग ताकत और लाभ हैं।

अपने लक्ष्यों के अनुकूल मध्यस्थता की शैली की कोशिश करना आपके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने का एक शानदार तरीका है। भले ही आप इसे पूरे दिन में कुछ मिनटों के लिए ही करे लेकिन यह आपको फायदा देता है। 

ध्यान किसी धर्म विशेष से संबन्ध नहीं रखता इसीलिए हर कोई इसे खुले मन से अपना कर अपने जीवन को परिपूर्ण बना सकता है। जब आप ध्यान में होते है तब आपके अंदर से सभी तरह के दोष निकल जाते है या बाहर रह जाते है। ये बिल्कुल ऐसा है जैसे आप पानी के अंदर साँस नहीं ले पाते तो आप पानी से बाहर साँस लेकर बेहतर महसूस करते है वैसे ही यहां दुनिया पानी है और ध्यान oxygen जो आपको सिर्फ तभी मिलेगी जब आप ध्यान करेगे।  (मेडिटेशन (ध्यान) के फायदे )

ALSO READ : 

जीवन से हारा हुआ महसूस करने पर क्या करें? – Jeevan Se Hara Hua Mehsus Karne Par Kya Kare ?

अच्छा इंसान बनने के 12 तरीके | TOP 12 Tips To Become A Better Person

सिर दर्द और आँखों में दर्द के कारण | Eyestrain and Headache | 2021

पक्की सफलता के लिए आकर्षण के 10 नियम | Benefits Of Law Of Attraction In Hindi

बात करने में कितनी कैलोरी खर्च होती है? 2021

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.