दुनिया के 10 सबसे पुराने स्कूल | Duniya Ke Sabse Purane School | OLDEST SCHOOLS हालांकि ऐसे पुराने स्कूलों का पता लगाना मुश्किल है जो पुराने समय में प्राइवेट रहे है। हमारी इस सूची में अब तक के खोजे गए दुनिया के सबसे पुराने स्कूल है ।पूरी दुनिया में यह स्कूल सबसे पुराने माने जाते है और शोधकर्ताओं द्वारा यह बात सबूतों के साथ इस तथ्य की पुष्टि हुई है। 

ALSO READ :दुनिया की सबसे पुरानी शराब | TOP 10 OLDEST WINE

हमारी इस दुनिया के सबसे पुराने स्कूलों की लिस्ट में सिर्फ पहले नंबर वाले स्कूल को छोड़कर, बाकी के सभी पुराने स्कूल  यूरोपीय देशों से है , मुख्य रूप से इंग्लैंड में बने हुए हैं और आज भी चलाए जा रहे हैं । यह स्कूल पुराने समय से लेके अभी तक चलाए जा रहे है और उनमें से कुछ अभी भी अपने मूल स्थानों पर ही स्थापित हैं।(Duniya Ke Sabse Purane School)

ALSO READ : दरवाजों का इतिहास : समय के साथ एक सफर 2021

दुनिया के 10 सबसे पुराने स्कूल – 

10. जिमनैजियम कैरोलिनम

सबसे पुराने स्कूल

photo source: Wikimedia Commons

दिखने में नया दिखने वाला स्कूल की इमारत अभी हाल ही के सालों में तैयार हुयीं है परंतु मूल रूप से यह स्कूल काफी पुराना है। ओस्नाब्रुक में स्थित जिमनैजियम कैरोलिनम स्कूल के मुताबिक यह स्कूल जर्मनी का सबसे पुराना स्कूल है।  

एक प्रमाणपत्र जो कि 19 बी शताब्दी में लागू किया गया उसके अनुसार जिमनैजियम कैरोलिनम स्कूल की स्थापना 804 ईशा पूर्व की है ।(Duniya Ke Sabse Purane School)

हालाकि स्कूल का मौलिक ढाँचा समय के साथ बदलता आया है। पहले यह कैथेड्रल स्कूल था और बाद में मॉडर्न  पब्लिक सेकेंडरी स्कूल में बदल गया है। 1970 के दशक से, जिमनैजियम कैरोलिनम स्कूल co-ed स्कूल बन गया है।

रोचक जानकारी ?

1142 में जिमनैजियम कैरोलिनम स्कूल के पहले लिखित शिक्षक मास्टर ब्रुनिगस थे ।

स्कूल की स्थापना – 804 ईशा पूर्व 

जगह – ओस्नाब्रुक, जर्मनी

स्कूल का प्रकार: राज्य विद्यालय (पब्लिक स्कूल)

आयु सीमा:  10 – 19

लिंग:  मिश्रित

ALSO READ :दुनिया के 10 सबसे पुराने YouTubers | TOP 10 OLDEST YouTubers In The World

9. जिमनैजियम पॉलिनम

सबसे पुराने स्कूल

photo source: Wikimedia Commons via Rüdiger Wölk, Münster

797 ईशा पूर्व में स्थापित किया गया यह स्कूल दुनिया के सबसे पुराने स्कूलों में से एक है। माना जाता है कि यह स्कूल जर्मनी के सबसे पुराने स्कूलों में से एक है। 

माना जाता है कि स्कूल की स्थापना Saint Ludger ने की थी जब शारलेमेन ने उन्हें उत्तर-पश्चिमी सैक्सोनी में ईसाई धर्म को बढ़ाने और फैलाने का निर्देश दिया था। 

शुरुआत में सेंट लुगर ने वहां एक मठ का निर्माण किया था और बाद में एक मठवासी स्कूल खोला, गया जो जिमनैजियम पॉलिनम का मूल है।(Duniya Ke Sabse Purane School)

जिमनैजियम पॉलिनम पूर्व में लड़कों का हाई स्कूल था , अब एक co-ed म्युनिसिपल हाई स्कूल है जिसमें बहुत अधिक स्वायत्तता है।(Duniya Ke Sabse Purane School)

 स्थापना वर्ष : 797 सीई

 स्थान:  मुंस्टर, नॉर्थ राइन-वेस्टफेलिया, जर्मनी

 प्रकार:  राज्य विद्यालय (पब्लिक स्कूल)

 आयु सीमा:  10 – 19

 लिंग:  मिश्रित

क्या आप जानते है? 

चूंकि जिमनैजियम पॉलिनम या जिमनैजियम कैरोलिनम दोनों स्कूल में कौन ज्यादा पुराना है इस बात की होड़ लगी हुई है इसलिए दोनों स्कूलों ने 2001 से एक वार्षिक फुटबॉल (सॉकर) मैच आयोजित किया है और विजेता को सबसे “पुराना” स्कूल घोषित किया गया है।(Duniya Ke Sabse Purane School)

ALSO READ :दुनिया के 10 सबसे पुराने दरवाजे | OLDEST DOORS IN THE WORLD

8. शेरबोर्न स्कूल

Duniya Ke Sabse Purane School

photo source: Wikimedia Commons via Steinsky

शेरबोर्न स्कूल की स्थापना 705 सीई में एक कैथेड्रल स्कूल के रूप में की गई थी, जब वेसेक्स के राजा Ine ने शेरबोर्न के बिशप एल्डेल्म को विनचेस्टर के बढ़ते दबाव से दबाव को दूर करने के लिए शहर में एक कैथेड्रल और पादरियों के एक कॉलेज की स्थापना करने का आदेश दिया था।  (Duniya Ke Sabse Purane School)

यह इंग्लैंड में बने हुए के कई पुराने स्कूलों में से एक है, जो एक सहस्राब्दी से भी अधिक समय से लगातार चलाया जा रहा है। 

स्कूल के बारे में सबसे खास बात यह है कि यह तबसे लेके अब तक उसी स्थान पर और लगभग उसी ढांचे में बना हुआ है।  वर्तमान में , शेरबोर्न स्कूल लड़कों का बोर्डिंग स्कूल बना हुआ है, लेकिन कुछ दिनों से यह छात्राओं को भी स्वीकार करने लगा है।(Duniya Ke Sabse Purane School)

क्या आप जानते है ?

1977 में, शेरबोर्न स्कूल ने गैर-ब्रिटिश छात्रों के लिए एक  बोर्डिंग स्कूल खोला था जिसका नाम , शेरबोर्न इंटरनेशनल स्कूल था।  जो बोर्डिंग स्कूलों में अध्ययन करने के लिए आगे बढ़ने से पहले अपने अंग्रेजी भाषा कौशल में सुधार करना चाहते हैं।

स्थापना वर्ष : 705 ईशा पूर्व 

स्थान:  शेरबोर्न, डोरसेट, इंग्लैंड

प्रकार:  स्वतंत्र (निजी) बोर्डिंग स्कूल

आयु सीमा:  13 – 18

लिंग:  लड़के

ALSO READ :दुनिया के 10 सबसे महान और प्रसिद्ध वैज्ञानिक | TOP 10 SCIENTIST

7. बेवर्ली ग्रामर स्कूल

Duniya Ke Sabse Purane School

photo source: Geograph UK

लिस्ट में शामिल अन्य तरह इस स्कूल की भी सही स्थापना तिथि अज्ञात है। बेवर्ली ग्रामर स्कूल के अनुसार यह स्कूल 700 ईशा पूर्व खोला गया था। इंग्लैंड के सबसे पुराने स्कूलों में से एक यह स्कूल बेवर्ली मिनस्टर खोला गया था।  इस स्थापना तिथि के आधार पर, बेवर्ली ग्रामर स्कूल का दावा है कि यह इंग्लैंड का सबसे पुराना राजकीय स्कूल (पब्लिक स्कूल) है।(Duniya Ke Sabse Purane School)

ALSO READ :दुनिया के 7 सबसे पुराने (रेस्तरां) रेस्टोरेंट्स | DUNIYA KE SABSE PURANE RESTAURANTS

हालांकि बेवर्ली ग्रामर स्कूल एक public स्कूल है और एक अच्छी तरह का पाठ्यक्रम प्रदान करता है, 2002 के बाद से, स्कूल ने इंजीनियरिंग कक्षाओं में खास विशेषज्ञता हासिल की है।  इसके अतिरिक्त, बेवर्ली ग्रामर स्कूल अभी भी एक boys का स्कूल है।(Duniya Ke Sabse Purane School)

 क्या आप जानते है ?

Uk में रहने वाले UK के सबसे धनी व्यक्ति, जिम रैटक्लिफ, जो इनियोस के सीईओ और अध्यक्ष हैं, उन्होंने बेवर्ली ग्रामर स्कूल में पढ़ाई की।

स्थापना वर्ष : 700 ईशा पूर्व 

स्थान:  बेवर्ली, ईस्ट राइडिंग ऑफ़ यॉर्कशायर, इंग्लैंड

प्रकार:  राज्य विद्यालय (पब्लिक स्कूल)

आयु सीमा:  11 – 16

लिंग:  लड़के

ALSO READ :दुनिया की 7 सबसे पुरानी चट्टानें और पत्थर | OLDEST ROCKS

6. रॉयल ग्रामर स्कूल, वॉर्सेस्टर

Duniya Ke Sabse Purane School

photo source: Wikimedia Commons via Newton2

स्कूल का इतिहास काफी पुराना है। इंग्लैंड में स्थित रॉयल ग्रामर स्कूल वॉर्सेस्टर  इंग्लैंड के सबसे पुराने स्कूलों में से एक है। 685 ईशा पूर्व में बिशप बोसेल ने वॉर्सेस्टर में एक धर्मनिरपेक्ष मठवासी स्कूल की स्थापना की।  रॉयल ग्रामर स्कूल वॉर्सेस्टर का पहला लिखित रिकॉर्ड 1265  में मिलता है जब वाल्टर ऑफ कैंटलूप, वॉर्सेस्टर के बिशप ने स्कूल में पढ़ाने के लिए चार पादरी नियुक्त किए थे ।(Duniya Ke Sabse Purane School)

19वीं सदी के आखिरी में, स्कूल को वॉर्सेस्टर को सेंट स्विटुन्स चर्च के पीछे से अपने मूल स्थान से हटाकर अपनी वर्तमान जगह पर स्थानांतरित कर दिया गया था।

क्या आप जानते है? 

रॉयल ग्रामर स्कूल वॉर्सेस्टर इतिहास का बोर्डिंग स्कूल हुआ करता था और इस स्कूल में डॉर्मिटरी में से एक, व्हाईटलेडीज हाउस, चार्ल्स का छिपा हुआ खजाना होने की अफवाह है, हालांकि वह खजाना 17 वीं शताब्दी के अंग्रेजी गृहयुद्ध में स्कूल में छिपा था। (Duniya Ke Sabse Purane School)

स्थापना वर्ष : 685 ईशा पूर्व 

स्थान: वॉरसेस्टर, वोस्टरशायर, इंग्लैंड

प्रकार:  स्वतंत्र (निजी) डे स्कूल

आयु सीमा:  2 – 18

लिंग:  मिश्रित

ALSO READ :दुनिया के 9 सबसे पुराने फोन | DUNIYA KE SABSE PURANE PHONE

5. थेटफोर्ड ग्रामर स्कूल

Duniya Ke Sabse Purane School

photo source: Thetford Grammar School

हालांकि इस स्कूल की वास्तविक स्थापना तारीक कोई नहीं जानता लेकिन स्कूल की स्थापना 631 ईशा पूर्व हुयी होगी ऐसा अनुमान है। स्कूल की स्थापना तब हुयी जब  ईस्ट एंगल्स के राजा सिगबर्ट ने थेटफोर्ड में अपने कोर्ट के लिए एक स्कूल खोला था । (Duniya Ke Sabse Purane School)

Thetford Grammar School के अस्तित्व में आने का का सबसे पहला प्रलेखित इतिहास सिर्फ 1114 साल का  है। Thetford Grammar School का सबसे प्राचीन हिस्सा, जिसे “ओल्ड स्कूल” के रूप में भी जाना जाता है, वह करीब 300 साल पुराना है और स्कूल का बाकी हिस्सा बाद में जोड़ा गया।(Duniya Ke Sabse Purane School)

क्या आप जानते है? 

2017 के बाद से, Thetford Grammar School का  संचालन Thetford Grammar School Limited द्वारा किया जा रहा है, यह कंपनी हांगकांग स्थित चाइना फाइनेंशियल सर्विसेज होल्डिंग्स (CFSH) द्वारा वित्त पोषित Uk की कंपनी है। 

वर्ष स्थापित: 631 ईशा पूर्व 

स्थान:  Thetford, नॉरफ़ॉक, इंग्लैंड

प्रकार:  स्वतंत्र (निजी)

आयु सीमा:  3 – 18

लिंग:  मिश्रित

ALSO READ :दुनिया के 10 सबसे पुराने देश | DUNIYA KE SABSE PURANE DESH

4. सेंट पीटर्स स्कूल

Duniya Ke Sabse Purane School

photo source: Wikimedia Commons

यॉर्क के सेंट पॉलिनस  द्वारा खोला गया यह स्कूल इंग्लैंड के सबसे पुराने स्कूलों में से एक है। स्कूल की स्थापना 627 ईशा पूर्व की गयी। 

इस लिस्ट के अधिकांश अंग्रेजी स्कूलों की तरह, सेंट पीटर स्कूल भी अपने अधिकांश इतिहास के अनुसार के लिए सिर्फ लड़कों का स्कूल था। हालांकि 1970 के दशक से इसमे में जब अन्य boy’s (Duniya Ke Sabse Purane School)स्कूलों ने ल़डकियों को एडमिशन देना शरू किया तभी से इस स्कूल में भी ल़डकियों को पढ़ाया जाने लगा। 

क्या आप जानते है ?

गाइ फॉक्स सहित कई बड़े लोगों ने सेंट पीटर स्कूल में भाग लिया है।

वर्ष स्थापित: 627 ईशा पूर्व 

स्थान:  यॉर्क, इंग्लैंड

प्रकार:  स्वतंत्र (निजी) दिन और बोर्डिंग स्कूल

आयु सीमा:  3 – 18

लिंग:  मिश्रि

ALSO READ :दरवाजों का इतिहास : समय के साथ एक सफर 2021

3. किंग्स रोचेस्टर

Duniya Ke Sabse Purane School

photo source: Flickr via The Local People

इंग्लैंड का दूसरा सबसे पुराना स्कूल किंग्स रोचेस्टर (औपचारिक रूप से द किंग्स स्कूल, रोचेस्टर) को माना जाता है और यह उसी समय से लगातार संचालित होने वाला स्कूल है। इस स्कूल की स्थापना 604 ईशा पूर्व हुआ। (Duniya Ke Sabse Purane School)

ALSO READ :

 स्कूल उसी समय खोला गया था जब रोचेस्टर कैथेड्रल स्कूल खोला गया था और किंग्स रोचेस्टर आज भी उसी जगह में रहते हैं। कैंटरबरी में किंग्स स्कूल के विपरीत, किंग्स रोचेस्टर अभी भी एक कैथेड्रल स्कूल है और रोचेस्टर के डीन स्कूल के शासी निकाय के अध्यक्ष के रूप में कार्य करते हैं।(Duniya Ke Sabse Purane School)

क्या आप जानते है ?

संगीत किंग्स रोचेस्टर स्कूल की पहचान का एक बड़ा हिस्सा है और यह स्कूल दुनिया का सबसे पुराना संगीत बजाने और सिखाने वाला स्कूल है। 

स्थापना वर्ष : 604 सीई

स्थान:  रोचेस्टर, केंट, इंग्लैंड

प्रकार:  स्वतंत्र (निजी) दिन और बोर्डिंग स्कूल

आयु सीमा:  3 – 18

लिंग:  मिश्रित

ALSO READ :दुनिया की 8 सबसे पुरानी झीलें | DUNIYA KI SABSE PURANI JHEELE

2. किंग्स स्कूल, कैंटरबरी

Duniya Ke Sabse Purane School

photo source: Wikimedia Commons

कैंटरबरी में स्थित किंग्स स्कूल की स्थापना 597 ईशा पूर्व की गयी थी जब सेंट ऑगस्टीन के इंग्लैंड आए।  इसे यूरोप का सबसे पुराना मौजूदा स्कूल माना जाता है।  द किंग्स स्कूल  के प्रारंभिक इतिहास के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, लेकिन इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि स्कूल मध्य युग के दौरान कैंटरबरी कैथेड्रल के हिस्से के रूप में चलाया गया था।(Duniya Ke Sabse Purane School)

16  शताब्दी से शुरू में , द किंग्स स्कूल  का इतिहास बेहतर ढंग से प्रलेखित मिलता है। अगली कुछ आने वाली शताब्दियों में, द किंग्स स्कूल कैंटरबरी इंग्लैंड के सबसे प्रतिष्ठित स्कूलों में से एक बन गया।

क्या आप जानते है ?

स्कूल में लड़कियों को पहली बार 1970 के दशक में छठे फॉर्म के लिए किंग्स स्कूल  में भर्ती कराया गया था।  किंग्स स्कूल 1990 से पूरी तरह से सह-शैक्षिक स्कूल है।

स्थापना वर्ष : 597 ईशा पूर्व 

स्थान:  कैंटरबरी, केंट, इंग्लैंड

प्रकार:  स्वतंत्र (निजी) दिन और बोर्डिंग स्कूल

आयु सीमा:  3 – 18

लिंग:  मिश्रित

ALSO READ :भारत के 15 गुमनाम स्वतंत्रता सेनानी | UNKNOWN FREEDOM FIGHTERS OF INDIA

1. शिशि हाई स्कूल

Duniya Ke Sabse Purane School

photo source: Wikimedia Commons

Shishi high school  143-141 ईसा पूर्व से खोला गया था। यह स्कूल चीन के चेंगदू में स्थित है। वर्तमान में यह स्कूल दुनिया का सबसे पुराना मौजूदा स्कूल है।  

यह स्कूल हान राजवंश के दौरान बनाया गया पहला स्कूल था। इसलिए शिशि स्कूल की स्थापना तिथि 143-141 ईसा पूर्व की है। (Duniya Ke Sabse Purane School)

आग लगने के कारण पुराना मूल स्कूल जल गया था और 194 ईशा पूर्व में शीशी स्कूल का दुबारा पुनर्निर्माण किया गया था। तब से, यह स्कूल उसी जगह मौजूद रहा है। 

1902 में शिशी हाई स्कूल में बदलाव हुए और यह एक मॉडर्न स्कूल बन गया और दो साल बाद यह एक हाई स्कूल (चीन में एक वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कहा जाता है) बन गया।(Duniya Ke Sabse Purane School)

क्या आपको पता है ?

शिशी हाई स्कूल चीन में टॉप रैंक वाले उच्च विद्यालयों में से एक है और इस स्कूल में पढ़ने के लिए काफी बड़ा टेस्ट देना होता है। 

स्थापना वर्ष : c.141 – 143 ईसा पूर्व

स्थान:  चेंगदू, सिचुआन, चीन

प्रकार:  पब्लिक हाई स्कूल

आयु सीमा:  15 – 18

लिंग:  मिश्रित

 ALSO READ :दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक

ARTICLE CREDIT 

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.