अनियमित पीरियड्स क्या हैं? महिलाओं के लिए मासिक धर्म का आना बड़ी चिंता का विषय बन जाता है क्योंकि पीरियड्स आने का समय किसी कैलेंडर की तारीक के साथ नहीं आता। कुछ महिलाओं में पीरियड्स 28 दिनों के बाद आ जाता है वही कुछ का 30 दिन बाद और अन्य महिलाएं इंतजार को छोड़ देती है। कभी कभी मासिक धर्म एक महीने को छोड़ कर भी आता है। 

अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

Table of Contents

कितने लोगों को अनियमित मासिक धर्म (पीरियड्स) होते हैं? 

साल 2019 के मार्च में हुए एक अध्ययन में 19 से 54 वर्ष की महिलाओं पर एक विशेष अध्ययन किया गया। महिलाओं की कुल संख्या 4,709 थी। अध्यन के दौरान पाया गया कि कुल महिलाओं का 14% अनियमित पीरियड्स से ग्रसित था। (1) 

एक दूसरे अध्ययन से पता चलता है कि ऐसी महिलाएं जो काम करती है उनमें भी अनियमित मासिक धर्म पाया गया – ऐसी महिलाएं जो बेरोजगारी से ग्रसित है या सर्विस, आधी रात तक या रात भर काम करती है या वह सेल्स गर्ल है तो उन्हें अनियमित मासिक धर्म होने की संभावना अधिक होती है। (2)

पीरियड्स को कब अनियमित समझे? 

स्त्री रोग विशेषज्ञ बताते है कि पीरियड का पहले दिन से लेकर अगले पीरियड के पहले दिन तक 21 से 35 दिन लग सकते हैं। आमतौर पर 28 दिनों का चक्र नॉर्मल पीरियड की गिनती में लिया जाता है। यदि आपको यह पता करना है कि आपका पीरियड नियमित है या अनियमित तो इसके आपको एक आसान से युक्ति अपनानी होगी। 

यह निर्धारित करने के लिए कि आपका मासिक धर्म अनियमित है या नहीं, इसके लिए आपको अपने पिछले  पीरियड के अंतिम दिन से गिनना शरू करना होगा और अपने अगले माहवारी के पहले दिन गिनना बंद कर दें।  इसे तीन महीने तक दोहराएं।  यदि आपके मासिक धर्म को रोकने और शुरू करने के बीच के दिनों की संख्या 21 से 35 दिनों की सीमा से बाहर है, तो आपके पास एक अनियमित मासिक धर्म चक्र है।  (अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

मासिक धर्म को तब भी अनियमित ही माना जाएगा जब आपके पीरियड्स की अवधि 20 दिनों से अधिक बदलती रहती है।  (3)

कुछ पीरियड्स (Menstrual periods) अनियमित क्यों हो जाते हैं?

अनियमित मासिक धर्म होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। जिनमें से कई सुधारने योग्य है और कई ऐसे है जो गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं दर्शाते है। Irregular periods होने के कुछ कारण सुधार योग्य हैं, लेकिन कुछ अन्य कारण महत्वपूर्ण चिकित्सा समस्याओं का संकेत दे सकते हैं।(अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

Polycystic ovary syndrome (PCOS) – 

यह एक metabolic और हार्मोनल विकार है । यह विकार तब होता है जब आपके अंडाशय की अधिवृक्क ग्रंथियां (Adrenal Gland ) पुरुष हार्मोन (Androgen) का ज्यादा उत्पादन करने लगती है और शरीर में इंसुलिन का प्रतिरोध होने लगता है।  (4) शोध बताते है कि दुनिया की 85% महिलाएं PCOS विकार के कारण ही अनियमित मासिक धर्म से गुजर रही होती है।  अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

Thyroid or pituitary disorders – 

हाइपोथायरायडिज्म (जब आपकी थायरॉयड ग्रंथि पर्याप्त थायराइड हार्मोन का उत्पादन नहीं करती है), हाइपरथायरायडिज्म (आपकी ग्रंथि बहुत अधिक उत्पादन करती है), और हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया (आपके रक्त में आपके पिट्यूटरी ग्रंथि से बहुत अधिक प्रोलैक्टिन बनने लगता है , एक हार्मोन है)  यह सारे कारण मासिक धर्म की नियमितता को प्रभावित करते हैं,।  एक अध्ययन में पाया गया कि अनियमित पीरियड्स वाले अध्ययन में 44% प्रतिभागियों को भी थायरॉइड की समस्या थी।  (5)

Pelvic inflammatory disease (PID) –

आम तौर पर यह बीमारी एक से ज्यादा लोगों के साथ सम्भोग करने के कारण फैलती है। इस विकार में महिलाओं के प्रजनन प्रणाली में सूजन आजाती है। पीआईडी ​​​​आमतौर पर यौन संचारित संक्रमणों के कारण होती है।  (6)

अनियमित मासिक धर्म होने के गैर-बीमारी से संबंधित ऐसे कारण  – 

शोधकर्ताओं और महिला रोग विशेषज्ञों के अनुसार अनियमित पीरियड्स के निम्न कारण भी हो सकते हैं :

Perimenopause – 

यानी कि वह अवस्था जब आप Menopause (रजोनिवृत्ति – महिलाओं की वह उम्र (51) जब पीरियड्स बंद हो जाते हैं) में प्रवेश करते है और यह करीब 10 साल तक रहती है। इस प्रक्रिया के दौरान मासिक धर्म का अनियमित होना स्वाभाविक ही है। यदि आप लगातार 2 या 3 बार पीरियड्स को छोड़ चुके है तो इसका अर्थ हुआ कि आप काफी समय पहले से पेरिमेनोपॉज़ में आ चुके थे। (7

शोधकर्ताओं का अनुमान है कि करीब 70% महिलाएं रजोनिवृत्ति के दृष्टिकोण में मासिक धर्म की अनियमितताओं का अनुभव करती हैं। (8)

बहुत ज्यादा व्यायाम और कसरत – 

महिलाओ के लिए बहुत अधिक व्यायाम करना भी पीरियड्स को अनियमित करता है । आपकी तीव्र कसरत का प्रभाव आपके मासिक धर्म को प्रभावित करता है । जब आप बहुत अधिक कसरत krte है तो यह मासिक धर्म के दौरान होने वाले रक्त रिसाव को रोक सकता है और कभी कभी तो यह पूरी तरह पीरियड्स को ही रोज सकता है। (अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

खाने के कारण – 

खाने के विकार के कारण भी यह स्थिति देखने को मिल सकती है। यदि आप बजन कम करने के लिए dieting कर रहे है तब भी। आपका वजन बहुत कम होने पर भी यह समस्या उत्पन्न हो सकती है। 

चिंता और तनाव – 

चिंता और तनाव सिर्फ अनियमित माहवारी ही नहीं ब्लकि कई अन्य गंभीर स्वास्थ्य बीमारियों का कारण बन सकता है। शोध बताते है कि यदि आप बहुत अधिक तनाव और चिंता ग्रस्त होती है तो संभावित है कि आपके मासिक धर्म अनियमित हो जाए। अल्पकालिक चिंता बढ़ाने वाला हार्मोन आपके मासिक धर्म के चक्र को प्रभावित करता है। (अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

उम्र – 

जैसा कि ऊपर हमने बताया कि उम्र के प्रभाव से भी यह स्थिति बन सकती है। पीरियड्स के अनियमित होने के पीछे menopause और Perimenopause जैसी स्थितियों का बड़ा प्रभाव होता है। लेकिन यह युवा महिलाओं में भी हो सकता है यदि एक बार आपका पैटर्न बिगड़ गया फिर इसे ठीक होने में कई साल तक लग सकते हैं।  अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

Birth कंट्रोल – 

गर्भनिरोधक गोलियों खाने से भी आपके मासिक धर्म में अनियमितता देखी जा सकती है। सिर्फ यही नहीं बल्कि IUDs लगवाना भी इसे प्रभावित कर सकता है। 

शिशु को स्तनपान कराने के दौरान अनियमित माहवारी हो सकती है – 

केवल स्तनपान कराने से एमेनोरिया हो सकता है – इसे प्राकृतिक birth control कहा जा सकता है क्योंकि जब आप हाल ही में शिशु को जन्म देती है उसके 6 महीने बाद तक अंडे बनाना प्राकृतिक रूप से बंद हो जाते है जिसके परिणामस्वरुप मासिक धर्म नहीं होता या अनियमित हो जाता है। हालांकि आप पूरी तरह इस पर निर्भर ना रहे, birth control के लिए आप Condom इत्यादि का उपयोग करे। (अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

गर्भपात के बाद अनियमित पीरियड्स हो सकते हैं, गर्भावस्था की हानि – 

अंग्रजी में इसे spontaneous abortion यानी कि सहज गर्भपात भी कहते है। गर्भपात तब होता है जब गर्भावस्था के 20 वें सप्ताह से पहले भ्रूण की मृत्यु कर दी जाती है या भ्रूण की मृत्यु हो जाती है।  20 सप्ताह के बाद, गर्भावस्था के नुकसान को मृत जन्म माना जाता है।  इस तरह की स्थिति बनने के बाद आपके नॉर्मल मासिक धर्म को आने के कुछ महीनों का समय लग सकता है।  अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

क्या अनियमित मासिक धर्म चिंता का विषय है? 

हर साल सिर्फ कुछ महीने में पीरियड्स का अनियमित होना कोई खास चिंता का विषय नहीं है लेकिन यदि आप इसे ज्यादा या लगातार अनुभव कर रहे है तब आपको आपके डॉक्टरों से बात करनी चाहिए। 

जब आप लगातार अनियमित पीरियड्स से गुज़रते रहते है तो यह आपके अंडाशय से जुड़ी बड़ी समस्या हो सकता है। आपको यह सुनिश्चित करने के लिए एक डॉक्टर को देखना चाहिए कि कहीं ओव्यूलेशन समस्या या अन्य कोई स्वास्थ्य की स्थिति इसका कारण तो नहीं है। (अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

यदि आप इस बात से निश्चिंत है कि आपने कोई गर्भनिरोधक गोलियों नहीं खाई ना ही आप Menopause और Perimenopause पर है तो ऐसे में आपको सतर्क रहना चाहिए और जल्दी ही अपने नजदीकी अस्पताल में महिला रोग विशेषज्ञ से मिलना चाहिए। 

उदाहरण के लिए, यदि आप अनियमित पीरियड्स से ग्रसित हैं और उसका कारण PCOS है तो संभावित है कि आप गर्भाशय के कैंसर के खतरे को बढ़ा रहे है,।  अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

क्या मिस हुए पीरियड्स (Missed periods) को भी अनियमित मासिक धर्म (Irregular periods) का हिस्सा माना जाता है? 

कभी कभी आपके मासिक धर्म के चक्र में सुधार करने के लिए पीरियड्स मिस हो सकते है इससे पहले आप अपने किसी डॉक्टर से संपर्क की, आपको यह देखना चाहिए कि इससे आपकी गर्भावस्था में आने की प्रक्रिया में कोई समस्या तो नहीं। यदि है तो आप डॉक्टर से तत्काल मिले।  अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

क्या अनियमित मासिक धर्म को ठीक किया जा सकता है? 

पीरियड्स का अनियमित होना कई तरह से रोका जा सकता है। सबसे पहले तो आपको अपने शरीर पर गौर करना चाहिए कि आप किस तरह की मानसिक और शारीरिक परिस्थियों के साथ पीरियड की अनियमितता का सामना कर रहे हैं। (अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

मान लीजिए आपके अनियमित मासिक धर्म होने के पीछे का कारण तनाव और चिंता है तो इसके लिए आप योग, मेडिटेशन करके ठीक कर सकते हैं। 

  • योग
  • ताई ची
  • विज़ुअलाइज़ेशन
  • संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी
  • बायोफीडबैक 
  • एकात्म ध्यान साधना 

जैसी तनाव प्रबंधन तकनीकों का प्रयास करें। आपके लिए बहुत अधिक व्यायाम करना भी अनियमित मासिक धर्म के लिए जिम्मेदार होता है। इसीलिए आपको अधिक व्यायाम करने से और अधिक खाना खाने से बचना चाहिए। 

नियमित पीरियड्स के लिए आयुर्वेदिक दवाइयाँ – 

आयुर्वेद उपचार हमारे शरीर को प्राकृतिक पोषण देता है। जिससे हानिकारक पदार्थों को नष्ट किया जा सकता है। कई बार हानिकारक तत्वो के कारण आप कई तरह की मानसिक और शारीरिक विकारों से पीड़ित हो जाते है ऐसे में इसका प्रभाव आपके मासिक धर्म पर भी पढ़ सकता है। अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

 इसीलिए आपको स्वस्थ्य रखने के लिए और स्वस्थ्य नॉर्मल पीरियड्स के लिए आपकी नीचे दी गई आयुर्वेदिक सिरप का सेवन करना चाहिए। यह आयुर्वेदिक सिरप वैज्ञानिकों द्वारा प्रमाणित है और पूरी तरह सुरक्षित है। यह आपको कमजोरी से मुक्त करने के साथ खास महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखने के लिए बनाई गई है। (अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

  1. हर्बल महिलाओं के लिए अमृत – महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए (मासिक धर्म की ऐंठन, अनियमित मासिक धर्म विकार, मूड स्विंग, स्त्री दर्द राहत)  

कीमत – 445 rs

अभी खरीदे 

  1. हार्मोनल संतुलन, मासिक धर्म चक्र को नियंत्रित करने के लिए.. 

कीमत – 276 rs

अभी खरीदे 

बार बार पैड बदलने के झंझट से छुटकारा अपनाए Menstrual Cup – 

Menstrual cup

महिलाओ के लिए सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है कि मासिक धर्म के दौरान उन्हें कई तरह के pads बदलने पड़ते है और इसके बाद भी ब्लड बाहर तक निकल आता है। लेकिन अब आपको विज्ञान के इस नए इजात से कई तरह के फायदे हो सकते हैं जिसमें menstrual cup से होने वाले फायदे निम्न है :

  • एक ही menstrual cup सालों तक सुरक्षित रूप से उपयोग किया जा सकता है। 
  • यह आपको pad से ज्यादा आजादी देता है, पैड पुरानी तकनीक थी यह आज की तकनीक है। 
  • Cup पहन कर आप किसी भी तरह के काम कर कसते है, इसमे ब्लड बाहर आने की सारी सम्भावनायें पूरी तरह खत्म हो जाती है। 
  • यह नेचर फ्रेंडली है क्योंकि पैड से बहुत कचरा हो जाता है और महिलाएं इसे फेंकने और लाने ले जाने में शर्म महसूस करती है। लेकिन menstrual cup को फेंकने का झंझट ही नहीं है। 
  • महिलाओं की आजादी का नया साथी है। 
  • पैड से सस्ता और बेहतर। 
  • एक बार ही लेना है बाद में सिर्फ उपयोग करते जाओ। 

Menstrual cup की कीमत सिर्फ 150 रुपये से शुरू है। सबसे खास बात आपको इसे सिर्फ एक बार ही खरीदना है। इसे कैसे उपयोग करना है इसकी सारी जानकारी आपको उसी के अंदर मिल जाती है। विदेशों में बल्कि भारत में भी जागरूक और पढ़ी लिखी महिलाएं इसका उपयोग कर रहीं हैं।  अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

Menstrual cup खरीदने के लिए यहां क्लिक करें… 

क्या आप अनियमित मासिक धर्म के साथ गर्भवती हो सकती हैं?

बिल्कुल हो सकते है। लेकिन कभी कभी आपका अंडा ओव्यूलेट (पुरुष शुक्राणुओं का अंडे को भेद देना) हो पाता है और कभी कभी नहीं। जब आपका अंडा ओव्यूलेट होता है तो आप गर्भवती हो जाती है। बेशक आपका मासिक धर्म नियमित हो लेकिन आपका अंडा ओव्यूलेट नहीं हो रहा तो आप गर्भवती नहीं होती। यदि आपका पीरियड अनियमित है लेकिन आपका अंडा ओव्यूलेट हो रहा है तब भी आप निश्चित रूप से गर्भवती होती है।  अनियमित पीरियड्स क्या हैं?

ऐसा भी हो सकता है कि बिना आप ओव्यूलेट के रक्त रिसाव करने लगे लेकिन इसे असली मासिक धर्म नहीं माना जाएगा। असली मासिक धर्म तब ही माना जाता है जब आप ओव्यूलेट नहीं करते। आप गर्भवती होने से बचने के लिए सम्भोग के समय कुछ अन्य गर्भनिरोधक उपायों का उपयोग कर सकते हैं। (अनियमित पीरियड्स क्या हैं?)

यह भी पढ़े :

पीरियड्स के दर्द से आराम पाने के लिए 12 उपाय – Periods ke Dard ke Gharelu Upay – Remedies For Periods Pain (Menstrual Pain)

क्या आपका पीरियड नॉर्मल है? – Normal Menstrual Cycle IN HINDI

jangho ki khujli ke Karan Aur ilaj | जांघों की खुजली के कारण , इलाज और लक्षण (jock Itching)

ब्रेस्ट (स्तन) साइज बढ़ाने के 10 उपाय | BREAST SIZE Badhane ke Upay

विज्ञान के अनुसार : हस्तमैथुन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह या फायदेमंद | Hastmaithun ke Fayde Aur Nuksaan

पेशाब में जलन और दर्द के कारण और उपचार | Dysuria Treatment

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.