Jeera Ke Fayde Aur Nuksan जीरा भारतीयों रसोईघरों की शान है। तकरीबन हर भारतीय घर में जीरे का उपयोग प्रतिदिन किया जाता है। हालांकि आज जीरा दुनिया में हर जगह उपयोग किया जाता है। जीरे के अनमोल फायदे हैं कि यह दुनिया में करीब करीब हर जगह मसालों में शामिल किया जाता है। 

जीरा यानी कि Cuminum cyminum L जो को जीरे का वैज्ञानिक नाम है। जीरा एक पत्तेदार पौधा है जो चीन, भारत, मध्य पूर्व और भूमध्य क्षेत्र में जमीन पर कम ऊँचा उगता है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

जीरा आज दुनिया भर के सबसे लोकप्रिय मसालों में से एक है। पिछले एक दशक से जीरे पर कई तरह के शोध किए गए जिस वज़ह से जीरे से होने वाले स्वास्थ्य फायदे पर विशेष ध्यान आकर्षित हुआ। अब  जीरा चिकित्सा अनुसंधान का विषय बन गया है,  और जैसा कि पता चला है कि जीरे के महत्त्वपूर्ण स्वास्थ्य फायदे है ।

प्राचीन काल से ही जीरा मानव आहार में शामिल हो चुका था। जीरा मुख्य रूप से भारत और चीन के मध्य पूर्व, भूमध्यसागरीय हिस्से में उगाया जाता है। दुनिया भर में बेचे जाने वाला जीरा इन्हीं देशों से हर जगह जाता है। अमेरिका में जाने वाला लगभग पूरा जीरा भारत से ही जाता है। खड़े जीरे का उपयोग तड़का लगाने के लिए और पिसे हुए जीरे का उपयोग मसाले के रूप में और जीरे का तेल का उपयोग इत्र बनाने में और कई स्वास्थ्य स्थितियों को ठीक करने के लिए उपयोग किया जाता है।(Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

शोधकर्ता जीरे से होने वाले जिन फायदों को सिद्ध करते हैं, उसमे से अधिकांश लाभ आपके पाचन, प्रतिरक्षा प्रणाली और परिसंचरण से संबंधित हैं।  जीरे के कुछ लाभों को नैदानिक ​​अध्ययनों से प्रदर्शित किया जा सकता है, जबकि जीरे से होने वाले कुछ फायदों को अभी पूरी तरह सिद्ध करना कठिन है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

जीरा सिर्फ आपके खाने के स्वाद को ही नहीं बढ़ाता बल्कि यह आपके शरीर को कई तरह के मानसिक और शारीरिक लाभ पहुंचाता है। दुनिया में किसी भी देश की अपेक्षा भारत में जीरे की खपत सबसे अधिक है। 

मसालों की बड़ी सूची में कोई भी मसाला जीरा के कई लाभों और इसकी अनूठी सुगंध और स्वाद से मेल नहीं खा सकता है। जीरा में एल्डिहाइड नामक फाइटोकेमिकल यौगिक में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसीलिए यह औषधीय गुणों को प्रदर्शित करता है जो मधुमेह, मिर्गी, ट्यूमर से लड़ते हैं और हमारी प्रतिरक्षा को बढ़ाते हैं।(Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

बालों को तेजी से बढ़ाने के 9 तरीके – Balo Ko Teji Se badhane Ke Tarike

Table of Contents

जीरा के प्रकार – Types Of Cumin In Hindi 

आयुर्वेदिक चिकित्सा के अनुसार जीरा तीन प्रकार का होता है। 

  • सफेद जीरा 
  • काला जीरा
  • अरण्य जीरा (जंगली जीरा) 

हमारे घरों में सामन्यतः सफेद जीरा उपयोग में लिया जाता है। सफेद जीरा मुख्य रूप से मसाले की तरह खाने में उपयोग होता है। काले और सफेद जीरे में कोई ज्यादा फर्क नहीं होता। यदि आप इसका फर्क करना चाहते है तो आप इनकी कीमत के अनुसार कर सकते हैं क्योंकि काला जीरा सफेद जीरे से महँगा होता है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksaan) 

जीरा के फायदे – 

कई सदियों और पीढ़ियों से, इंसानो ने जीरे का उपयोग अपच और दस्त से लेकर सिरदर्द तक की स्थितियों के इलाज के लिए किया है। भारत में लोगों ने जीरे का उपयोग गुर्दे और मूत्राशय की पथरी, नेत्र रोग और यहां तक ​​कि कुष्ठ रोग के इलाज के लिए किया है।(Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

अब, वैज्ञानिक अनुसंधानकर्ताओं ने कुछ ऐसे प्रमाण खोजे  हैं जो जीरे के ईन पारंपरिक उपयोगों में से कई का समर्थन करते हैं

भूख ना लगने के कारण, लक्षण और इलाज | Causes, symptoms And Treatment of Loss of Appetite In Hindi

आज हम आपको जीरे होने वाले स्वास्थ्य फायदों के बारे में बतायेंगे –

जीवाणुरोधी गुणों से भरपूर होता है जीरा – 

कुछ हानिकारक bacteria हमारे आस-पास चारों ओर फैले हुए रहते है और ये किसी भी तरह हमारे शरीर के भीतर पहुच सकते हैं। जैसे कि अधिकतर bacteria खराब पानी या हवा के जरिए हमारे शरीर में पहुँच कर हमे बहुत बीमार कर सकते हैं। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksaan) 

वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि जीरा कुछ ऐसे bacteria को खत्म करने में सक्षम है जो हमे बीमार कर सकते हैं। लैब में शोध के दौरान जीरे को bacteria के प्रभाव को कम करते हुए और उन्हें खत्म करते हुए देखा गया है। 

जीरा को सूक्ष्मजीवों के विकास को सीमित और कम करने के लिए दिखाया गया है, जिसमें ई कोलाई- बैक्टीरिया शामिल है जो खाने की विषाक्तता  (Food poisoning) का कारण बन सकता है।

यहीं कुछ कारण है कि भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में जीरे को शामिल किया गया और भारतीय घरों के आहार का मुख्य हिस्सा बना। घरेलू नुस्खों के तौर पर भी पेट खराब होने पर जीरे और काले नमक का पानी दिया जाता है। 

जीरे के तेल में लार्विसाइड और Antiseptic होते हैं। शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि जीरा ऐसे हानिकारक बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली पर हमला करने की कोशिश करते हैं।  (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

एंटीऑक्सीडेंट से युक्त – 

जीरा Antioxidants से भरपूर होता है। जीरे में पाए जाने वाले कुछ प्राकृतिक पदार्थ ऐसे होते है जो Antioxidants की भूमिका निभाते है। जीरे में पाए जाने वाले इन यौगिकों को एपीजेनिन और ल्यूटोलिन कहा जाता है। यह Antioxidant हमारे शरीर में oxidative स्ट्रेस के कारण बनने वाले फ्री रैडिकल के प्रभाव को कम करने का काम करते हैं। 

फ्री रैडिकल को कैंसर के अलावा कई अन्य जानलेवा बीमारियों से जोड़ा गया है। एंटीऑक्सिडेंट आपको स्वस्थ और अधिक ऊर्जावान महसूस करने में मदद करते हैं, और वे आपकी त्वचा को बूढ़ी त्वचा को ज़बां दिखाने में मदद करते हैं।(Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

कैंसर के लिए जीरे के फायदे – 

जीरा oxidative stress को कम करता है जिसके परिणामस्वरूप हमे मुक्त कणों से छुटकारा मिलता है। जैसा कि हमने ऊपर जाना कि फ्री रैडिकल कैंसर के खतरे को सबसे ज्यादा बढ़ाते है और यदि हम जीरे का सेवन करते है तो काफी हद तक हम कैंसर के जोखिम को कम कर सकते हैं। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

शोधकर्ताओं द्वारा किए गए कुछ प्रयोगों के अनुसार, जीरा कैंसर कोशिकाओं को गुणा करने की क्षमता रखता है।  वह कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने का काम करता है। चूहों पर हुए एक अध्ययन में पाया गया कि , जिन चूहों को जीरा खिलाया गया था, उन्हें कोलन कैंसर से बचाया गया था। 

इसी प्रकार एक अन्य अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया कि नौ लोकप्रिय जड़ी-बूटियों और मसालों में से तुलसी और जीरा सबसे शक्तिशाली एंटीकार्सिनोजेन (Anti carcinogen) पौधे थे।

कैंसर फैलने की मुख्य वज़ह है कि जब हमारे शरीर के सेल्स यानि कि कोशिकाएँ अपने नियंत्रण से बाहर हो जाए। इस तरह की कोशिकाओं का संग्रह ट्यूमर होता है। यह कोशिकाएँ पूरी तरह असमान्य होती है जो यदि शरीर में कहीं भी गयी तो नुकसान पहुँचना तय है। कई जानवरों के अध्ययन में, वैज्ञानिकों ने पाया है कि जीरा विभिन्न प्रकार के ट्यूमर के विकास को रोक सकता है, जिसमें यकृत, पेट और पेट के कैंसर के कारण भी शामिल हैं।  (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

दस्त के इलाज के लिए जीरा के फायदे – 

हज़ारों साल पहले से जीरे का उपयोग पारंपरिक इलाज के रूप में किया जाता रहा है। भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सा में भी दस्त को ठीक करने के लिए जीरे का उपयोग बताया जाता है। आज के आधुनिक युग में जब जीरे पर दस्त के लिए शोध किए गए तो नतीजे चौका देने वाले थे। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

शोधकर्ताओं ने जीरे के अर्क का उपयोग चूहों के ऊपर किया जो दस्त से पीड़ित थे और अर्क देने बाद चूहे एकदम स्वस्थ्य हो गए।  शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि अर्क ने उनके लक्षणों को ठीक करने में मदद की।

फलों और सब्जियों के बचे हुए छिलकों के 20 महत्त्वपूर्ण उपयोग – Uses Of Fruits And Vegetables Peels IN HINDI

ब्लड शुगर को कम करने के लिए जीरा के फायदे – 

डायबिटीज़ की दवाइयों के परीक्षण के समय जीरे का उपयोग किया गया था। जीरे के साथ जो दवाई बनकर तैयार हुयी उससे डायबिटीज़ से पीड़ित लोगों को राहत मिली। दवा ने मधुमेह वाले लोगों को उनकी स्थिति का प्रबंधन करने में सफलतापूर्वक मदद की।

इसके बाद शोधकर्ताओं ने कई अन्य शोध भी किए जो कि जानवरों पर हुए और शोध से पता चला कि जीरा ब्लड शुगर को नियंत्रित करने का काम करता है। जीरा तेल एक हाइपोग्लाइसेमिक एजेंट है इसलिए यह ब्लड शुगर को कम करने में सहायक होता है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

जीरे का उपयोग परंपरागत रूप से एक मधुमेह विरोधी दवा के रूप में किया जाता रहा है, एक अध्ययन में पाया गया है कि जीरा खाने से रक्त में यूरिया को कम करने में मदद मिल सकती है – यूरिया एक कार्बनिक यौगिक जो आपके शरीर में इंसुलिन के प्रति प्रतिक्रिया करने के तरीके में हस्तक्षेप कर सकता है। 

जीरे में होते हैं Anti-inflammatory गुण – 

जीरा आपकी सूजन और दर्द को कम करने में मदद कर सकता है ।जीरा anti-inflammatory गुणों से भरपूर है। इसका मतलब यह हुआ कि यदि आप दर्द और सूजन से जुझ रहे है तब जीरे का सेवन ना सिर्फ आपकी सूजन को कम करेगा बल्कि आप के दर्द को कम करने में सहायक होता है। यदि आप निरंतर जीरे का सेवन करते है तो आपका शरीर काफी कुछ बेहतर कार्य करता है। 

चूहों पर किए गए शोध के अनुसार पता चलता है कि सिर्फ जीरे का तेल ही नहीं बल्कि खड़ा जीरा भी दर्द और सूजन को कम करने में सहायक होता है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए जीरे के फायदे – 

जीरे में पाए जाने वाले hypolipidemic यौगिक हमारे शरीर के भीतर बढ़ते हुए खराब cholesterol के स्तर को कम करने में सहायक होता है। जीरा हानिकारक cholesterol और फैट को कम करके, हमारे हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का काम करता है। 

किए गए कुछ अध्ययन में पाया गया कि जीरा खराब cholesterol के स्तर को कम करने में सहायक होता है। एक अध्ययन में दही में जीरा पाउडर मिलाकर खाने वाले लोगों में कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिली।  उच्च कोलेस्ट्रॉल वाले लोगों के एक अन्य समूह को जीरा खाने के बाद लाभकारी परिणाम मिले। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

धूम्रपान COVID-19 के जोखिम को कैसे बढ़ाता है? – SMOKING vs CORONAVIRUS

वजन घटाने के लिए जीरे के फायदे – 

जीरा में कम कैलोरी होती है। तमाम तरह की ग्रुप स्टडी में यह पाया गया कि जीरा वजन घटाने के लिए उपयोगी हो सकता है। हालांकि इस मामले में और अधिक वैज्ञानिक अध्यन की आवश्यकता है। 

अध्यन के दौरान अधिक वजन वाली महिलाओं को जीरा का सेवन कराया गया एक निश्चित अवधि के बाद उनमें वजन की कमी नोट की गयी। इसी प्रकार के एक और अध्ययन में अधिक वजन वाली पुरुष और महिला आबादी को जीरे का पाउडर सेवन कराया गया और उनलोगों में भी वजन की कमी देखी गयी। (1)

अनिद्रा दूर करने के लिए जीरा के फायदे – 

जीरे में पाए जाने वाले तत्व hypnotic होते है जो आपको निद्रा अवस्था में लाते हैं। यह आपके मन को शांत और स्थिर करता है । सिर्फ यही नहीं बल्कि जीरा में  तनाव और चिंता को कम करता है जो आमतौर पर सबसे ज्यादा अनिद्रा का कारण बनता है।  

इसके अलावा, जीरा में मेलाटोनिन (नींद लाने वाला घटक) , नींद को नियंत्रित करने वाला हार्मोन होता है। इसके अलावा जीरे में महत्वपूर्ण मात्रा में आयरन और मैग्नीशियम होता है, जो मस्तिष्क की गतिविधि को विनियमित करने और समय पर नींद लाने के लिए बेहद आवश्यक हैं। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

याद्दाश्त बढ़ाने के लिए जीरे के फायदे – 

आपकी कमजोर याददाश्त को बेहतर और तेज करने के लिए जीरे में पर्याप्त खनिज और पोषक तत्व पाए जाते हैं। जीरे में पाए जाने वाले कुछ यौगिक जैसे कि राइबोफ्लेविन, विटामिन बी6, ज़ेक्सैन्थिन और नियासिन जैसे खनिजों और विटामिन आपके मस्तिष्क को बेहतर स्मरण शक्ति प्रदान करते हैं। जीरा का सेवन मस्तिष्क के ठीक से काम करने के लिए फायदेमंद होता है। 

जीरा हमारे मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए उपयोगी है, जीरा हमारे मस्तिष्क की कोशिकाओं को अतरिक्त पोषण देकर हमारे मस्तिष्क की प्रक्रियाओं को सरल और स्वस्थ बनाता है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

अपने ब्यूटी रूटीन में नींबू का इस्तेमाल करने के 6 तरीके | Top 6 Uses Of Lemon for Beautiful Skin

अस्थमा और सर्दी के लिए जीरे के फायदे – 

जीरा के फायदे के बारे में जानकर आपको हैरानी होगी लेकिन जीरे में Anti Inflammatory, Antibacterial, और Antifungal गुण होते हैं। इसी कारण से जीरा सर्दी ज़ुकाम और अस्थमा जैसे रोगों के लिए उपयोगी है। जीरे को अस्थमा और सर्दी के इलाज के लिए एक अद्भुत उपाय माना जाता है ।  जीरा एक expectorant के रूप में कार्य करता है, और श्वसन पथ में जमे कफ और बलगम को ढीला करता है और इसे खत्म करके बाहर निकाल देता है।

जीरे का तेल एक कीटनाशक की भाँति प्रभावी है यह आपके शरीर से सभी अनवांछित bacteria virus आदि को खत्म करने का काम करता है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

कील मुंहासे से छुटकारा दिलाकर त्वचा को आराम देता है – 

जीरा त्वचा को साफ और प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए भी उपयोगी हो सकता है। जीरे में Anti Inflammatory गुण होते है, यदि आपकी त्वचा पर किसी ने डंक मार दिया है तो जीरा इसे समान्य कर सकता है। यह त्वचा को शांत करता है और एलर्जी के कारण होने वाली किसी भी सूजन को नियंत्रित करने में सहायता करता है। 

जीरे के एंटी-बैक्टीरियल गुण आपकी त्वचा पर मौजूद बैक्टीरिया को मारने में मदद करते हैं और मुंहासों को ठीक करते हैं।  यदि आप अपनी त्वचा को बेहतर करना चाहते है तो दिन में अक्सर जीरे के पानी से अपना चेहरा धोना प्रारंभ कर दे जिससे त्वचा में होने वाले संक्रमण से बचा जा सकता है।(Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

चेहरे के लिए घर पर बनाए 10 घरेलू Face Scrub | TOP 10 Best Homemade Face Scrubs In Hindi

Irritable bowel syndrome (IBS) के लक्षणों में सुधार करने के लिए जीरा के फायदे – 

चिढ़चिढ़ा आंत विकार बेहद कष्टदायी बीमारी है। इसे ठीक करने में और इसके लक्षणों में सुधार करने के लिए जीरा उपयोगी हो सकता है। शोधकर्ताओं ने ऐंठन, पाचन ऐंठन, मतली और चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम (IBS) से जुड़े सूजन के इलाज के लिए जीरे के अर्क का मूल्यांकन किया है। शोधकर्ता कहते है जीरे के अर्क से इस तरह के विकारों में आराम मिल सकता है। 

एक अध्ययन के दौरान जब ऊपर बताये गये विकारों से पीड़ित लोगों को जीरे के अर्क का सेवन कराया गया तो उन्हें इससे तब तक आराम मिला जब तक वे इसका सेवन करते रहे। यानी कि जीरा पेट से जुड़े विकारों को ठीक करने में सहायक होता है।  (2)

शोधकर्ता बताते है कि जीरा इस तरह से विकारों से निबटने का सबसे उपयोगी और सस्ता तरीका है खासकर IBS जैसे विकारों के लिए। जीरा उन लोगों द्वारा आसानी से उपयोग किया जा सकता है जिनके पास IBS जैसी बीमारी को ठीक करने के लिए महँगी दबा खरीदने के पैसे नहीं है। 

सारांश – 

जीरा कैंसर की कोशिकाओं के विकास को रोकने के लिए उपयोगी है। यह आपके पेट से जुड़े विकारों को ठीक करने के लिए सुरक्षित और फायदेमंद है। जीरा आपकी यादाश्त को बढ़ाने के लिए भी जिम्मेदार होता है। इस सब के अतिरिक्त यह आपके दर्द और सूजन को कम करने में सहायक होता है। जीरा खाना आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

अब हम हम आपको जीरे से जुड़े कुछ घरेलू नुस्खे बतायेंगे जो आपके लिए फायदेमंद साबित हो होंगे – 

भूख ना लगने के लिए जीरे का उपयोग – 

यदि आपको भूख नहीं लगती तो आपके लिए जीरा काफी फायदेमंद हो सकता है। भूख की कमी को दूर करने के लिए आप खाने से दो घंटे पहले एक छोटा चम्मच जीरा पाउडर के साथ हल्का काली मिर्च पाउडर मिलाकर गुनगुने पानी में पीए। निश्चित ही आप की भूख में सुधार होगा। यह आपकी स्वाद कलिकाओं को प्रभावी ढंग से उत्तेजित करेगा और अंतर्ग्रहण भोजन के अवशोषण में भी सुधार करेगा।(Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

खट्टी डकार और Acidity को खत्म करने के लिए जीरे का उपयोग – 

समय पर भोजन ना करने या कुछ अधिक तैलीय भोजन करने से acidity होना स्वाभाविक है इसलिए पेट की एसिडिटी को बेअसर करने के लिए आधा गिलास गुनगुने पानी में 1 चम्मच जीरा पाउडर और आधा चम्मच धनिया पाउडर मिलाकर थोड़ी चीनी मिलाकर खाने से बीस मिनट पहले पिएं। आप चाहे तो इसमे नमक और हल्की काली मिर्च भी मिला सकते हैं। इससे आपकी acidity और खट्टी डकार दूर हो जाएगी और मल त्यागने में भी आसानी होगी। 

दस्त ठीक करने के लिए जीरा के फायदे – 

दस्त ठीक करने का दादी माँ का यह नुस्खा शायद आप पहले से जानते हो लेकिन यह काफी प्रभावी है। दस्त में आराम पाने के लिए एक चम्मच हल्का भुना हुआ जीरा चूर्ण ले , कुछ सोंठ और 3-4 सौंफ को गर्म पानी में मिलाकर दिन में तीन बार भोजन के बाद पीए घोल को लेने से दस्त में आराम मिलता है।(Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

बिच्छू के काटने पर करे जीरे का उपयोग – 

दोस्तों ग्रामीण क्षेत्रों में बिच्छू अधिकतर लोगों को डंक मार देते हैं ऐसे में बिच्छू का जहर बेहद दर्दनाक और खतरनाक होता है। हाल में बिच्छू काटने पर आप अस्पताल जाने से पहले अपने प्रभावित जगह पर जीरा और नमक को शहद और ghee में मिलाकर लगाएं इससे दर्द भी कम होगा और जहर भी उतरने लगेगा। हालांकि फिरभी आपको अस्पताल जाना चाहिए। 

बवासीर के लिए जीरा के फायदे – 

बवासीर रोगी अपने दर्द को ठीक करने के लिए जीरे का पानी पीए और हो सके तो काले जीरे को डालकर पानी में उबाल ले और पानी से मस्से की सिकाई करे इससे दर्द में भी आराम मिलेगा और सूजन भी कम होगी। 

हिचकी बंद करने के लिए जीरे के फायदे – 

हिचकी बंद करने के लिए जीरे पाउडर को या जीरे को चिलम या किसी अन्य चीज़ में भरकर धुम्रपान करे तुरंत लाभ मिलेगा। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

पेट के कीड़े मारने के लिए जीरे के फायदे – 

15 ग्राम जीरे को 500 मिलीग्राम पानी में उबालें जब घोल एक चौथाई बचे तो इसे सुबह शाम पीए। 

स्तनों में दूध बढ़ाने के लिए जीरा के फायदे – 

कई महिलाओ की यह समस्या है कि उनके स्तनों में पर्याप्त दुध नहीं निकलता इसलिए दुध की मात्रा बढ़ाने के जीरा बेहद उपयोग है। जीरे को ghee में भुने और आटे को भी ghee में भुने और दोनों को मिलाकर लड्डू बनाकर खाए, जल्दी ही आपके स्तनों में दुध की मात्रा बढ़ जाएगी। 

पेशाब में जलन और दर्द के कारण और उपचार | Dysuria Treatment

जीरा के नुकसान और दुष्प्रभाव – Side-Effects Of Cumin In Hindi 

आम तौर पर जीरा बेहद फायदेमंद है, और शोधकर्ता बताते है कि जीरे की ज्यादा खुराक भी नुकसान नहीं पहुंचाती। लेकिन फिर भी जांच के दौरान कुछ साक्ष्य मिले है कि यदि आप इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके बारे में जागरूक होने के लिए कुछ साइड इफेक्ट्स हैं।

जीरे की जाँच के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि अत्याधिक जीरे का सेवन टेस्टोस्टेरोन (पुरुष हार्मोन ) के स्तर को दबाता है, जिसका अर्थ है कि अगर आप एक पुरुष है और जीरे का अत्याधिक सेवन कर रहे है तो यह आपको को कम उपजाऊ बना सकता है। सरल शब्दों में स्पष्ट किया जाए तो अत्याधिक जीरे का सेवन आपकी मर्दानगी को कम कर सकता है। (Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

कुछ प्राचीनतम संस्कृतियों द्वारा जीरे का उपयोग गर्भपात को ट्रिगर करने के लिए एक पदार्थ के रूप में किया गया है, इसलिए जो महिलाएं गर्भवती हैं या गर्भवती होने की कोशिश कर रही हैं उन्हें कम जीरे का सेवन करना चाहिए।

सारांश – 

बहुत बड़ी खुराक में भी जीरा लेना सुरक्षित है। लेकिन शोधकर्ताओं को कुछ ऐसे सबूत मिले हैं कि यह पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को दबा सकता है और महिलाओं में गर्भपात को भी ट्रिगर कर सकता है। इसलिए यदि आप बच्चा पैदा करने की सोच रहे है तो सीमित मात्रा में जीरे का सेवन करे ।(Jeera Ke Fayde Aur Nuksan) 

यह भी पढ़े :

अंगूर खाने के फायदे | Angoor Khane Ke Fayde – Health Benefits of grapes in Hindi

बादाम खाने के फायदे और नुकसान – TOP 15 Almonds Benefits and Side Effects in Hindi

चाय के फायदे और नुकसान – Tea Benefits And side effects In Hindi

आलू के फायदे और नुकसान – Aalu Ke Fayde Aur Nuksaan – Health Benefits Of Potatoes In Hindi

Haldi ke Fayde Aur Nuksaan | हल्दी के फायदे और नुकसान | BENEFITS OF TURMERIC

केसर खाने के फायदे | kesar khane ke Fayde | BENEFITS OF SAFFRON

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.