मखाने उपयोग कई तरह के मीठे और नमकीन व्यंजन बनाने के लिए किया जाता है। मखाने के बारे में एक खास और अच्छी बात यह भी है कि इन्हें कच्चा और पका कर दोनों ही तरह से खाया जा सकता है। भारत में मखाने को व्रत के दौरान भी खाया जाता है। मखाने में पाए जाने वाले पोषक तत्व हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए बढ़ावा देते है । 

दुनिया भर में मखाने अपने स्वास्थ्यवर्धक गुणों के कारण सदियों से स्नैक्स के रूप में खाए जा रहे हैं। मखाने खाने के असंख्य फायदे है। मखाने में कई ऐसे गुण होते है जिसके कारण मखाने को चीनी और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में शामिल किया गया था। मखाने आपकी किडनी की स्वस्थ्य करते है और हमारी किडनी हमारे पूरे शरीर को। 

यदि हम अन्य ड्राई फ्रूट्स की बात करे तो बादाम, अखरोट, काजू और बाकी सभी सूखे मेवे पोष्टिक महत्व के मामले में फॉक्स नट्स यानि कि मखाने की तुलना में काफी कम पड़ जाते हैं। भारतीय व्यंजनों में मखानो का भरपूर उपयोग किया जाता हैं। खाने को अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए  उन्हें ghee और मसालों के छिड़काव के साथ भुना जाता है।  आइए जानते हैं मखाने से जुड़े कुछ खास फायदों के बारे में।

मखाने खाने के फायदे

मखाना के पोषक तत्व – 

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि मखाने बेहद स्वास्थ्यवर्धक होते इसीलिए इनमे पाए जाने वाले पोषक तत्व भी, उच्च स्वास्थ्य प्रदान करने वाले है। मखाने में फैट की मात्रा कम होती है और ये प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होते हैं। कम फैट के कारण यह आपके दिल को सा स्वस्थ्य रखने के लिए बेहतर उपाय है। 

करीब 100 ग्राम मखाने से करीब 347 कैलोरी ऊर्जा मिलती है।

मखाने में लगभग 9.7 ग्राम प्रोटीन और 14.5 ग्राम फाइबर होता है।  मखाना कैल्शियम का बहुत अच्छा स्रोत है।

इनमें मैग्नीशियम, पोटेशियम और फास्फोरस भी अच्छी मात्रा में होते हैं। मखाने में कुछ विटामिन भी पाए जाते है जो कम मात्रा में मौजूद होती हैं।

मखाने खाने के स्वास्थ्य फायदे –

  • प्रोटीन से भरपूर – मखाने खाने का सबसे बड़ा लाभ है कि आप सिर्फ मुट्ठी भर मखाने खाकर अच्छी-खासी प्रोटीन प्राप्त कर लेते हैं। यही कारण है कि भारत में उन्हें व्रत में खाने के लिए सबसे अच्छा माना गया है क्योंकि आप जरा से मखाने खाकर पूरे दिन की ऊर्जा प्राप्त कर लेते हैं। मखाने प्रोटीन से भरपूर होते हैं और आपको पूरा दिन ऊर्जावान रखने के लिए उपयोगी है। ज्यादतर स्नैक्स तेल में तले हुए होते हैं लेकिन आप एक कटोरी मखाने खाकर पूरे दिन स्वस्थ्य रह सकते हैं। 
  • बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करते हैं मखाने – मखाने पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि फॉक्स नट्स हमारी त्वचा को साफ और चमकदार बनाने के लिए उपयोगी है। इसीलिए यह हमारे लिए बेहतरीन एंटी-एजिंग भोजन के रूप में काम करते हैं। मखाने में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होते है जिसके कारण हमारा यह हमारे शरीर के oxidative stress को कम करते है और एक अच्छे Anti Aging एजेंट के रूप में कार्य करते हैं। यदि आप हर दिन एक मुट्ठी भर मखाने खाए तो यह आपको जवां दिखाने के लिए काफी है। लेकिन आपको यह ध्यान देना चाहिए इन्हें कच्चा ही खाए तल कर नहीं। 
  • डायबिटीज रोगियों और हृदय रोगियों के लिए मखाने एक बेहतरीन स्नैक फूड है – क्योंकि इनमें अच्छा फैट होता है और इनमें खराब वसा की मात्रा कम होती है।  ये गुण मखाने को वजन घटाने वाला अच्छा भोजन बनाते हैं।
  • बेहतर पाचन तंत्र – बेहतर पाचन तंत्र के लिए आपको मखाने का सेवन करना चाहिए क्योंकि इनमे फाइबर उच्च मात्रा में होता है। फाइबर हमारी पाचन क्रिया को सुचारू करते है और नियमित और आसान मल त्याग में मदद करते है। ऐसे लोग जो पेट से संबंधित विकारों से पीड़ित है उनके लिए मखाने खाना सबसे स्वस्थ्य है ।
  • शरीर से दूषित पदार्थों को साफ करने के लिए मखाने के फायदे – मखाने को बेहतरीन डिटॉक्सिफाइंग एजेंट माना जाता हैं।  वे हमारे शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करते हैं। मखाने हमारे शरीर में कोशिकाओं को खत्म करने वाले कणों (spleen) को साफ करते है और यह RBC (लाल रक्त कोशिकाओं) को पुन: चक्रित करते है।  तिल्ली (spleen) प्रतिरक्षा प्रणाली का तंत्रिका केंद्र है क्योंकि यह सफेद रक्त कोशिकाओं और प्लेटलेट्स को भी स्टोर करती है।
  • प्रजनन क्षमता और यौन सुख को बढ़ाने के लिए मखाने के फायदे – मखाने मर्दानगी को बढ़ाने के साथ साथ बांझपन को खत्म करते है। यही नहीं मखाने के सेवन से आप यौन शक्ति को बड़ा सकते है जिससे शीघ्रपतन, Erectile Dysfunction, जैसे विकारों को खत्म किया जा सकता है और पुरषों के वीर्य की स्वस्थ्य करता है । वही महिलाओं में यह बांझपन की समस्या का समाधान करने में सहायक होते हैं। यह आपके पार्टनर को और आपको अधिक यौन सुख प्राप्त करवा सकते हैं। 
  • ऊर्जा का उच्च स्त्रोत – मखाने में बेहद कम मात्रा ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है जिसका मतलब है कि इसके कारण खून में ग्लूकोज धीरे-धीरे घुलता हैं। यही कारण है कि मखाने आपको पूरे दिन भरा हुआ और ऊर्जावान महसूस कराते हैं।
  • Allergy से छुटकारा – कुछ लोगों को गेहूं से एलर्जी होती है ऐसे लोगों के लिए मखाने सबसे उपर्युक्त खाद्य पदार्थ है क्योंकि वे लस मुक्त होते हैं और प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट में भी उच्च होते हैं।
  • खनिजों से भरपूर मखाने – मखाने खनिजों से युक्त होते है और इनमे Magnesium और पोटेशियम उच्च मात्रा में पाया जाता है। मखाने में पाया जाने वाला उच्च पोटेशियम और कम सोडियम हाई ब्लड प्रेशर  से पीड़ित रोगियों के लिए एक अच्छा संयोजन है। क्योंकि पोटेशियम ब्लड प्रेशर को कम करता है और सोडियम इसे बढ़ाने का काम करता है। मखाने वजन को कम करने के लिए स्वादिष्ट स्नैक्स है। ऐसे लोग जो आए दिन अपने हाई ब्लड प्रेशर के कारण परेशान है उनके लिए मखाने का नास्ता सबसे अच्छा उपाय है। 
  • सूजन रोधी और anti-bacterial गुणों से भरपूर – सूजन को कम करने के लिए मखाने में एक प्राकृतिक यौगिक पाया जाता है। केम्पफेरोल नामक यह यौगिक किसी भी तरह की सूजन को प्राकृतिक रूप से कम करने में सहायक होता है। मखाने के एंटी inflammatory गुणों के कारण डायबिटीज़ , गठिया, पुराना दर्द जैसी अधिकांश  बीमारियों में सूजन होना स्वाभाविक है ऐसे में मखाने का सेवन करके आप ना सिर्फ अपनी सूजन को कम करते है बल्कि इसमे पाए जाने वाले जीवाणुरोधी गुण आपके शरीर को स्वस्थ बनाते  हैं।
  • हड्डियों और दांतों के लिए मखाने के फायदे – मखाने ना सिर्फ हमे सूजन इत्यादि से बचा सकते है बल्कि मैग्नीशियम और पोटेशियम हमारे ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रख सकते हैं। इसके अलावा मखाने में calcium भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो ना सिर्फ हमारी हड्डियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए उपयोगी है बल्कि हमारे दांतों के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है।
  • तंत्रिका तंत्र के लिए फायदेमंद – मखाने में थायमिन की उच्च मात्रा होती है। जिसका अर्थ है कि वे हमारे शरीर के संज्ञानात्मक कार्यों में भी मदद करते हैं।  मखानो का सेवन शरीर को एसिटाइलकोलाइन का उत्पादन करने में मदद करता है और इस प्रकार मखाने का सेवन करने से हमारी न्यूरोट्रांसमिशन की प्रक्रिया में मदद मिलती है।  हमारी तंत्रिकाओं के अच्छे कामकाज को बनाए रखने के लिए न्यूरोट्रांसमिशन की यह प्रक्रिया बेहद महत्वपूर्ण होती है।

प्रतिदिन कितने मखाने खाना चाहिए? 

चिकित्सक बताते है कि मखाने खाने के लिए हमे अपने शरीर पर ध्यान देना चाहिए कि वह किस चीज के लिए कितना तैयार है। फिर भी यह अनुमान लगाया गया है कि 100 ग्राम मखाने में लगभग 347 कैलोरी होती है।  इसके अलावा, 100 ग्राम मखाने में निम्न पोषण सामग्री शामिल है – 

  1. 9.7 ग्राम प्रोटीन
  2. 0.1 ग्राम वसा
  3. 76.9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट 
  4. 14.5 ग्राम फाइबर 

शामिल हैं। और हमे उसे पोषण सामग्री के आधार से ही खाना चाहिए। इसका मतलब है कि आपको अपनी आवश्यकताओं के सापेक्ष पर्याप्त मात्रा में मखाने खाना चाहिए। उदाहरण के लिए, यदि आप वजन घटाने का लक्ष्य रखते हैं, तो रोजाना 30 ग्राम फॉक्सनट का सेवन करना सबसे फायदेमंद होता है।  

हालांकि, यदि आप अपनी विशिष्ट आवश्यकताओं के आधार पर मखाने के दैनिक सेवन के बारे में और अधिक विस्तार से जानना चाहते हैं तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। आप चाहें तो पोषण विशेषज्ञ या आहार विशेषज्ञ से परामर्श करके अपने सवालों के जवाब ले सकते है।

मखाने खाने के नुकसान – (side effects of Makhana In Hindi) 

आम तौर पर मखाने खाने के कोई दुष्प्रभाव नहीं होते लेकिन इनका अत्यधिक सेवन करने से कुछ समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है। 

  • मखाने के अत्याधिक सेवन से पेट से संबंधित विकार जैसे कब्ज, गैस, और पेट फूलने जैसी पाचन संबंधी समस्याए हो सकती है। 
  • मखाने का अत्याधिक सेवन आपके शरीर से ब्लड शुगर के स्तर को काफी कम कर सकता है क्योंकि मखाने के अत्याधिक सेवन से मधुमेह के रोगियों में इंसुलिन के स्तर में वृद्धि से रक्त शर्करा का स्तर काफी कम हो सकता है। इसलिए मखाने के अधिक सेवन से बचना चाहिए।
  • कुछ लोगों की मखाने खाने से allergy हो सकती है ऐसे लोगों को भी मखाने का सेवन नहीं करना चाहिए। 

उच्च गुणवत्ता वाले मखाने खरीदने के लिए यहां क्लिक करें… 

यह भी पढ़े :

बादाम खाने के फायदे और नुकसान – TOP 15 Almonds Benefits and Side Effects in Hindi

केसर खाने के फायदे | kesar khane ke Fayde | BENEFITS OF SAFFRON

रात को हल्दी वाला दूध पीने के फायदे | BENEFITS OF TURMERIC MILK | 2021

पुदीना के 17 स्वास्थ्य फायदे | Pudina ke Fayde | BENEFITS OF MINT

जमीन पर सोने के फायदे और नुकसान | JAMEEN PAR SONE KE FAYDE | 2021

शहतूत के फायदे , उपयोग और नुकसान – Mulberries Benefits, Uses And Side-Effects In Hindi

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.