Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan प्याज का उपयोग दुनिया भर के लोगों के लिए इतना आम है कि शायद की ऐसा कोई नमकीन पकवान हो जो बिना प्याज के बनाया जाता हों। लेकिन सोचने वाली बात यह है कि हम सभी नित्य प्याज का सेवन करते है, लेकिन क्या आप जानते है कि हमारे पूर्वजो ने प्याज को मुख्य आहार के रूप में शामिल क्यों किया होगा? प्याज के फायदे और नुकसान क्या है?

 बेशक प्याज का स्वाद भी एक मुख्य वजह रहा होगा कि लोगों ने इसे अपने आहार में स्वीकार किया लेकिन सिर्फ स्वाद ही नहीं प्याज के अन्य भी कई फायदे है जो आपको निश्चित रूप से कई स्वास्थ्य फायदे पहुँचाते है। ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

भारतीयों के लिए प्याज का उपयोग सबसे ज्यादा स्वाभाविक है और हर रोज हर घर में प्याज को खाया जाता है, पका कर भी और कच्चा भी। दोनों ही तरह से अलग अलग स्वास्थ्य फायदे मिलते हैं। 

अलग अलग क्षेत्रों में प्याज खाने के अलग मायने देखने को मिलते हैं जैसे कि प्याज के बिना तड़का अधूरा है, वही प्याज के बिना सलाद भी पूरा नहीं माना जाता। गर्म इलाक़ों में रहने वाले लोग मानते है कि प्याज खाने से लू (गर्म हवाएं – lapat) नहीं लगती। आप शायद प्याज के कुछ अन्य विशेष स्वास्थ्य फायदों से वाकिफ़ ना हो, लेकिन प्याज खाने से आप कैंसर, घटिया और मधुमेह जैसी बीमारियों से भी बच सकते हैं। 

प्याज को फूलों के पौधों के एलियम जीनस के सदस्य माना जाता हैं, जिनमें लहसुन, shallots, लीक और चिव्स भी शामिल हैं।

इन सब्जियों में विभिन्न विटामिन, खनिज और पौधों के शक्तिशाली यौगिक होते हैं जिन्हें कई तरह से मानव शरीर के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए दिखाया गया है। 

प्राचीन काल से ही प्याज के औषधीय गुणों को मान्यता दी गई है, पुराने समय में प्याज का उपयोग सिरदर्द, हृदय रोग और मुंह के छाले जैसी बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता था।

आज हम प्याज से बारे में विस्तार से समझते हैं, इस जानकारी में हम प्याज के भिन्न पहलुओं को शामिल करेंगे जैसे कि – प्याज क्या है? प्याज के प्रकार, प्याज का इतिहास, प्याज के फायदे, प्याज के उपयोग, प्याज के नुकसान । तो चलिए शरू करते है, और जानते है कि? 

Table of Contents

प्याज क्या है? What is Onion In Hindi? 

मित्रों प्याज को वैज्ञानिक आधार पर सब्जियों की श्रेणियों रखा गया है। चुकीं प्याज का उपयोग सिर्फ नमकीन पकवानों में होता इसलिए भी इसे सब्जी की श्रेणी में रखना काफी तर्कसंगत माना जा सकता है। प्याज का वैज्ञानिक नाम Allium Cepa है । लगभग दुनिया के हर हिस्से में आज प्याज उगाया और खाया जाता है। प्याज का उपयोग मुख्य रूप से सब्जियों की gravy, चटनी, और इसके रस का उपयोग कई तरह के औषधिक स्वास्थ्य स्थितियों में किया जाता है। प्याज का स्वाद हल्का तीखा और तेज होता है। इसीलिए इसे कच्चा काटने पर आँखों में जलन (झरप) हो सकती है। 

वही यदि हम प्याज के पौधें पर गौर करते है तो शोधकर्ता इसे एक तना मानते है। ऐसा तना जिसका मुख्य हिस्सा जमीन के अंदर रहता है और जड़े उसके भी नीचे।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

प्याज की उत्पत्ति और इतिहास – Origin And History of Onion In Hindi 

प्याज दुनिया की सबसे पुरानी खेती करने वाली सब्जियों में से एक है। प्याज सबसे पहले मध्य एशिया में उत्पन्न हुआ और बाद में पूरी दुनिया में फैलता चला गया। आधुनिक पुरातत्वविद, वनस्पतिशास्त्री और इतिहासकार प्याज की पहली खेती का सही समय और स्थान निर्धारित करने में असमर्थ हैं (क्योंकि यह एक ऐसी सब्जी है जो खराब होने वाली है और इसकी खेती बहुत ही कम या कोई निशान नहीं छोड़ती है), लेकिन फिर कुछ लिखित रिकॉर्ड हमें प्याज की उत्पत्ति के बारे में एक बहुत ही रोचक तस्वीर पेश करने में सक्षम बनाते हैं। ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

प्याज के इतिहास और उत्पत्ति के बारे में दो प्रमुख विचारधारा है, जिसमें माना जाता है कि प्याज 5,500 वर्ष पूर्व एशिया में उगाये गए। कुछ वैज्ञानिक मानते हैं कि यह मध्य एशियाई क्षेत्र में उगाये गए और कुछ मानते है कि प्याज को मध्य पूर्व एशिया में ईरान और पश्चिमी पाकिस्तान में बेबीलोनियाई संस्कृति द्वारा पालतू बनाया गया था।

वही वैज्ञानिकों का एक तबका ऐसा भी है जो मानता है कि प्याज काफी पहले से अस्तित्व में हैं करीब तबसे जब कोई उपकरण और लेखन नहीं होते थे ना ही खेती होती थी। प्याज प्राचीन मिस्र में 5,500 साल पहले, भारत और चीन में 5,000 साल पहले, सुमेरिया में 4,500 साल पहले उगाए जाते थे।

भारतीय चिकित्सा ग्रंथ चरक संहिता द्वारा विभिन्न हृदय, जोड़ों, पाचन संबंधी बीमारियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण उपचारों में से एक के रूप में माना गया है, और प्राचीन ग्रीस में न केवल चिकित्सकों द्वारा, बल्कि इसके द्वारा भी भारी मात्रा में उपयोग किया जाता है। ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

प्याज के प्रकार – Types Of Onion In Hindi 

प्याज के भिन्न प्रकार होते हैं लेकिन इनमे से कुछ प्रमुख प्रजातियां हम आपको यहा बता सकते हैं। देखा जाए तो प्याज की इतनी अधिक प्रजाति हो गयी है कि सबका वर्णन यहा कर पाना संभव नहीं है। इसीलिए हम आपको भारत के कुछ मुख्य प्याज की प्रजातियों के बारे में बताते हैं :

  • लाल प्याज – कच्चा खाने योग्य, हल्का मीठा स्वाद, उपरी परत का रंग मैजेंटा
  • पीला प्याज – इसकी गन्ध सल्फर की तरह होती है, अंदर से पूरी तरह सफेद और बाहरी परत भूरी होती है। 
  • सफेद प्याज – सफेद होता है, हल्का मीठा। 
  • मीठा प्याज – उपरी खाल हल्की अपारदर्शी, स्वाद में मीठा। 
  • शैलोट्स – अंदर से बैंगनी और ऊपर से भूरा, आकार में छोटा दिखने वाला यह प्याज काफी पसंद किया जाता है। 
  • हरा प्याज – प्याज पूरी तरह विकसित होने से पहले ही ईस्तेमाल किया जाता है। जिसमें पत्ते भी होते है। 

प्याज में पाए जाने वाले पोषक तत्व – Nutrition value Of Onion In Hindi 

स्वास्थ्य के लिहाज से कच्चा प्याज आपके लिए सबसे अधिक फायदेमंद हो सकता है क्योंकि प्याज में कैलोरी बहुत कम मात्रा में होती है, प्रति 100 ग्राम प्याज में मात्र 40 कैलोरी होती है। ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

ताजे वजन से, प्याज में 89% पानी, 9% कार्ब्स और 1.7% फाइबर होता हैं, जिनमें थोड़ी मात्रा में प्रोटीन और वसा (फैट) होता है। (1) (विश्वसनीय स्त्रोत) 

प्रति 100 ग्राम कच्चे प्याज में मुख्य पोषक तत्व हैं  :

  • फैट – 0.1%
  • कैलोरी – 40 
  • शुगर – 4.2 ग्राम 
  • पानी – 89%
  • फाइबर – 1.7 ग्राम – प्याज फाइबर का एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है। प्याज में पाए जाने वाले फाइबर हमारी आंतों में मौजूद bacteria के खाने के रूप में फायदेमंद होता है। प्याज का फाइबर फ्रुक्टेन नामक स्वस्थ घुलनशील फाइबर में बहुत समृद्ध होता हैं।  फ्रुक्टेन तथाकथित प्रीबायोटिक फाइबर हैं, जो आपके आंत में फायदेमंद बैक्टीरिया को खिलाते हैं। यह शॉर्ट-चेन फैटी एसिड (SCFA) के गठन की ओर जाता है, जैसे ब्यूटायरेट, जो कि आपकी कोलन स्वास्थ्य में काफी सुधार कर सकता है, यह सूजन को कम कर सकता है, और कोलन कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक होता है। 
  • प्रोटीन – 1.1 ग्राम 
  • Carbs – 9.3 ग्राम  – कच्चे और पके दोनों प्रकार के प्याज में लगभग 9-10% कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है । इनमें ज्यादातर साधारण शुगर होती है, जैसे ग्लूकोज, फ्रुक्टोज और सुक्रोज, साथ ही फाइबर। 

प्याज हमारी सेहत के लिए कितना फायदेमंद है? 

प्याज के औषधि गुणों के कारण इसे सब्जियों में प्रमुख स्थान दिया गया है। प्याज पूरी तरह से हमारे स्वास्थ को बेहतर बनाने के लिए सुरक्षित और फायदेमंद है। प्याज में पाए जाने वाले पोषक तत्व खास तौर से पोटेशियम, फाइबर, Folate, Iron, vitamin B6, और vitamin C का प्रमुख स्त्रोत माना जाता है। सिर्फ यही नहीं बल्कि प्याज में अन्य कई प्रकार के खनिज पाए जाते हैं जैसे कि Magnesium जो कि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करके हमे ठंड और जुकाम से बचाता है।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

प्याज कई तरह के फाइटोकेमिकल्स से भरपूर होता है जिनसे से मुख्य – एलील डिसल्फाइड और एलियम है। प्याज में पाए जाने वाले यह phytochemical बाद में एलिसिन में परिवर्तित हो जाते हैं। वैज्ञानिकों द्वारा किए गए कई अध्यन इस बात की पुष्टि करते है कि एलिसिन हमे कैंसर और डायबिटीज़ जैसी जानलेवा बीमारियों से बचाने में सक्षम है। (3)

प्याज में पाए जाने वाले यौगिक हमारी नसों के दबाव को कम करके उनकी सूजन कम कर सकते है।इसी कारण से से यह हमारे ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करने का काम भी करता है। वही प्याज में क्वेरसेटिन नामक यौगिक पाया जाता है जो कि एक Antioxidants की तरह काम करता है । (4)

प्याज के यह गुण इसे सूजन रोधी बनाते है वही यदि बात की जाए प्याज के तेल की तो यह भी बेहद स्वास्थ्यवर्धक होता है। प्याज के तेल में कई महत्त्वपूर्ण स्वास्थ्य गुण होते हैं। प्याज के तेल के मुख्य गुणों में एंटीबैक्टीरियल , Antiseptic और Antioxidants गुण होते हैं। (5)

हालांकि प्याज इतने सारे गुणों से भी किसी बीमारी का इलाज नहीं किया जा सकता बल्कि बीमारी से पीड़ित होने से बचा जा सकता है।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

कच्चा प्याज vs पका प्याज 

दोनों ही प्रकार के प्याज खाने के अपने अलग अलग शरीरिक और मानसिक फायदे होते हैं। लेकिन यदि हम विस्तार से देखे तो पता चलता है कि कच्चा प्याज पके प्याज के मुकाबले अधिक फायदेमंद हो सकता है। 

                  कच्चा प्याज                       पका प्याज 
कच्चा प्याज अधिक organic सल्फर युक्त होता है। कच्चे प्याज की उपरी खाल में अधिक Antioxidants और फ्लेवोनोइड पाए जाते हैं।
इसीलिए अगली बार प्याज काटने से पहले ध्यान दे की आप उसकी उपरी खाल को कम से कम हटाए। (6)

Copper और फाइबर में सबसे समृद्ध। Copper मानसिक विकास के लिए महत्पूर्ण घटक होता है। फाइबर पेट से संबंधित सभी विकारों को ठीक करने के लिए उपयोगी होता है। 
प्याज का आचार रखे और खाए ध्यान रखे कि बाजर से पका हुया प्याज या अचार ना ले बल्कि अपने घर पर ही बनाए। 

  Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan –

प्याज के फायदे – 

जैसा कि हम सभी जान चुके है कि प्याज में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड्स हमारे शरीर को कई बड़ी बीमारियों से बचा सकते हैं। किसी भी फल और सब्जी में पाया जाने वाला चिप चिपा पिगमेंट फ्लेवोनोइड्स ही होता है।  अध्ययनों से पता चला है कि फ्लेवोनोइड्स पार्किंसंस रोग, हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि प्याज के अन्य कई फायदे हैं जो निम्न है :

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर –

प्याज मे पाए जाने वाले यौगिक antioxidants से भरपूर होते हैं। Antioxidants ऐसे यौगिक होते है जो हमारे शरीर में होने वाले oxidative स्ट्रेस को कम करने का काम करते हैं। oxidative स्ट्रेस के कारण कैंसर जैसे घातक रोग होने का मुख्य कारण बनता है।

 Antioxidants ऑक्सीकरण को रोकते हैं, oxidative स्ट्रेस के कारण हमारे शरीर में फ्री रैडिकल बड़ जाते है, यह एक प्रक्रिया है जो सेलुलर क्षति (cells को नुकसान) की ओर ले जाती है और कैंसर, मधुमेह और हृदय रोग जैसी बीमारियों में योगदान करती है।Antioxidants इसे रोकने का काम करते हैं।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

प्याज एंटीऑक्सीडेंट का बहुत अच्छा स्रोत है।  वास्तव में, उनमें 25 से अधिक विभिन्न प्रकार के फ्लेवोनोइड एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। (7) 

लाल प्याज में सबसे ज्यादा एंथोसायनिन पाया जाता है जिसके कारण इस प्याज को लाल रंग मिलता है। एक अध्ययन में पाया गया कि जो लोग ज्यादा एंथोसायनिन का सेवन करते है उन्हें ह्रदय रोग की कोई समस्या नहीं होती। कहा जा सकता है कि प्याज खाने से आप अपने ह्रदय स्वास्थ्य को बेहतर रख सकते हैं। (8)

इसी प्रकार के एक और अध्ययन में , 93,600 महिलाओं पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि जिन महिलाओं ने एंथोसायनिन युक्त खाद्य पदार्थों का सबसे अधिक सेवन किया, उनमें सबसे कम सेवन करने वाली महिलाओं की तुलना में दिल का दौरा पड़ने की संभावना 32% कम थी। (9)

सरल शब्दों में कहा जा सकता है कि लाल प्याज एंथोसायनिन से भरपूर होते हैं, जो कि प्याज के शक्तिशाली  रंगद्रव्य हैं। यह हृदय रोग, कुछ कैंसर और मधुमेह से बचा सकते हैं।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

डायबिटीज़ 

प्याज शुगर जैसी बीमारी को ठीक करने में आपकी मदद कर सकता है। प्याज डायबिटीज़ को नियंत्रित करने के लिए किस तरह काम करता है इसके लिए वैज्ञानिकों द्वारा कई तरह के शोध किए गए जिनमे से एक अध्ययन चूहों पर किया गया।

अध्यन में इस बात के सबूत मिले की प्याज का रस डायबिटीज़ को कम करने में सहायक हो सकता है। प्याज में पाए जाने वाला एक यौगिक क्रोमियम ब्लड शुगर को कम करने में सहायक होता है इसके अतरिक्त प्याज में Antioxidants, सल्फर और क्वेरसेटिन व एंटीडायबिटिक गुण होते है । प्याज के यह गुण ब्लड शुगर को कम करने के लिए सकारात्मक योगदान करते हैं। (10)

हालांकि प्याज मधुमेह का इलाज नहीं है लेकिन प्रतिदिन प्याज का सीमित मात्रा में सेवन करके हम शुगर जैसी प्राण घातक बीमारियों से बच सकते हैं। 

हड्डियों को मजबूत करने के लिए करे प्याज का सेवन – 

“ऑस्टियोपोरोसिस” बड़ती उम्र में यह एक आम रोग माना जाता है इस रोग के कारण हमारी हड्डियां कमजोर होकर टूटने लगती है और यह प्रक्रिया बढ़ती हुयी उम्र के साथ शुरू होने लगती है। प्याज का सीमित सेवन आपको ऑस्टियोपोरोसिस जैसी स्थिति से बचा सकता है।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक अध्ययन में देखा गया कि जो महिलाएं प्रतिदिन प्याज का सेवन करती है। उनकी हड्डियाँ ज्यादा मजबूत पायी गयी वही जिन महिलाओं ने प्याज नहीं खाया उनकी हड्डियाँ कमजोर पायी गयी। प्याज खाने वाली महिलाओं की हड्डियां प्याज ना खाने वाली महिलाओं से 10% मजबूत पायी गयी थी। (11) यदि आपकी उम्र 45 साल के ऊपर है तो आपको प्याज खाना शुरू कर देना चाहिए। 

प्याज में पाए जाने वाला एक यौगिक क्वेरसेटिन अर्थराइटिस के प्रभाव को कम कर सकते हैं। क्वेरसेटिन के प्रभाव से ल्यूकोट्रिएन, प्रोस्टाग्लैंडिंस और हिस्टामाइन के प्रभाव को पूरी तरह निष्क्रिय किया जा सकता है नतीजतन आप हड्डी के रोग से बच सकते हैं। (12)

प्याज का सीमित सेवन करके आप हड्डियों के कई रोग से बचने के साथ ही जोड़ों के दर्द से भी आराम पा सकते हैं।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

कैंसर – 

प्याज में भरपूर Antioxidants पाए जाते है इसीलिए विशेषज्ञ कैंसर के प्रभाव को कम करने के लिए प्याज खाने की सलाह देते हैं। प्याज में क्वेरसेटिन(एक Antioxidants की तरह काम करता है) व एंथोसायनिन Antioxidants हमारे शरीर से oxidative तनाव को कम करके हमे कैंसर से बचाने में मदद करते हैं। शोधकर्ता बताते है कि प्याज खाने से आंत और स्तन कैंसर को रोका या कम किया जा सकता है। 

प्याज में पाए जाने वाले Antioxidants खास तरह से कैंसर से ग्रसित कोशिकाओं को रोकने का काम करते है ताकि यह और ज्यादा ना बढ़े। Antioxidant का मुख्य काम है कि ये हमारे शरीर में फ्री रैडिकल यानी कि मुक्त कणो को बनने से रोकते है जो कि oxidative तनाव के कारण बनते है।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

शरीर में मुक्त कणों का होना ही कैंसर के लिए सुचारु अवस्था है। लेकिन प्याज में पाए जाने वाले Antioxidants इसे रोकने में मदद कर सकते हैं। 

प्याज का सीमित मात्रा में सेवन करके मुँह के कैंसर से भी बचा जा सकता है। (13)

रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए प्याज के फायदे – 

प्याज आपकी रोगग्रस्त होने की संभावना को कम करने में सहायक हो सकता है क्योंकि ये आपको अंदर से मजबूत बनाने का काम करता है। हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के Vitamin c का महत्त्व सबसे अधिक माना जाता है।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

और प्याज में पर्याप्त विटामिन c पायी जाती है। विटामिन C के अतरिक्त प्याज में phytochemical भी पाए जाते है जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करके हमे स्वस्थ्य रखने का काम कर सकते है । प्याज में सेलेनियम भी पाया जाता है जो हमारी प्रतिक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। 

विटामिन C मुक्त कणों के प्रभाव को कम करने में मदद करती है। इस प्रकार प्याज का सीमित सेवन करके हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बड़ा सकते हैं। यह हमारे शरीर से toxic पदार्थ को बाहर निकालने में मदद करता है। (14)

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए प्याज के फायदे – 

हमने ऊपर जाना कि प्याज फाइबर से भरपूर होता है। प्याज में मौजूद फाइबर आपके अच्छे पाचन को देने में मदद करते है। प्याज खाने से आप नियमित रहते है (प्रतिदिन सुचारु रूप से मल त्याग) करते है। इसके अतिरिक्त, प्याज में एक विशेष प्रकार का घुलनशील फाइबर होता है जिसे ओलिगोफ्रक्टोज कहा जाता है, यह फाइबर आपकी आंतों में अच्छे बैक्टीरिया (आंत में पाए जाने वाले फायदेमंद bacteria) के विकास को बढ़ावा देता है।  (15)

2005 क्लिनिकल गैस्ट्रोएंटरोलॉजी और हेपेटोलॉजी में  एक अध्ययन में पाया गया कि ओलिगोफ्रक्टोज दस्त के प्रकारों को रोकने और उनका इलाज करने में मदद कर सकता है। यानि कि प्याज खाने से आप दस्त की संभावना भी कम करते है।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

प्याज में फाइटोकेमिकल्स जो मुक्त कणों को नष्ट करते हैं, नेशनल प्याज एसोसिएशन के अनुसार, गैस्ट्रिक अल्सर के विकास के आपके जोखिम को भी कम कर सकते हैं।

प्याज में कुछ प्राकृतिक प्रोबायोटिक्स भी पाए जाते है जो आपको नित्य रखने में और कब्ज से दूर रखते हैं। (16) पेट के अन्य विकार जैसे पेट के कीड़े, आँव इत्यादि में भी प्याज का सेवन फायदेमंद है। 

यौन संबंध बेहतर बनाने के लिए प्याज के फायदे – 

 यदि अबतक आप प्याज को सिर्फ निम्न स्तर की सब्जी समझते रहे है तो यह आपकी बड़ी भूल है क्योंकि प्याज सिर्फ एक सब्जी ही नहीं बल्कि एक औषधि है। प्राचीन काल से ही प्याज को पुरषों की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार माना गया है। हाल ही में हुए कुछ शोध भी इस बात की पुष्टि करते है कि प्याज खाने से आप यौन संबंध बनाने में बेहतर प्रदर्शन कर पाते है। यदि आप प्याज का सेवन करते है तो निश्चित ही आप की यौन क्षमता विकसित होगी।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि के सेवन से टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्तर में वृद्धि होती है। यह पुरुष हार्मोन है और मर्दों के मर्दानगी के लिए मुख्य माना जाता है। प्याज के सेवन से टेस्टोस्टेरोन का स्तर नियन्त्रित रहता है जिससे पुरषों की प्रजनन क्षमता में काफी सुधार किया जा सकता है। (17)

मुहं के लिए प्याज के फायदे – 

यूँ तो प्याज खाकर मुहँ में बदबू आती है लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि प्याज आपके मुहँ के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। दरअसल कच्चा प्याज खाने से आपका मुहँ का स्वास्थ्य अच्छा रहता है। जैसा कि हम सभी जानते है कि प्याज में सल्फर की प्रचुर मात्रा पायी जाती है और प्याज में पाए जाने वाले इस सल्फर के दो यौगिक हमारे मुहँ के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

 थियोसल्फोनेट्स और थायोसल्फ्रेट्स यह दोनों प्याज के सल्फर में पाए जाते है और हमे मुहं में सड़ने वाले bacteria और दांतों को सड़ने से बचाते है। यह हमारे दांतों की मजबूत, स्वस्थ्य और साफ रखते है। प्याज मे विटामिन c होती है जो आपके दांतों के लिए बेहतर होती है। प्याज खाकर आप मुहँ के कैंसर से भी बचा जा सकता। (18)

कान के दर्द से निजात दिलाने के प्याज के फायदे – 

पुराने ज़माने में यह नुस्खे अधिक ईस्तेमाल किए जाते थे हालाकि आज भी जिन्हें जानकारी है बे लोग इसका उपयोग कर रहे हैं। नुस्खा है कि प्याज का रस कान में डालने से, कान का दर्द ठीक हो जाता है। हालांकि इस तरह के उपचार का कोई वैज्ञानिक समर्थन नहीं है, लेकिन कान के दर्द के लिए यह उपचार काफी पुराने समय से इस्तेमाल किया जा रहा है। हमारा मानना है कि ऐसा कोई नुस्खा अपनाने से पहले आपको अपने डॉक्टर से परामर्श जरुर कर लेना चाहिए।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

जीवाणुरोधी गुणों से युक्त – 

प्याज कई खतरनाक bacteria से लड़ने में सक्षम है और यह Escherichia coli (E. coli), बैसिलस सेरेस , स्टैफिलोकोकस ऑरियस और स्यूडोमोनास एरुगिनोसा जैसे जीवाणुओं से मुकाबला कर सकता है। (19)

 

आज के समय में डूबी दुनिया भर में लोग Vibrio cholera से पीड़ित हो रहे है ऐसे में प्याज आपको इससे निजात दिला सकता है। प्याज इस bacteria से होने वाली इस बीमारी को रोकने के लिए उपयोगी है। (20)

शोधकर्ता बताते है कि प्याज में पाया जाने वाला एक यौगिक Quercetin जीवाणुओं से लड़ने में सक्षम है ।और यह मजबूती से bacteria से लड़ता है और उन्हें खत्म करने की क्षमता रखता है। 

सरल शब्दों में समझा जाए तो प्याज को E. Coli और एस. ऑरियस जैसे संभावित हानिकारक बैक्टीरिया के विकास को रोकने के लिए दिखाया गया है। 

सूजन कम करने के लिए प्याज में होते हैं Anti-inflammatory गुण – 

प्याज का का उपयोग सूजन को कम करने के लिए भी किया जा सकता है। 1990 में इंटरनेशनल आर्काइव्स ऑफ एलर्जी एंड एप्लाइड इम्यूनोलॉजी जर्नल में हुए एक अध्ययन में पाया गया कि प्याज में जो सल्फर पाया जाता है वह आपको सूजन को कम करने में सहायक हो सकता है। 

इसी प्रकार के कुछ और शोध अमेरिका जर्नल ऑफ फिजियोलॉजी में हुए जंहा पुष्टि हुयीं की प्याज का एक यौगिक Quercetin हमारे फेफड़ों के ऊपर के पाइप जिसे विंड पाइप भी कहते है या हिन्दी में वायु मार्ग बोलते है। शोध से पता चला कि क्वेरसेटिन वायुमार्ग को आराम देता है जिससे अस्थमा जैसी स्थिति को कम किया जा सकता है या उससे बचाव हो सकता है। (21)

आँखों के लिए उपयोगी प्याज के फायदे – 

बेशक प्याज काटना आपको अच्छा ना लगता हो लेकिन यह आपकी आँखों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। कहा जाता है कि प्याज खाने से आपकी आँखों की रोशनी बड़ाई जा सकती है। शोधकर्ताओं ने पाया कि ग्लूटाथिओन (प्रोटीन का एक प्रकार) मोतियाबिन्द और आँखों से संबंधित अन्य विकारों को रोकने के लिए उपयोगी है। प्याज खाने से आपके आपके भीतर इस प्रोटीन का निर्माण अधिक होता है और आप आँखों के विकारों से सुरक्षित होते हैं। यह खास प्रोटीन हमारी बॉडी में किसी Antioxidant की तरह कार्य करती है और सफेद और काले मोतियाबिन्द जैसी स्थिति को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है। (22) 

खाद्य सुरक्षा एजेंसियां बताती है कि प्याज में कुछ मात्रा में सेलेनियम भी पाया जाता है और सेलेनियम खास विटामिन E के स्त्रोत के रूप में जाना जाता है। विटामिन E हमारी आँखों को स्वस्थ्य रखने के लिए सबसे महत्वपूर्ण vitamin मानी जाती है। इस प्रकार से हम प्याज को आँखों के लिए स्वस्थ्य सब्जी मान सकते हैं।  (23)

खांसी और बुखार के लिए प्याज का उपयोग है फायदेमंद – 

यदि आप बुखार से बार बार ग्रसित हो जाते है तो ऐसे में आपको प्याज का उपयोग जरूर करना चाहिए। बुखार या खांसी के लिए प्याज का उपयोग कोई नया नहीं है बल्कि नुस्खा सालों पुराना और आजमाया हुआ है। भारतीय लोग बुखार या खांसी के लिए प्याज का पारंपरिक रूप से करते आए है। (24) (25)(26)

इसी प्रकार का एक और पुराना नुस्खा है कि यदि आपकी नाक से खून निकलता है तो आप इसे प्याज का धुआ लेकर ठीक कर सकते हैं। खांसी के लिए शहद के साथ हल्का प्याज का रस मिलाकर सेवन करे निश्चित ही फायदा मिलेगा। हालांकि यह सभी नुस्खे कितने प्रभावी है इसके लिए और अधिक अध्ययन की आवश्यकता है। 

महिलाओं के Menopause के लिए उपयोगी – 

Menopause यानि कि वह स्थिति जब महिलाओं को मासिक धर्म आना बंद हो जाता है और यही वह स्थिति है जब महिलाओं का शरीर कमजोर पढ़ने लगता है और खासकर उनकी हड्डियाँ कमजोर पायी जाती है। ऐसे में प्याज का सेवन उनके लिए बेहद अहम है क्योंकि प्याज हड्डियों के घनत्व को बढ़ाने के साथ साथ ही आपकी आँखों को भी बेहतर करता हैं।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

NCBI की एक रिपोर्ट के अनुसार, उनके द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि महिलाओं के लिए खासकर उनके लिए जो menopausal स्टेट में पहुचने वाली है या पहुंच चुकी है उनके लिए प्याज का रस काफी फायदेमंद है।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

जो रिपोर्ट आयी उसके अनुसार पाया गया कि जिन महिलाओं ने प्याज का सेवन किया उनकी हड्डियाँ अधिक मजबूत थी और उन्हें बेहद कम fracture हुए । बड़ती उम्र में प्याज का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। (27)

अच्छी नींद के लिए प्याज के फायदे – 

बिस्तर पर नींद के लिए संघर्ष करना सबसे कष्टदायी समय होता है। हमने आपको लेख के ऊपरी भाग में बताया था कि प्याज में भरपूर मात्रा में प्रीबायोटिक्स पाए जाते है। prebiotics हमारी आंतों में मौजूद अच्छे bacteria को स्वस्थ रखते है जिसके परिणामस्वरूप हमारा पाचन तंत्र बेहतर होता है। जब हमारा पाचन तंत्र अच्छे ढंग से काम करता है तो मेटाबॉलिक बायप्रोडक्ट का निर्माण होता है जो हमारे मस्तिष्क को स्वस्थ्य रखने के उपयोगी है। स्वस्थ्य मष्तिक बेहतर नींद के लिए फायदेमंद होता है। (28)

खून के थक्के जमने से निजात – 

कईयों लोगों को यह समस्या उत्पन्न हो जाती है कि उनका खून जमने लगता है जिसे ब्लड clotting के नाम से जाना जाता है। ऐसे लोगों को लो ब्लड प्रेशर जैसे विकार देखने पड़ते हैं। प्याज हमारे शरीर के खून के लिए एंटीथ्रोम्बोटिक की तरह कार्य करता है ।जिन लोगों को खून के थक्के जमने की शिकायत होती उन्हें अमूमन डॉक्टर द्वारा बतायी गयी ब्लड thinner दवाइयाँ खानी होती है। प्याज प्राकृतिक ब्लड thinner की तरह काम कर सकता है। हमारी नसों में खून के थक्के जमने से कुछ enzymes बढ़ने लगती है और प्याज इससे विरुद्ध कार्रवाई करता है। (29)

Kidney Stone – 

यह भी एक प्राचीन नुस्खा मनाय जाता है, शुगर crystals के साथ प्याज का रस मिलाकर सेवन करने से kidney की पथरी को निकाला जा सकता है। माना जाता है कि प्याज कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर है और यह पाचन तंत्र के साथ साथ शरीर से जहरीले पदार्थों को भी बाहर निकालता है। प्याज का उपयोग भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में भी शरीर की क्रियाओं को स्वस्थ्य और विकार रहित करने के लिए किया जाता था।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

पाए बेहतर मानसिक संतुलन –

प्याज में पाए जाने वाले पोषक तत्व ना सिर्फ हमे स्वस्थ रखते है बल्कि मानसिक रूप से स्वस्थ रखते है । प्याज में पाए जाने वाले Antioxidants हमारे मष्तिक को तनाव मुक्त करने के अलावा मस्तिष्क के जहरीले पदार्थों को बाहर निकालते हैं। 

प्याज में सल्फर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, सल्फर बड़ती उम्र के प्रभाव से कम होती स्मरण शक्ति को बड़ा सकते हैं। बेहतर लाभ उठाने के लिए आपको कच्चा प्याज खाना चाहिए । (30)

ऊर्जा का स्त्रोत – 

पूरे दिन काम करके खुद को थका हुआ निढाल महसूस करते है तो आपको अपने आहार में कच्चा प्याज शामिल करने की आवश्यकता है। शोधकर्ता बताते है कि प्याज ऊर्जा का अच्छा स्त्रोत है। आपकी ऊर्जा को बरकरार रखने के लिए प्याज में इनुलिन होता है जो एक स्टार्च का प्रकार है। इसकी मदद से आप पूरे दिन खुद को ऊर्जावान महसूस कर सकते हैं।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

बड़ती उम्र के प्रभाव को कम करने के लिए प्याज का उपयोग – 

सबसे पहले आपको यह समझना जरुरी है कि बढ़ती उम्र के प्रभाव से आपकी खाल dull, और झुर्रियों युक्त क्यों हो जाती है? हमारे शरीर में बड़ती उम्र के साथ oxidative तनाव बढने लगता है जिससे बॉडी के अंदर फ्री रैडिकल बड़ने लगते हैं। चेहरे और त्वचा पर झुर्रियों के लिए मुख्य रूप से यही फ्री रैडिकल जिम्मेदार होते हैं। वही यदि आप नियमित प्याज का सेवन करते है तो आप प्याज में पाए जाने वाले Antioxidants की मदद से फ्री रैडिकल के प्रभाव को कम कर सकते हैं, जिससे आपकी त्वचा ज़बां और खूबसूरत बनी रह सकती है। 

कैसे करें? 

प्याज का ताजा रस निकाल कर, एक चम्मच शहद मिलाए। अपनी त्वचा चेहरे इत्यादि पर लगाकर हल्का हल्का मसाज करे ।

मच्छर – कीड़े काटने पर प्याज का उपयोग – 

बरसात के मौसम में मच्छर और कीड़े काटना स्वाभाविक है, यदि आप किसी ऐसे इलाके में रहते है जहाँ ज्यादा बारिश होती है, तो यह नुस्खा आपके बहोत काम आने वाला है। कीड़े या मच्छर के काटने के बाद लाल खुजली दार धब्बे पढ़ जाते है जो बाद में पक जाते है और दर्दनाक फुंसी बन जाते हैं। ऐसे में आप प्याज का रस प्रभावित क्षेत्र में लगाएं। प्याज का रस सूजन रोधी गुणों से युक्त होता है यह आपके लाल सूजन युक्त धब्बों को खत्म करके आपको खुजली से राहत देता है। सिर्फ यही नहीं प्याज के रस का उपयोग कटे, जले, फटे घावों पर भी किया जा सकता है जिससे आपको काफी आराम मिलता है। 

डार्क सर्कल हटाने के लिए प्याज का उपयोग – 

प्याज डार्क सर्कल हटाने के लिए भी उपयोग किया जा सकता है। प्याज का Antioxidant गुण आपकी त्वचा को साफ और चमकदार बनाने के लिए उपयोगी है। प्याज में पाइथेन्यूट्रियंट्स होते है जो आपकी त्वचा को कीटाणु मुक्त और गंदगी को पूरी तरह से हटा कर साफ़ नीखरा हुआ कर देते हैं। प्याज के रस को प्रभावित त्वचा पर लगाए, प्याज में हल्की acidity भी होती है जिससे यह आसानी से आपकी त्वचा को नीखरा हुआ और साफ़ कर सकता हैं।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

ALSO READ – डार्क सर्कल हटाने के 20 आयुर्वेदिक और मेडिकल उपाय | Dark Circle Hatane Ke Upay

चेहरे पर कील मुहांसों से छुटकारा दिलाने में प्याज के फायदे – 

प्याज के महत्पूर्ण गुणों से आप सब वाकिफ़ हो चुके हैं। प्याज में पाए जाने वाले पोषक तत्व और यौगिक आपकी त्वचा को साफ और चमकदार बनाने में मदद कर सकते हैं। प्याज में Antibacterial, Antiseptic और Antimicrobial गुण होते है जो आपकी त्वचा को किसी भी तरह के इन्फेक्शन और कील मुहांसों इत्यादि से निजात दिलाते हैं। 

कैसे करें? 

प्याज के रस के साथ हल्का जैतून का तेल मिलाए और अपनी त्वचा पर लगाए। करीब 20 से 30 मिनट तक इसे त्वचा पर लगाए रखे बाद में हल्के गर्म पानी से धुले ।

उच्च गुणवत्ता वाला जैतून का तेल यहां से खरीदे.. 

बालों के लिए प्याज के फायदे – 

प्याज सिर्फ आपकी त्वचा ही नहीं बल्कि आपके बालों को भी स्वस्थ्य रख सकता है। इसीलिए हमने प्याज के बालों से जुड़े कुछ फायदे नीचे बताएं है :

लंबे और घने बाल – 

प्याज में पाए जाने वाले कुछ तत्व बालों के बेहतर विकास के लिए उपयोगी होते हैं। प्याज के तेल और रस में केराटिन और सल्फर की प्रचुर मात्रा होती है यह दोनों तत्व बालों के बेहतर विकास के लिए महत्पूर्ण होते हैं। आपकी खोपड़ी पर कोलेजन के निर्माण के लिए सल्फर मुख्य भूमिका अदा करता है। यदि आप प्याज का तेल अपने सिर और बालों में लगाते है तो यह आपके बालों को अधिक पोषण देकर उन्हें लंबे और घने बनाने में मदद करते हैं।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

उच्च गुणवत्ता वाले डॉक्टरों द्वारा प्रमाणित और चुने गए प्याज का तेल खरीदने के लिए यहां क्लिक करें… 

भारत में महिलाओं के स्वस्थ बालो के लिए टॉप बेस्ट 9 शैंपू (Shampoo) | TOP BEST HEALTHY HAIR SHAMPOO IN INDIA | 2021

रूसी और Dandruff – 

लोग रूसी fyas आदि से बहुत परेशान हो जाते है। खासकर सर्दियों के मौसम में यह समस्या ज्यादा होती है। ऐसे में प्याज आपकी इस समस्या को काफी कम कर सकता है। प्याज के तेल और रस का उपयोग करके आप dandruff से छुटकारा पाने में सफल हो सकते हैं। दरअसल प्याज में dandruff फैलाने वाले bacteria को मारने की क्षमता होती है। और इस तरह से आपके बाल dandruff से मुक्त हो जाते हैं। 

कैसे करें? 

मैथी और प्याज के रस का उपयोग करके आप अपने बालों से dandruff साफ कर सकते हैं। सबसे पहले आपको रात को मैथी पानी में भिगोकर रख देनी है और सुबह निकाल कर इसका पेस्ट बनाकर प्याज के रस के साथ बालों में 20 से 30 मिनट तक लगाए और फिर हल्के गर्म पानी से धुले ।

बालों को सफेद होने से रोकता है प्याज – 

प्याज की खूबियां इतनी है कि आप जानकर हैरान ही रह जाएंगे। यदि आप सफेद बालों से से परेशान है या आपको यह डर सता रहा है कि आपके बाल जल्दी सफेद ना हो जाए। प्याज में कुछ ऐसे यौगिक होते है जो आपके बालों को काला करते हैं और सफेद बालों को रोकने का काम करते हैं। कैटलस प्याज में पाए जाने वाली एक ऐसी enzyme है जो आपके वालों को सफेद होने से रोकती है और बालों को जड़ से काला बनाने का काम करती है।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

कैसे करें? 

ताजा प्याज का रस निकाले और बालों में लगाए और मसाज करे । आप चाहे तो प्याज का तेल भी उपयोग कर सकते हैं। 30 मिनट बाद बालों को धों ले ।

जूं को खत्म करने के लिए प्याज का उपयोग – 

खास महिलाओं बालों में जूं की समस्या अधिक देखने को मिलती है इसके लिए वे कई उपचार अपनाती है लेकिन यदि आप चाहे तो घर में रखे प्याज से ही इस समस्या से छुटकारा पा सकती है। प्याज में Antibacterial और antifungal गुण होते है जो आपके बालों को पूरी तरह से कीट मुक्त बनाते है। बालों में रहने वाले parasite को खत्म करने के लिए प्याज का रस लगाए ।

कैसे करें? 

प्याज को पीस कर उसका रस निकाले और सीधे बालों में लगाए। 30 min बाद बालों को धों ले। 

आसानी से अपने आहार में जोड़े – 

प्याज के बारे में यह बात बड़ी अच्छी है कि इसे अपनी diet में शामिल करना सबसे आसान है। आप प्याज को कईयों तरीकों से अपने आहार में जोड़ सकते हैं। 

प्याज दुनिया की हर रसोई में प्रमुख होते है और इन्हें कच्चा या पक्का किसी भी तरह खाया जा सकता है। प्याज आपके आहार में पर्याप्त विटामिन, फाइबर और खनिजों को जोड़ सकते हैं। 

आप निम्न तरीकों से प्याज को अपने आहार में जोड़ सकते हैं :

  • खाने के साथ सलाद के रूप में। 
  • कैरामेलाइज़्ड प्याज़ डाले। 
  • सब्ज़ियों की gravy बनाने के लिए उपयोग करे। 
  • प्याज की सब्जी बनाएँ। 
  • कच्चे प्याज को लाल मिर्च के साथ खाए। 
  • प्याज, टमाटर और ताजी सीताफल से घर का बना सालसा बनाएं।
  •  एक हार्दिक प्याज और सब्जी का सूप तैयार करें।
  •  स्वाद बढ़ाने के लिए मिर्च की रेसिपी में प्याज़ डालें।
  •  एक स्वादिष्ट होममेड सलाद ड्रेसिंग के लिए कच्चे प्याज को ताजी जड़ी-बूटियों, सिरका और जैतून के तेल के साथ मिलाएं।
  • अंडे के साथ कच्चा और तेल में भुना हुआ प्याज मिलाए। 
  • नमकीन चावल या पुलाव के साथ प्याज खाए। 
  • दाल चावल के साथ खाए। 

प्याज खरीदने से पहले ये बातें जरुर ध्यान रखें – 

यूँ तो प्याज जल्दी खराब होने वाली सब्जी नहीं है लेकिन फिर भी आपको इसे खरीदने या इस्तेमाल करने से पहले कुछ बातों का विशेष ध्यान देना चाहिए। 

  • प्याज नीचे से सफेद होना चाहिए। 
  • प्याज के बीच में लकड़ी नहीं होनी चाहिए। 
  • प्याज का ऊपरी हिस्सा लाल होना चाहिए। 
  • प्याज हरा नहीं होना चाहिए। 
  • प्याज के ऊपर हरे पत्ते नहीं होने चाहिए। 

प्याज को सुरक्षित रखने के लिए इसे सुखी और हल्की ठण्डी जगह में रखे ।यदि कोई प्याज हल्की खराब हो रहीं है तो उसे अलग निकाल ले। प्याज को एक दो दिन बाद हाथ से हिलाकर रखे। जिन प्याज में से ऊपर से हरे पत्ते तरह के निकलते है उनका उपयोग पहले करे, और ऊपर का हिस्सा निकाल कर उपयोग करे। 

प्याज के नुकसान – Side Effects Of Onion In Hindi 

दोस्तों दुनिया की हर चीज यदि तादाद से ज्यादा उपयोग की जाए तो उससे नुकसान होना स्वाभाविक है। इसके अतिरिक्त कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों वाले लोगों को भी प्याज खाने से कुछ नुकसान हो सकता है। 

कच्चे प्याज को खाने के बाद आपकी सांसों से और शरीर से दुर्गंध आ सकती है। और भी कई अन्य कमियां है जो प्याज को कुछ लोगों के लिए अनुपयुक्त बना सकती हैं। ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

प्याज से एलर्जी – 

समान्य तौर पर प्याज से कोई allergy देखने को नहीं मिलती लेकिन कुछ लोगों के लिए यह जरुर हो सकती है। कुछ लोगों में प्याज खाने से उनके पाचन तंत्र बिगड़ जाता है। पेट में भारीपन महसूस होता है। या फिर गैस भी बन सकती है। इसीलिए कोशिस करे कि एक सीमित मात्रा में ही प्याज का सेवन करे। (31)

इसके अतरिक्त कुछ लोग सिर्फ प्याज को छू कर भी Allergy महसूस कर सकते हैं बेशक बे प्याज बिना किसी परेशानी के खा सकते हैं। (32)

FODMAPs – 

प्याज में FODMAPs होते हैं, जो कार्ब्स और फाइबर की एक श्रेणी है जिसे बहुत से लोग बर्दाश्त नहीं कर सकते। ऐसे में प्याज का सेवन कुछ अप्रिय पाचन लक्षण पैदा कर सकते हैं, जैसे कि सूजन, गैस, ऐंठन और दस्त इत्यादि । (33)

जो लोग चिड़चिड़ा आंत syndromes (IBS) से पीड़ित है, उन्हें भी प्याज के सेवन से बचना चाहिए। 

घर के अंदर गमले में उगाने के लिए 4 स्वस्थ जड़ी बूटियां | 4 HEALTHY HERBS FOR KITCHEN GARDEN

आंख और मुंह में जलन – 

कच्चे प्याज को खाने से आपकी आँखों और मुहँ में जलन हो सकती है। जब आप प्याज काटते है तो आपके आँसू आने लगते है, ऐसा इसलिए है क्योंकि प्याज में प्याज की कोशिकाएं lachrymatory factor (LF) नामक गैस छोड़ती हैं। (34)

यह गैस आपकी आंखों में मौजूद न्यूरॉन्स को सक्रिय करती है, जिससे कि हमारी आँखों में एक चुभने वाली सनसनी का कारण बनती है, इसके बाद आंसू निकलने लगते हैं जो कि जलन को दूर करने के लिए उत्पन्न होते हैं।

प्याज कटाने पर आँखों में होने वाली जलन से बचने के लिए आप प्याज का जड़ वाला हिस्सा ना काटे या फिर चलते पानी के नीचे प्याज काटने से भी गैस को आसपास फैलने से रोका जा सकता है जिससे कि फिर आपको जलन का एहसास नहीं होता। 

कच्चे प्याज को खाने से आपके मुंह में जलन होती है जिसके  लिए भी LF GAS ही जिम्मेदार होती है।  खाना पकाने से यह जलन कम होकर या खत्म हो जाती है (35)।

पालतू जानवरों के लिए खतरनाक है प्याज – 

हम इंसानो के लिए प्याज खाने के कई फायदे है लेकिन दुर्भाग्य से प्याज , कुत्तों, बिल्लियों, घोड़ों और बंदरों सहित कुछ जानवरों के लिए काफी घातक हो सकती हैं (36)।

पालतू जानवरों के लिए प्याज इसलिए घातक है क्योंकि इसमे सल्फोऑक्साइड और सल्फाइड हैं, जो Heinz body anemia नामक गम्भीर बीमारी को प्रेरित कर सकता हैं। यह बीमारी जानवरों की लाल रक्त कोशिकाओं (RBC) के भीतर नुकसान की विशेषता है, जिससे एनीमिया  होता है। 

ऐसे में आपको अपने पालतू जानवरों को प्याज बिल्कुल ही नहीं खिलाना चाहिए और हो सके तो घर की सभी प्याज युक्त चीजों को उनकी पहुंच से दूर रखे।  ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

ब्लड शुगर में कमी – 

अधिक प्याज का सेवन आपके खून में ब्लड शुगर का स्तर बहुत कम कर सकता है इसलिए हमेशा सीमित मात्रा में ही प्याज का सेवन करें। आप चाहे तो अपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं। 

प्रेगनेंट महिलाएं – 

प्याज में उत्तेजित कर देने वाले यौगिक होते है, जिससे गर्भवती महिलाओं छाती में जलन हो सकती है। हो सकता है उनके पाचन में भी समस्या हो और गैस बने इसलिये गर्भवती महिलाओं को प्याज का कम सेवन करना चाहिए। 

लिथियम – 

प्याज में पाए लिथियम होता है यदि आप डिप्रेशन की Antidepressant ले रहे है तो प्याज खाने के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह जरुर ले। 

ब्लड प्रेशर – 

प्याज का सेवन करने सिस्टोलिक व डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर कम होने की संभावना होती है। ऐसे में जो लोग ब्लड प्रेशर की दवा का सेवन करते है तो उन्हें कम से कम प्याज का सेवन करना चाहिए। 

प्याज से जुड़े कुछ जरुरी सवाल जबाब – 

प्रश्न – प्रतिदिन कितना प्याज खाना सुरक्षित हैं? 

उत्तर – प्रतिदिन 1 प्याज सलाद के साथ और दो प्याज सब्जी इत्यादि के साथ खाना पूरी तरह सुरक्षित है। 

अंतिम विचार – 

प्याज एक जड़ वाली सब्जी है जिसके कई तरह के मानसिक और शारीरिक फायदे हैं।

प्याज एंटीऑक्सिडेंट और सल्फर युक्त यौगिकों में उच्च होते हैं, इस तरह से प्याज के लाभकारी प्रभाव हो सकते हैं।

हालांकि, कई मामलों में प्याज के फायदों के बारे में अधिक शोध की आवश्यकता है, प्याज को बेहतर हड्डियों के स्वास्थ्य, ब्लड शुगर के स्तर को कम करने और कैंसर के  जोखिम को कम करने में सहायक पाया गया है।

दूसरी तरह , प्याज खाने से कुछ लोगों में पाचन संबंधी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

यदि आप प्याज खाते हैं , तो प्याज स्वस्थ आहार का एक महत्वपूर्ण घटक हो सकता है। ( Pyaj Ke Fayde Aur Nuksan)

ALSO READ :

कटहल के बीज के फायदे | kathal ke beej ke Fayde

Haldi ke Fayde Aur Nuksaan | हल्दी के फायदे और नुकसान | BENEFITS OF TURMERIC

केसर खाने के फायदे | kesar khane ke Fayde | BENEFITS OF SAFFRON

खीरा खाने के फायदे | Khira khane ke Fayde | Benefits Of Eating Cucumber

चावल खाने के फायदे और नुकसान – Chawal Khane Ke Fayde Aur Nuksan

बालों को तेजी से उगाने के लिए 10 प्राकृतिक उपाय – Balo Ko Teji Se Ugane Ke Liye Prakritik Upay

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.