पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण

पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षणदिल की बीमारियों में सबसे अधिक जोखिम पुरषों को होता है और भारत में दुनिया के सबसे ज्यादा हृदय रोगी है। कहा जा सकता है कि भारत हृदय रोग की राजधानी है। पुरुषों के स्वास्थ के लिए खास यह लेख आपकी कुछ ऐसे लक्षणों से अवगत कराएगा जो आपको आपके दिल के स्वास्थ्य के बारे में जागरूक करेगे। आपके हृदय के अस्वस्थ होने के पीछे कई कारण हो सकते है जैसे कि गतिहीन जीवन शैली, अस्वास्थ्यकर खाने की आदतें, डायबिटीज़ और तनाव इस प्रवृत्ति के मुख्य योगदानकर्ता हैं।

भारत के हर शहर में करीब आधे पुरुष और गावों में तिहाई पुरुष हृदय रोगों से ग्रसित है और ऐसे लोग समय से पहले ही दुनिया को अलविदा कह देते हैं। लेकिन इसने चौकाने वाली बात यह है कि अधिकतर लोगों को अपने बिगड़े हुए ह्रदय स्वास्थ्य के बारे में पता नहीं चलता, और कुछ इसपर ध्यान नहीं देते बचे हुए कुछ लोग स्थिति बेकाबू होने पर सीधा हॉस्पिटल जाते है। आपको समझदारी इसी में है कि आप अपने ह्रदय स्वास्थ्य पर एक पैनी नजर रखे और समय से पहले उन लक्षणों को काबु करे ताकि आप अपना पूरा जीवन बीमारी रहित होकर गुजारे। (पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण )

इसीलिए हम आपको आज खास पुरषों पाए जाने वाले कुछ ऐसे लक्षणों से अवगत करायेंगे जो आपको आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए अधिक सचेत करेगे। 

करीब 96% लोग ऐसे हैं जो अपने ह्रदय स्वास्थ्य के बारे में तभी जान पाते है जब उन्हें दिल का दौरा पड़ता है। इसीलिए आपको अपने ह्रदय स्वास्थ्य के बारे में जागरूक और सतर्क रहना चाहिए। (पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण )

छाती में कसावट महसूस होना – 

छाती में भारीपन महसूस होना या कसी हुयी महसूस होना आपके खराब हृदय स्वास्थ्य के लक्षण है। अगर आपको कभी कभी सीने में दर्द, जकड़न या दबाव महसूस होता  है, तो कृपया तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें और अपने सभी लक्षणों से अवगत कराये । कई बार आपको बेचैनी की भावना आती है और गुजरती है और यह भावना कुछ मिनटों से लेकर कुछ घंटों तक रह सकती है। यह लक्षण हृदय रोग के सबसे समान लक्षण है और समय रहते इलाज लेने पर इन्हें गंभीर होने से पहले ही ठीक किया जा सकता है। (पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण )

तनाव रोकने के 10 तरीके – Top 10 Ways To Stop Stress IN HINDI

अत्याधिक थकावट महसूस करना – 

आम तौर पर बहुत सारा काम करने के बाद आपको थकान महसूस होना लाजमी है लेकिन यदि आप बिल्कुल थोड़ा सा काम करने के बाद या बिल्कुल भी काम ना करने के बाद भी खुद को थका हुआ महसूस करते है तो यह आपके हृदय के लिए चिंता का विषय हो सकता है।कई लोग एक दो सीडियां चढ़ने में असमर्थ महसूस करते है या फिर उन्हें उठने बैठने में भी समस्या महसूस होती है।(पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण )

 इस तरह की स्थिति में आपको समय रहते नजदीकियों अस्पताल में जाए तो अपने चिकित्सक से सारी बात बताये वह आपके कुछ चेक उप करके उचित सलाह और इलाज देंगे जिससे आप दुबारा से स्वस्थ्य हो जायेगे और आपका ह्रदय भी स्वस्थ्य रहेगा। 

नपुंसकता – 

अंग्रेजी में इस बीमारी को Erectile Dysfunction कहते है, जिसमें आपका लिंग खड़ा नहीं होता। हालांकि यह परिस्थित 70 या 80 साल के दौरान बने तो इसे सामन्य उम्र का दोष माना जा सकता है लेकिन यदि नपुंसकता के लक्षण उम्र होने से पहले ही दिखने लगे तो यह चिंता का विषय बन जाता है जिसका संबंध आपके हृदय स्वास्थ्य से हो सकता है। 

 ऐसा होने के पीछे का कारण है कि आपके लिंग तक पर्याप्त खून नहीं पहुँच पता जिस कारण से वह खड़ा नहीं हो पाता। अगर कोई व्यक्ति लगातार इरेक्टाइल डिसफंक्शन का सामना करना पड़ रहा है, तो उसे दिल की समस्याओं की जांच करवानी चाहिए।(पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण )

सुबह लिंग खड़ा क्यों होता है? | Subah Ling Khada Kyon Hota Hai | 2021

पसीना आना

यदि आप बिना किसी काम किए ही पसीने से तरबतर होते है तो आपको इसपर गौर करना चाहिए। बिना किसी ज़ोरदार गतिविधि के पसीना आना आम बात बिल्कुल भी नहीं है। यदि आपके साथ कभी ऐसा होता है तो आप तुरंत ही एम्बुलेंस को फोन करे क्योंकि यह पूरी तरह दिल के दौरे का संकेत है। ऐसी स्थिति में आप खुद अस्पताल जाए यह आपके लिए अधिक खतरनाक होगा इसलिए, एम्बुलेंस ही बुलाए। (पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण )

खर्राटे

स्लीप एपनिया तब होता है जब आपको सोते समय सांस लेने में रुकावट होती है। इसके कुछ अन्य लक्षण भी हैं जैसे नींद के बीच में सांस फूलना, नियमित सोने के समय के बावजूद थकान महसूस होना और जोरदार खर्राटे लेना।  जब आप साँस नहीं ले पाते या सांस लेने में आयी रुकावट से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है नतीजतन आपके , हृदय पर दबाव पड़ सकता है और हृदय रोग का खतरा बढ़ सकता है।

स्लीप पैरालिसिस (नींद पक्षाघात) के कारण, लक्षण और इलाज – Sleep Paralysis in Hindi (नींद का लकवा)

जबड़े या हाथ में दर्द होना 

आम तौर पर दर्द कई प्रकार के होते है लेकिन हृदय स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने वाला यह दर्द बाकियों की तुलना मे अलग है। इस तरह का दर्द हृदय रोग के अधिक स्पष्ट लक्षणों में से है जब दर्द छाती से हाथ की ओर, विशेष रूप से बाएं हाथ और जबड़े तक फैलता है। ऐसी स्थिति आने पर आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करके पूरा इलाज लेना चाहिए। (पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण )

चक्कर

अचानक चक्कर आना और सीने में दर्द या सांस फूलना महसूस हो रहा है?  अस्पताल के लिए भागो।  रक्तचाप में अचानक गिरावट के कारण हल्कापन होता है।

लिंग बड़ा करने के 10 उपाय | Ling Bada Karne ke Upay

पेट से संबंधित विकार 

पेट में दर्द, सूजन, भारीपन, अपच, और मतली  इत्यादि पेट से जुड़े विकार आपके खराब हृदय स्वास्थ्य के तरफ एक इशारा हो सकते हैं। हालांकि यह लक्षण पेट में कीड़े के कारण भी हो सकते हैं, लेकिन यदि शारीरिक परिश्रम करने पर ये लक्षण बढ़ जाते हैं और आराम करने पर कम हो जाते हैं, तो वे हृदय संबंधी किसी समस्या के कारण होते हैं।

कब्ज ठीक करने के 13 घरेलू उपचार | Natural Constipation Home Remedies

अंतिम विचार – 

कई बार यह लक्षण अलग अलग कारणों से भी होते है लेकिन यदि ये लक्षण बिल्कुल उसी प्रकार है जैसा कि हम ने आपको बताया है तो यह आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है। ऐसे लक्षण महसूस करने पर तुरंत चिकित्सीय सहायता ले और डॉक्टर के बताएं हुए दिशा निर्देशों का पूर्ण रूप से पालन करे। यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर और हृदय से जुड़ी समस्याओं वाला पारिवारिक इतिहास तो फिर यह अधिक चिंता का विषय है और आप जल्दी से अपने डॉक्टर से सारी बाते साझा करे। (पुरुषों में हृदय रोग के 8  लक्षण )

यह भी पढ़े :

पेशाब में जलन और दर्द के कारण और उपचार | Dysuria Treatment

विज्ञान के अनुसार : हस्तमैथुन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह या फायदेमंद | Hastmaithun ke Fayde Aur Nuksaan

अंडकोश (पोतों) में खुजली के 7 कारण और इलाज | Andkosh Me Khujli Ke Karan Aur ilaj

भूख ना लगने के कारण, लक्षण और इलाज | Causes, symptoms And Treatment of Loss of Appetite In Hindi

गांजे का नशा छोड़ने के उपाय। गांजा क्या है? गांजे से संबंधित संपूर्ण जानकारी 2021

धूम्रपान COVID-19 के जोखिम को कैसे बढ़ाता है? – SMOKING vs CORONAVIRUS

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.