वैज्ञानिक तत्वो के अनुसार हल्दी वाला दूध पीने के फायदे | BENEFITS OF TURMERIC MILK | 2021  अंग्रेजी में गोल्डन मिल्क और हमारे हमारी भाषा में हल्दी वाला दूध या Turmeric MILK कहा जाता है। ऐतिहासिक रूप से देखा जाए तो भारत में हल्दी का उपयोग औषधि के रूप में 4000 साल पहले से हो रहा है। हल्दी वाला दूध भारत में जन्मा और कई पौराणिक कथाओं और शास्त्रों में भी हल्दी वाले दूध का उल्लेख मिलता है। 

यह भी पढ़े :ठंडे पानी से नहाने के फायदे | BENEFITS OF COLD WATER BATHING | 2021

भारत के घरों में हल्दी वाला दूध एक बेहद लोकप्रिय पेय है। प्राचीन भारतीय स्वास्थ्य संस्कृति में हल्दी वाले दूध के व्यापक फायदे बताये गये हैं। परंतु आज हल्दी वाला दूध पूरे विश्व में चर्चित और पसंदीदा पेय बन गया है। अपने औषधीय गुणों के कारण हल्दी वाला दूध अब पश्चिमी संस्कृतियों में भी खूब लोकप्रियता हासिल कर रहा है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :बात करने में कितनी कैलोरी खर्च होती है? 2021

चमकीले पीले रंग का दिखने वाला यह हल्दी दूध अदरक, दालचीनी, काली मिर्च और हल्दी डालकर गर्म करके बनाया जाता है। 

आज हम आपको हल्दी के दूध से जुड़े फायदे बताएंगे कि 

आखिर क्यों सोते समय हल्दी का दूध पीना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है?” 

 स्वाद में स्वादिष्ठ लगने वाला हल्दी वाले दूध के फायदे विज्ञान ने भी सिद्ध किए है। भारत में हल्दी दूध रोजाना पिया जाने वाला पेय है और इसके अनेक फायदे हमारे शरीर को चुस्त तंदुरुस्त और फुर्तीला बनाने में मदद करते हैं। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

भारतीय लोग हल्दी वाला दूध बड़े चाव से पीते है। हल्दी वाले दूध के कई स्वास्थ्य फायदे है जिसमें मुख्य रूप से हल्दी वाला दूध बीमारियों से लड़ने में और वायरस को दूर रखने में मदद करता है। 

यह भी पढ़े :सिगरेट छोड़ने के उपाय | TOP 15 TIPS | CIGARETTE CHODNE KE UPAY

आज हम आपको बताएँगे विज्ञान पर आधारित रात को हल्दी वाला दूध पीने के फायदे :

1. हल्दी एंटीऑक्सीडेंट से भरी हुई है

15smyLi869QloHVE4DyPbcif7vasF9ogh WjEmHRYZ4 wJY XR5vvBEAqavSsYLaXdru2IYCvRqhsc7KAcir9USgms2 B4k3FCXUKW9xCgKxtXN TH2MHycAh5pXJp SvvowhMLi

© Depositphotos.com, © Depositphotos.com

हल्दी के दूध में मुख्य भूमिका हल्दी की होती है और हल्दी वाले दूध का key ingredient हल्दी ही है । हल्दी एक भारतीय मसाला के रूप में प्रयोग किए जाने वाला पीला पदार्थ है जिसका उपयोग भारतीय रसोईघरों में सब्जी (curry) को पीला करने के लिए करते हैं। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

  • हल्दी के औषधीय गुण हल्दी को सबसे महत्वपूर्ण पदार्थ बनाते है। हल्दी में सक्रिय रूप से पाया जाने वाला सक्रिय घटक करक्यूमिन, अपने मजबूत एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण सदियों से आयुर्वेदिक चिकित्सा में उपयोग किया जाता रहा है। 
  • एंटीऑक्सिडेंट का मुख्य फायदा हमारी क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को सही करने में और बीमारियों फैलाने वाले virus से लड़ने में होता है। इसके अतिरिक्त यह हमारे शरीर को ऑक्सीडेटिव तनाव से  भी बचाते हैं।

एंटीऑक्सीडेंट हमारी कोशिकाओं के कामकाज लिए बेहद जरुरी होती है। किए गए वैज्ञानिक शोधों और अध्यनो से पता चलता है कि एंटीऑक्सीडेंट से भरा शरीर हमे हर बीमारी से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

नतीजतन हम बिमार नहीं पड़ते और बीमार होते भी है तो आसानी से जल्दी से ठीक भी हो जाते हैं। संक्रमण फैलाने वाली बीमारियों से बचने के लिए हल्दी वाला दूध एक बेहद काम की औषधि साबित हो सकती है। 

मुख्य से बनाए जाने वाला हल्दी वाले दूध में दालचीनी अदरक भी शामिल किया जाता है और इन दोनों पदार्थों में भी antioxidants  भरपूर मात्रा में होते हैं। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :गेहूं की रोटी खाने के 15 फायदे, जो आपको रोटी खाने पर मजबूर कर देंगे

सारांश – 

मुद्दे की बात यह है कि गोल्डन मिल्क यानी कि हल्दी वाला दूध antioxidants से भरपूर होता है। इसलिए यह हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है, कई बीमारियों और संक्रमण से लड़ने में मदद करता है ।इसके अतिरिक्त यह हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य को बेहतर रखने में एक महत्वपूर्ण योगदान देता है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :भारत में कोरोना वैक्सीन के साइड इफेक्ट | INDIA COVID-19 VACCINATION SIDE EFFECTS

2. जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करता है – 

हल्दी वाले दूध की पूरी सामाग्री मिलकर एक ऐसे रसायन को बनाती है जो हमारे दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है । हल्दी वाले दूध की सामग्री में शक्तिशाली 

एंटी-इंफ्लेमेटरी ( anti-inflammatory) गुण होते है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :टमाटर खाने के फायदे | TOP 11 BENEFITS OF EATING TOMATO

यदि सूजन बहुत पुरानी है तो इसे बहुत खतरनाक बीमारियों के लक्षण के रूप में देखा जाता है। पुरानी सूजन कैंसर, अल्जाइमर, हृदय रोग और मेटाबोलिक सिंड्रोम जैसी प्राण घातक बीमारियों की संभावना को बढ़ाती है। 

ऐसी स्थिति में हल्दी का दूध आपके लिए सबसे उपयोगी पेय हो सकता है। ना सिर्फ यह आपकी सूजन को कम करने में सहायक होगा बल्कि जिन बीमारियों से आप ग्रसित है उनसे भी लड़कर हमे प्रतिरोधकता प्रदान करता है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

शोधकर्ताओं द्वारा यह साबित किया गया है कि हल्दी वाले दूध में ऐसे कई सक्रिय गुण होते है जो इन सभी बीमारियों को दूर करने में और बचाने के लिए महत्वपूर्ण हैं । 

हल्दी वाले दूध के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पुराने 

ऑस्टियोआर्थराइटिस  (osteoarthritis ) और रुमेटीइड गठिया  जैसे जोड़ों के दर्द को कम कर सकते हैं।(हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

शोधकर्ताओं द्वारा किए गए अध्ययन में रुमेटीइड गठिया वाले 45 लोगों को रोजाना 500 ​​मिलीग्राम करक्यूमिन  (हल्दी का विशेष तत्व) दिया गया और पाया जिन मरीजों को हल्दी (करक्यूमिन) नहीं दिया गया उनकी तुलना में जिन्हें करक्यूमिन दिया गया उन्हें दर्द कम होने में बहुत फायदा मिली। 

इसी प्रकार का शोध ऑस्टियोआर्थराइटिस के मरीजों पर किया गया। वहां अदरक के अर्क से फायदा उठाने वाले मरीजों को ज्यादा फायदा मिला। 

सारांश – 

हल्दी वाले दूध में और उसे बनाने वाली सामग्री में ऐसे शक्तिशाली गुण होते है जो पुराने जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करने में सहायक है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :जमीन पर सोने के फायदे और नुकसान | JAMEEN PAR SONE KE FAYDE | 2021

3. याददाश्त और मानसिकता को बेहतर करता है – 

आश्चर्य मत कीजिए यकीनन हल्दी वाला दूध आपके दिमाग को बेहतर करने में कारगर है और यह आपकी मनोदशा को भी फायदा पहुंचाता है। 

किए गए अध्ययनों से पता चलता है कि :

  •  हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन BRAIN DREIVED NEUROTROPHIC FACTOR (BDNF ) के स्तर को बढ़ा देता है।  बीडीएनएफ एक यौगिक रसायन है, जो हमारे मस्तिष्क को नए कनेक्शन बनाने में मदद करता है और मस्तिष्क की कोशिकाओं के विकास को बढ़ावा देता है । 
  • यदि मस्तिष्क में BDNF का स्तर कम होता है तो यह आपको कई मानसिक बीमारियो से पीड़ित कर सकता है। या फिर आपको Alzheimer जैसी घातक बीमारी का संकट भी हो सकता है। 
  • शोध में पता चलता है कि अल्जाइमर के लक्षणों में से एक दिमाग में एक विशिष्ट प्रोटीन का संचय होता है, उस प्रोटीन को ताऊ (tau protein) प्रोटीन कहा जाता है।  टेस्ट ट्यूब और जानवरों पर किए अध्यन से पता चलता है कि दालचीनी में पाए जाने वाला पदार्थ इस प्रोटीन को बनने से रोकते है। 

दालचीनी पार्किंसंस रोग जैसी भयानक बीमारी के लक्षणों को कम करने में मदद करती है। जानवरों पर किए गए एक अध्ययन में सबूत मिले है कि दालचीनी मस्तिष्क के कार्य में सुधार करती है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

अदरक मस्तिष्क को सतर्क रखने और याददाश्त को बढ़ाने में कारगर है । हालांकि अभी इसमे और अधिक अध्ययन करने की जरूरत है। 

सारांश – 

हल्दी वाला दूध आपको मानसिक रूप से स्वस्थ रखने में सक्षम है। गोल्डन मिल्क आपकी याददाश्त मजबूत करता है और अल्जाइमर और पार्किंसंस जैसी बीमारी से बचा के रखता है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :अच्छी नींद के लिए प्रमाणित उपाय | नींद से सम्बंधित हर जबाब और जानकारी | ACCHI NEEND KAISE SOYE |2021

4. हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन डिप्रेशन कम करने में सहायक – 

आपके मन को अच्छा और बेहतर करने के लिए जिम्मेदार तत्व हल्दी में मौजूद करक्यूमिन है। करक्यूमिन आपका मूड अच्छा कर सकता है और यह आपके डिप्रेशन को कम करने में सहायक होता है। 

7 सप्ताह तक किए गए वैज्ञानिक शोध से पता चलता है कि बहुत ज्यादा मानसिक अवसाद (डिप्रेशन) वाले 60 व्यक्तियों में कुछ लोगों को करक्यूमिन और कुछ को सिर्फ दवाइयां और कुछ को दोनों चीजे दी गई। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

शोध के परिणाम चौंकाने वाले निकले दरअसल जिन लोगों को सिर्फ करक्यूमिन का सेवन कराया गया उनमें सुधार देखा गया परंतु सबसे ज्यादा सुधार उन लोगों में हुआ जिन्होंने करक्यूमिन और दवाइयों का संयोजन लिया था। 

डिप्रेशन के लिए जिम्मेदार  BDNF के गिरते स्तर को माना जाता है। और जैसे कि ऊपर आपको समझाया कि हल्दी वाला दूध BDNF के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है तो इससे हम अवसाद को भी काफी हद तक कम कर सकते हैं। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :मोटापा घटाने के उपाय | वजन कम करने से संबंधित पूर्ण जानकारी | VAJAN GHATANE KE UPAY | 2021

सारांश – 

हल्दी में पाया जाने वाला सक्रिय तत्व करक्यूमिन अवसाद (डिप्रेशन) के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।  हालांकि, इस विषय में और अधिक शोध की जरूरत है।

यह भी पढ़े :रस्सी कूदने के फायदे | 10 ऐसे फ़ायदे जो आपको रस्सी कूदने पर मजबूर कर देंगे। TOP 10 (2021)

5. ह्रदय रोगों से बचाव में सहायक – 

B8lz8Z5EaMRNnKCEy5hcdnLcTDG8BRorJCCW7fec57wSXqtRRhOWLaRjY83kp2ElNg9l469 OMgLmbw VlLMuHOb3qR8cQq90de3XoJHbJYIKIOUOaLpuO6wCK9P2AYOs eDVJ

© Depositphotos.com, © Depositphotos.com

Heart diseases  से दुनिया में सबसे ज्यादा लोग मारे जाते हैं और allopathic medicines में अभी तक कोई ऐसी दवाई नहीं बनी है जो इस तरह के रोगों को पूरी तरह दूर कर सके। 

वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अध्ययन में पाया गया कि हल्दी वाला दुध हृदय रोगों में सुधार करने के साथ साथ इससे बचाव करने में भी मदद कर सकता है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

10 अध्ययनों की समीक्षा के बाद निष्कर्ष निकाला कि हर दिन 120 मिलीग्राम दालचीनी कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड और “खराब”  LOW DENSITY LIPOPROTEIN (LDL ) के स्तर को कम कर सकती है। जबकि “अच्छे”  HIGH DENSITY PROTIEN (HDL) के स्तर को बढ़ाने में मदद करती है। 

इसी प्रकार के एक दूसरे अध्यन में पाया गया कि मधु मेह (डायबिटीज़ टाइप 2) के 41 मरीजों को 2 ग्राम अदरक का पाउडर प्रतिदिन दिया गया। 12 सप्ताह के अंत में जब चेक उप किया गया तो उनमें हृदय रोग संबधी बीमारियो में 23 से 28% की कमी पायी गयी। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

 इसके अतिरिक्त ,हल्दी के दूध में पाया जाने वाला करक्यूमिन आपकी रक्त वाहिकाओं के अस्तर (अंदर की lining) के काम में सुधार कर सकती है – हम इस सुधार को एंडोथेलियल फ़ंक्शन के रूप में जानते  है।  स्वस्थ हृदय के लिए उचित एंडोथेलियल फ़ंक्शन महत्वपूर्ण है। 

सारांश – 

अदरक, हल्दी और दालचीनी हल्दी वाले दूध के मुख्य तत्व है। इन सभी पदार्थों में ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो हृदय रोगों को ठीक करने के साथ साथ और भी हृदय संबंधी लाभ पहुंचा सकते हैं और हृदय रोग से बचा सकते हैं।  परंतु फिर भी, अभी इन प्रभावों की पुष्टि के लिए और अधिक अध्ययन की आवश्यकता है।(हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :गांजे का नशा छोड़ने के उपाय। गांजा क्या है? गांजे से संबंधित संपूर्ण जानकारी 2021

6. खून से शुगर को कम करने में मदद मददगार-

जो सामाग्री हल्दी के दूध में पायी जाती है। खासकर अदरक और दाल चीनी  हमारी ब्लड शुगर को कम करने में सहायक है। 

यदि आप 1 से 6 ग्राम दालचीनी का सेवन प्रतिदिन करते है तो यह आपके बढ़ते हुए ब्लड शुगर को 29% तक कम कर सकता है। इसके अलावा यह इंसुलिन प्रतिरोध को कम कर सकती है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

दालचीनी आपकी आंत में मौजूद glucose को कम सोखती है इसी वजह से हमारा ब्लड शुगर कम हो जाता है। 

इसी प्रकार प्रतिदिन अदरक का सेवन करने से यह आपके ब्लड शुगर को 12% की दर से कम करता है। जरा सी मात्रा में अदरक का सेवन hemoglobin A1C के स्तर को 10% तक गिरा सकती है। इसका स्तर कम होना ब्लड शुगर कम होने का एक सूचक है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

ध्यान देने वाली बात यह है कि हल्दी वाले दूध के साथ कोई अलग शक्कर का उपयोग नहीं होता इसमे आप शहद या maple इत्यादि ही डाले तो यह आपके स्वास्थ्य को ज्यादा फायदा पहुंचाएगा। 

यह भी पढ़े :दुनिया की सबसे महंगी दवाइयां | DUNIYA KI SABSE MEHNGI DAWAIYA | MOST EXPENSIVE DRUGS 2021

सारांश – 

अदरक और दालचीनी हल्दी वाले दूध में दो मुख्य तत्व होते हैं , यह रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में सहायक कर  हैं और इंसुलिन की संवेदनशीलता में सुधार कर सकते हैं।  हालांकि, और इस विषय में और अधिक शोध की जरूरत है।(हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :क्रोध को नियंत्रित करने के 10 सबसे बेहतर उपाय | krodh ko niyantrit karne ke 10 Sabse behtar upay | TOP BEST TIPS TO CONTROL YOUR ANGER

7. कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक – 

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसमें अनियंत्रित कोशिकाओं की वृद्धि होती है अर्थात इस बीमारी में बॉडी के कैंसर सेल बहुत तेजी से अपना विकास करते हैं। 

Allopathic दवाइयों के अलावा आज कैंसर जैसी बीमारियों में उपचार के अब पारंपरिक इलाज के तरीकों को भी अपनाया जा रहा है। मजेदार बात यह है कि कुछ शोधों से पता चलता है कि हल्दी वाले दूध में ईस्तेमाल होने वाली सामाग्री कैंसर को ठीक करने में कुछ लाभ दे सकते  है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

जानकारी के मुताबिक, कुछ टेस्ट ट्यूब रिसर्च में पता चला है कि 6-gingerol (अदरक में पाया जाने वाला एक तत्व) में एंटी कैंसर प्रॉपर्टी होती है। अदरक में यह रसायन काफी ज्यादा मात्रा में होता है। 

इसी प्रकार दूसरे जानवरों पर किए गए शोधों से पता चलता है कि दालचीनी में पाए जाने वाला पदार्थ कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि दर को कम करने में सहायक होता है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

हालांकि अदरक, दालचीनी, करक्यूमिन के कैंसर से लड़ने वाले लाभ सीमित है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :अकेलेपन से होने वाले फायदे और नुकसान?2021|Akelepan Se Hone Wale Fayde Aur Nuksaan?2021| TOP BEST Advantages & Disadvantages of Living Alone

8. जीवाणुरोधी, एंटीवायरल और एंटिफंगल गुणों से भरपूर – 

भारतीय लोग सर्दियों में सर्दी हो जाने पर हल्दी वाला दूध पीते है । वास्तविकता में हल्दी वाले दूध को भारत में प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने के लिए जाना जाता है। 

शोधकर्ताओं को रिसर्च से और टेस्ट-ट्यूब अध्ययनों से पता चलता है, कि करक्यूमिन में जीवाणुरोधी, एंटीवायरल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो किसी भी संक्रमण को रोकने और लड़ने में मदद कर सकते हैं । (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

परंतु अभी टेस्ट-ट्यूब के अध्ययनों के परिणाम आशाजनक हैं। वर्तमान में इस बात का कोई  पुख्ता प्रमाण नहीं है कि हल्दी वाला दूध लोगों में संक्रमण को कम कर सकता है।

इसके अलावा, ताजा अदरक में पाए जाने वाला पदार्थ  बैक्टीरिया के विकास को रोकने में सक्षम हैं।  अदरक का अर्क human respiratory syncytial virus (HRSV), जो श्वसन संक्रमण का एक सामान्य कारण है। और अदरक इस संक्रमण से लड़ने में सहायक होती है। 

लैब में किए गए एक अध्ययन में सबूत मिले है कि दालचीनी में पाए जाने वाला पदार्थ सिनामाल्डिहाइड (cinnamaldehyde ) बैक्टीरिया के विकास को रोकने में सक्षम हो सकता है।  इसके अतिरिक्त , फंगस के कारण होने वाले श्वसन पथ के संक्रमण के इलाज में भी सहायक है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :दरवाजों का इतिहास : समय के साथ एक सफर 2021

Corona (COVID-19), BLACK FUNGUS, WHITE FUNGUS और YELLOW FUNGUS जैसी महामारी से बचने के लिए हल्दी का विशेष महत्व रखता है। कुल मिलाकर बात ऐसी है कि हल्दी वाला दूध एक बेहद लोकप्रिय और गुणकारी पेय है और इसमे anti bacterial, anti viral, और anti fungal प्रॉपर्टी होती है ।हल्दी वाले दूध के ये सारे गुण  इन सभी बीमारियों को दूर करने में और बचाने के लिए महत्वपूर्ण हैं। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :दुनिया की 8 सबसे पुरानी झीलें | DUNIYA KI SABSE PURANI JHEELE

9. लीवर को डिटॉक्स करता है – 

हल्दी वाला दूध आपके लीवर के लिए फायदेमंद साबित हो सकता  है।  क्योंकि हल्दी आपके शरीर में, यह एक क्लीन्ज़र (सफाई कर्ता) के रूप में कार्य करती है और यह आपके लीवर में फैटी एसिड के संचय को रोकती है। यही कारण है कि हल्दी वाला दूध आपके लीवर की भोजन और रसायनों को संसाधित करने की क्षमता को बढ़ाता है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

jPvZP8Rq230p04O85i7D1pqPNGqslJcig1t7YinaEtr dPIwldVE3u9ERJl1YcFqqLGymk4caKQQqm 7 u0tC vUTiCRe wW E5i9bhPeprOZJcJCcRh PKjpIJ6ghUDicNYn6Zj© Depositphotos.com, © Depositphotos.com

यह हल्दी वाला दूध नियमित रूप से उन पदार्थों का आपके लीवर से साफ़ करता है जिनकी आवश्यकता आपके शरीर को नहीं होती । इस तरह से हल्दी वाला दूध आपके लिए आपके शरीर को शुद्ध करने का अच्छा उपचार साबित होगा ।

यह भी पढ़े :दुनिया की 11 सबसे शक्तिशाली प्राचीन महिला शासक

10. मोटापा घटाने में सहायक – 

VJ6TyVsx9 6ct3vve XmoCsY3BR v4nRPB4Sx4kwW8Ys9SdIBDrV8Ry1v1EmXca1sisAop 3X8dd3t1CWRfP5UfNEwQyW J8EH4Sp18np963© Depositphotos.com, © flockine / Pixabay

हल्दी न सिर्फ आपके मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने में मदद करती है और यह आपके शरीर के जमा होने वाले फैट को तेजी से पचाने में भी मदद करती है।  वजन घटाने के लिए हल्दी वाला दूध काफी फायदेमंद माना जाता है।(हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

 हाल ही में किए गए  एक अध्ययन से पता चलता है कि नियमित रूप से हल्दी दूध का सेवन करने से शरीर में वसा जमा नहीं हो पाता  – जिससे यह आपको वजन कम करने में सहायक सिद्ध होता है आहार में तेजी लाने के लिए एक प्रभावी पदार्थ बन जाता है।

यह भी पढ़े :भारत के 15 गुमनाम स्वतंत्रता सेनानी | UNKNOWN FREEDOM FIGHTERS OF INDIA

11. हड्डियों को मजबूत करने में सहायक – 

NIObRr6G5uuAKDTAhQVSF50BDgh2GbSqZ5I1CJs7fEE05GDZ KBQNcV St3IAOvGaA3WyuwdRMSI© Depositphotos.com

हल्दी आपकी हड्डियों के घनत्व को बढ़ाती है और दूध में मौजूद calcium और vitamin D आपकी हड्डियों को मजबूत और मोटा बनाती है। 

हल्दी वाला दूध calcium और vitamin D से भरपूर होता है यह दोनों पद्धार्थ आपके हड्डियों के ढांचे को मजबूती प्रदान करते हैं। इसके अलावा ऑस्टियोपीनिया और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी हड्डियों की बीमारियों का खतरा भी काफी कम हो जाता  है। (हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :दुनिया की 10 सबसे पुरानी कंपनियां | DUNIYA KI SABSE PURANI COMPANY

हल्दी वाला दूध कैसे बनाए? 

हल्दी वाला दूध बनाना सायद दुनिया की सबसे आसान रेसिपी में से एक है। एक कप हल्दी वाला दूध बनाने ले लिए आपको नीचे लिखी सामाग्री को अपने रसोई घर में खोजना पड़ेगा :

  • 1 कप सादा दूध 
  • 1 छोटी चम्मच हल्दी 
  • आधा छोटी चम्मच दालचीनी पाउडर 
  • 1 चुटकी काली मिर्च 
  •  1 चम्मच शहद या गुड़ maple सिरप (वैकल्पिक)

विधि :

दूध में हल्दी डालकर करीब 10 मिनट तक उबालें बाद में एक एक करके सारी चीजे डालकर 5 से 7 मिनिट उबालें।  याद रहे आपको शहद सबसे बाद में दूध को ग्लास में निकालने के बाद मिलाय। और तैयार है आपका गोल्डन मिल्क यानी हल्दी वाला दूध ।(हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

अगर उपलब्ध हो सके तो हल्दी की ताजी जड़ो का उपयोग करे वह ज्यादा फायदेमंद होती है और इसे हल्दी वाले दूध में इस्तेमाल करना चाहिए।  नुस्खे में बस हल्दी पाउडर को ताज़ी पिसी हुई हल्दी की जड़ों से बदलें।  गर्म गर्म परोसने से पहले दूध को छान लें।

यह भी पढ़े :भारत की 15 सबसे सुंदर महिला पत्रकार | TOP 15 HOT INDIAN JOURNALIST

निष्कर्ष :

हल्दी वाला दूध एंटीऑक्सिडेंट से भरा हुआ एक बेहद स्वादिष्ट पेय है जो आपके मस्तिष्क और हृदय को स्वस्थ रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं। सिर्फ यही नहीं हल्दी दूध से आपकी हड्डियां मजबूत होती है , आपका  पाचन बेहतर होता है और समान्य बीमारियों  जोखिमों को कम करके  स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकता है।(हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

सबसे ज्यादा और बेहतर स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए, कैल्शियम और विटामिन डी दोनों वाले दूध का उपयोग करें और अपने दूध में शहद या सिरप की मात्रा को सीमित करें।(हल्दी वाला दूध पीने के फायदे) 

यह भी पढ़े :दुनिया के 10 सबसे खतरनाक देश | DUNIYA KE SABSE KHATARNAK DESH | 2021

By Nihal chauhan

मैं Nihal Chauhan एक ऐसी सोच का संरक्षण कर रहा हू, जिसमें मेरे देश का विकास है। में इस हिंदुस्तान की संतान हू और मेरा कर्तव्य है कि में मेरे देश में रहने वाले सभी हिंदुस्तानियों को जागरूक करू और हिंदी भाषा को मजबूत करू। आपके सहयोग की मुझे और हिंदुस्तान को जरुरत है कृपया हमसे जुड़ कर हमे शेयर करके और प्रचार करके देश का और हिंदी भाषा का सहयोग करे।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x